900 करोड़ की लागत से पूरा हो रहा PM मोदी का सपना, मुस्लिम देश में बन रहा पहला हिंदू मंदिर

 
900 करोड़ की लागत से पूरा हो रहा PM मोदी का सपना, मुस्लिम देश में बन रहा पहला हिंदू मंदिर

NewzBox Desk: संयुक्त अरब अमीरात (Hindu temple in UAE) के पहले पारम्परिक हिंदू मंदिर की बुनियाद का काम (फाउंडेशन वर्क) पूरा हो चुका है। 

बोचासनवासी अक्षर पुरुषोत्तम स्वामीनारायण संस्था (BAPS) की ओर से अबू धाबी में 45 करोड़ दिरहम (करीब 888 करोड़ रुपये) की लागत से इस मंदिर (Hindu temple in UAE) का निर्माण किया जा रहा है। अबू धाबी के अबू मुरेईखाह पर 27 एकड़ में इस मंदिर का क्षेत्र फैला है।

तेजी से चल रहा काम

प्रोजेक्ट इंजीनियर के मुताबिक बुनियाद के निर्माण (Hindu temple in UAE) का काम फाइनल स्टेज में है जो ग्राउंड लेवल से 4.5 मीटर ऊपर है। इस फाउंडेशन में दो सुरंग हैं। इन सुरंगों के लिए पत्थर भारत से आए हैं। फाउंडेशन का काम खत्म होने के बाद मई के महीने से तराशे हुए पत्थर असेम्बल करने का काम शुरू हो गया है।

हाथ से की नक्काशी

मंदिर के लिए अधिकतर पत्थर तराशने का काम भारत में राजस्थान और गुजरात के संगतराशों ने किया है। हाथों से तराशे गए इन पत्थरों में भारत की समृद्ध संस्कृति और इतिहास की झलक दिखने के साथ अरब प्रतीक भी होंगे। इसमें रामायण, महाभारत समेत हिन्दू पुराणों के प्रसंगों से जुड़े चित्र होंगे। मंदिर का निर्माण प्राचीन हिंदू शिल्प शास्त्र के मुताबिक किया जा रहा है। गल्फ न्यूज को प्रशासन ने बताया कि दो टनल लोगों को लिफ्ट तक ले जाने और पुजारियों को मंदिर तक ले जाने के लिए बनाए गए हैं। पारंपरिक पत्थर के मंदिर की फाइनल डिजाइन और हाथ से नक्काशी किए गए पत्थर के स्तंभ की तस्वीरें नवंबर में जारी की गई थीं।

900 करोड़ की लागत से पूरा हो रहा PM मोदी का सपना, मुस्लिम देश में बन रहा पहला हिंदू मंदिर

ऐसा होगा मंदिर

मंदिर में 7 शिखर होंगे। ये यूएई के 7 अमीरात का भी प्रतीक होंगे। मंदिर के लिए गुलाबी पत्थर राजस्थान से और मार्बल इटली से मंगाया गया है। मंदिर के 2023 में पूरी तरह बन कर तैयार हो जाने की उम्मीद है। BAPS  हिन्दू मंदिर के धार्मिक नेता ब्रह्मविहारी स्वामी कई स्थानीय अधिकारियों के साथ मंदिर निर्माण के लिए समन्वय कर रहे हैं।  मंदिर में विजिटर्स सेंटर, पूजा हाल, लाइब्रेरी, क्लासरूम, कम्युनिटी सेंटर, एम्फीथिएटर, प्ले एरिया, बागीचे, पानी के झरने, फूड कोर्ट, बुक्स और गिफ्ट्स शॉप समेत तमाम सुविधाएं होंगी।  

जनवरी में संत समागम की ओर से एक वीडियो जारी किया गया था जिसमें दिखाया गया था कि किस तरह अबू धाबी के हिन्दू मंदिर के लिए भारत में पत्थरों, खम्भों को तराशने का काम किया जा रहा है। मंदिर के 2023 में पूरी तरह बन कर तैयार हो जाने की उम्मीद है। BAPS  हिन्दू मंदिर के धार्मिक नेता ब्रह्मविहारी स्वामी कई स्थानीय अधिकारियों के साथ मंदिर निर्माण के लिए समन्वय कर रहे हैं।

हिंदू महाग्रंथों की कहानियां

भारत में राजस्थान और गुजरात के कलाकारों ने इन्हें बनाया है। मंदिर में राजस्थान के गुलाबी पत्थर और इटली के मैसेडोनिया के मार्बल का इस्तेमाल किया गया है। इस मंदिर पर हिंदू महाग्रंथों की तस्वीरें और कहानियां होंगी और अरब देशों की कलाकारी भी। इसमें एक पुस्तकालय, एक कक्षा, एक मजलिस और एक सामुदायिक केंद्र भी होगा। झरने और जलाशय इसकी सुंदरता बढ़ाएंगे।

FROM AROUND THE WEB