कोरोना वायरस पर एक्सपर्ट्स की सलाह, सावधानी बरतें व अफवाहों से बचें; जानिए डॉक्टरों की राय

नईं दिल्ली। विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) द्वारा कोरोना वायरस को महामारी घोषित किए जाने के बाद दुनियाभर में इस वायरस को लेकर सरकारें पहले से ज्यादा सतर्क हो गई हैं। …
 
कोरोना वायरस पर एक्सपर्ट्स की सलाह, सावधानी बरतें व अफवाहों से बचें; जानिए डॉक्टरों की राय

नईं दिल्ली। विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) द्वारा कोरोना वायरस को महामारी घोषित किए जाने के बाद दुनियाभर में इस वायरस को लेकर सरकारें पहले से ज्यादा सतर्क हो गई हैं।

खासकर भारत में कोरोना वायरस को लेकर लोगों में डर का माहौल बना हुआ है। कोरोना वायरस को लेकर चल रही खबरों पर भारत के वरिष्ठ डॉक्टरों और एक्सपर्ट्स ने अपनी राय सामने रखी है।

सभी उम्र को संक्रमित कर सकता है कोरोना

हार्ट केयर फाउंडेशन के अध्यक्ष व वरिष्ठ हृदय विशेषज्ञ डॉ. के.के अग्रवाल मानते हैं कि कोरोना वायरस से निपटने के लिए उससे जुड़े मिथकों को दूर करना जरूरी है। उनके अनुसार, कोरोना वायरस (COVD-19) सभी उम्र के लोगों को संक्रमित कर सकता है। खासकर बुजुर्ग और अस्थमा, डॉयबटीज व हृदय रोग से जूझ रहे लोगों को ज्यादा सतर्क रहने की जरूरत है।

डॉ. अग्रवाल के मुताबिक, नए कोरोना वायरस को लेकर कुछ गलत धारणाएं भी हैं। उन्होंने कहा, केवल विश्वसनीय स्रोतों से ही इस वायरस को लेकर जानकारी हासिल करें। साथ ही सोशल मीडिया पर फैल रहे किसी भी उपचार पर भरोसा ना करें।

डॉ. अग्रवाल ने सावधानी के साथ साफ-सफाई पर ध्यान देने को कहा है। साथ ही डॉ. अग्रवाल ने चेहरे, नाक और आंख जैसे संवेदनशील अंगों को छूने के साथ जिन लोगों में संभावित लक्षण दिखें उनसे बचने की सलाह दी है।

बुजुर्गों का रखें खास ख्याल

पोर्टिया मेडिकल के चिकित्सा निदेशक डॉ. विशाल सहगल कोरोना वायरस पर कहते हैं, बुजुर्गों की रोग-प्रतिरोधक क्षमता कम होती है, ऐसे में उन्हें कोरोना से बचाने के लिए उनके स्वास्थ्य का खास ध्यान रखें। उनकी हेल्थ रिपोर्ट, फ्लू या निमोनिया के लक्षण या शरीर में कोई बदलाव दिखे तो इसे गंभीरता से लें।

डॉ. सहगल ने बताया कि हम खासतौर पर बुजुर्गों के लिए एक प्रमुख स्वास्थ्य देखभाल केंद्र के रूप में काम कर रहे हैं। यहां हमारे डॉक्टर और एक्सपर्ट्स से सलाह ली जा सकती है। उनके मुताबिक, जिन घरों में बुजुर्ग हैं, वहां साफ सफाई का खास ध्यान रखा जाना चाहिए। इसके अलावा बुजुर्गों को विशेष रूप से भीड़-भाड़ वाली जगहों पर बाहर जाने से बचना चाहिए।

नवजात बच्चों पर भी हो सकता है असर

एक्सपर्ट्स के मुताबिक, चीन से आई रिपोर्ट पर ध्यान दिया जाए तो कोरोना वायरस द्वारा नवजात बच्चों पर भी प्रतिकूल प्रभाव के संकेत मिले हैं। ऐसे में समय से पहले बच्चे का जन्म, भ्रूण संकट जैसी दिक्कते आ सकती है। एक्सपर्ट्स ने सलाह दी है कि गर्भवती महिलाओं को किसी संक्रमित व्यक्ति के संपर्क में आने से बचाना बहुत जरूरी है।

गर्भवती महिलाओं का रखें ध्यान

रेडक्लिफ लाइफ साइंसेज के संस्थापक धीरज जैन कहते हैं, गर्भवती महिलाओं को कोरोना वायरस के प्रति ज्यादा सतर्क रहना चाहिए। जैन के अनुसार, गर्भवती महिलाओं को WHO की गाइडलाइन का खास ध्यान रखना चाहिए। उन्हें लगातार अपने हाथों को साफ रखना चाहिए।

घर में ज्यादा से ज्यादा साफ सफाई रखें, एल्कोहल युक्त हैंड सैनेटाइजर का उपयोग व फ्लू या इसके जैसे दूसरे संक्रमणों से दूर रहें। जैन ने गर्भवती महिलाओं को सार्वजनिक स्थानों पर जाने से बचना की सलाह दी है। साथ ही उन्होंने कहा कि यदि गर्भवती महिला किसी बीमारी या बुखार का अनुभव करती हैं तो तुरंत डॉक्टर से सलाह लें।

दिल के मरीज भी रहें सावधान

अगस्ता की संस्थापक और सीओओ नेहा रस्तोगी कहती हैं, चूंकि नया कोरोना वायरस सांस द्वारा फैलने वाला संक्रमण है, इसलिए यह दिल के बीमारी से जूझ रहे लोगों को ज्यादा जोखिम में डालता है।

उनके मुताबिक, किसी भी असामान्य संकेत या लक्षण दिखें तो उसे नजरअंदाज ना करें। दिल के मरीजों को साफ सफाई का खास ध्यान रखने के साथ दूषित पदार्थों को छूने से बचने की सलाह दी है।

अपनाएं ये टिप्स

  1. अपने हाथों को अक्सर साबुन और पानी से कम से कम 20 सेकंड तक धोएं।
  2. यदि साबुन और पानी उपलब्ध नहीं है, तो अल्कोहल-बेस्उ हैंड सैनिटाइज़र का इस्तेमाल करें।
  3. हाथों से अपनी आँखें, नाक और मुँह छूने से बचें।
  4. जो लोग बीमार हैं उनके पास जाने से बचें।
  5. बीमार होने पर घर पर ही रहें।
  6. अपनी खांसी या छींक को किसी टिशू से ढकें, फिर टिशू को कूड़े में फेंक दें।
  7. जिन वस्तुओं और सतहों को छुआ है उन्हें लगातार साफ करते रहें।

FROM AROUND THE WEB