इंटरनेशनल ड्राइविंग लाइसेंस बनवानें से विदेश यात्रा होती है आसान, जानें क्या हैं इसके फायदे

भारत में वैध भारतीय ड्राइविंग लाइसेंस की आवश्यकता होती है, वैसे ही आपको एक विदेशी देश में कानूनी रूप से वाहन चलाने के लिए अंतर्राष्ट्रीय ड्राइविंग लाइसेंस की आवश्यकता होती है।
 
इंटरनेशनल ड्राइविंग लाइसेंस बनवानें से विदेश यात्रा होती है आसान, जानें क्या हैं इसके फायदे

New Delhi: International Driving License: जब आप किसी अन्य देश में सफर करते हैं, तो वहां घूमने के लिए सार्वजनिक परिवहन का सहारा लेना पड़ता है। जिसमें ना सिर्फ किराया ज्यादा होता है, बल्कि आपको काफी परेशानी भी होती है। 

अगर आप इस परेशानी से बचना चाहते हैं, तो भारत से ही अंतरराष्ट्रीय ड्राइविंग लाइसेंस (International Driving License) लेकर अपनी यात्रा को आसान बना सकते हैं। यानी जैसे आपको भारत में वैध भारतीय ड्राइविंग लाइसेंस की आवश्यकता होती है, वैसे ही आपको एक विदेशी देश में कानूनी रूप से वाहन चलाने के लिए अंतर्राष्ट्रीय ड्राइविंग लाइसेंस की आवश्यकता होती है।

क्या है अंतरराष्ट्रीय ड्राइविंग लाइसेंस?

भारत के बाहर कार या दोपहिया वाहन चलाने के लिए सड़क परिवहन प्राधिकरण द्वारा जारी आधिकारिक कानूनी दस्तावेज को अंतर्राष्ट्रीय ड्राइविंग लाइसेंस (International Driving License) कहा जाता है। यदि आपके पास पहले से ही वैध ड्राइविंग लाइसेंस है, तो अंतराष्ट्रिय ड्राइविंग लाइसेंस प्राप्त करने के लिए महज 4 से 5 दिनों का समय लगता है। जिसमें इस बात की पुष्टि की जाती है कि आप एक वैध ड्राइविंग लाइसेंस रखते हैं, अंतराष्ट्रिय ड्राइविंग लाइसेंस को उस तरीके से तैयार किया जाता है, जिससे विदेशों में अधिकारियों द्वारा समझा जा सके।

अंतर्राष्ट्रीय ड्राइविंग लाइसेंस होना क्यों महत्वपूर्ण है?

सीधे शब्दों में कहें तो इससे आप कानूनी रूप से विदेशी सड़कों पर ड्राइविंग कर सकते हैं। क्योंकि एक नए शहर में कार किराए पर लेना न केवल आवागमन का एक बढ़िया साधन है, बल्कि एक नए अनुभव के साथ इससे आप कई नई जगह पर भी सफर कर सकते हैं।

अंतरराष्ट्रीय ड्राइविंग लाइसेंस के फायदे

इसके जरिए आप कार किराए पर लेकर विदेशी सड़कों पर ड्राइव कर सकते हैं। इतना ही नहीं विदेश यात्रा के दौरान इसे एक पहचान प्रमाण के रूप में भी उपयोग किया जा सकता है। अगर आपके पास पहले से ही अंतरराष्ट्रीय ड्राइविंग लाइसेंस है तो आपको विदेश में कोई भी अलग ड्राइविंग टेस्ट देने के लिए नहीं कहा जाएगा। वहीं अगर अन्य देश में दुर्घटना हो जाती है, तो आपको अपने बीमाकर्ता से मिलने वाले लाभ के लिए आईडीएल (IDL) की आवश्यकता होगी।

FROM AROUND THE WEB