आपके घर में भी स्थापित है शिवलिंग, तो भूलकर भी ना करें 3 बातों गलती.. वरना हो जाओगे बर्बाद

जानबूझ कर की गई गलती हो या भूल से टूटे नियम हो भगवान शिव (Lord Shiva) कभी माफ नहीं करते। तो आज हम आपको बताएंगे कि घर में अगर शिवलिंग (Shivaling) रखा हो तो क्या करना चाहिए और क्या नहीं…

 
आपके घर में भी स्थापित है शिवलिंग, तो भूलकर भी ना करें 3 बातों गलती.. वरना हो जाओगे बर्बाद
New Delhi: हिंदू धर्म में वर्णित वेद पुराण कहते हैं कि भगवान शिव (Lord Shiva) जितनी जल्दी खुश होते हैं उतनी ही जल्दी भगवान नियम तोड़ने पर नाराज होते हैं। नियम तोड़ने के बाद हम पर महीने भर या साल भर में कोई ना कोई आफत आ जाती है।

जानबूझ कर की गई गलती हो या भूल से टूटे नियम हो भगवान शिव (Lord Shiva) कभी माफ नहीं करते। तो आज हम आपको बताएंगे कि घर में अगर शिवलिंग (Shivaling) रखा हो तो क्या करना चाहिए और क्या नहीं…

  • सबसे पहले तो ये जान लो कि अगर घर में शिवलिंग रखा तो जिस कमरे में शिवलिंग रखा है वहां संभोग नहीं करना चाहिए। ऐसा करने से भोलेनाथ नाराज हो जाएंगे।
  • दूसरा काम जिस घर में शिवलिंग रखा है वहां कोई चोरी का सामना नहीं रखना चाहिए, वरना आप पर भोले बाबा नाराज हो जाएंगे और आप कंगालपति होकर चोरी चकारी करते ही घूमोगे।
  • तीसरा काम ये है कि जिस घर में शिवलिंग हो उस घर में मांस या मदिरा का सेवन नहीं करना चाहिए। मांस मदिरा भोले बाबा के चेलों को पसंद थी वो चेले जो भूत जैसे कहे जाते हैं बाकि महादेव को ये मांस मदिरा बिल्कुल पसंद नहीं है।

हिंदू धर्म में मूर्ति पूजा का प्रावधान होने के कारण हर घर में पूजा पाठ का एक स्थान होता है हालांकि शिवलिंग (Shivaling) की पूजा भी हिंदू धर्म में की जाती है। घर में देवी देवताओं की तस्वीरे होती है। लेकिन यह बताया जाता है कि घर में शिवलिंग कभी नहीं होना चाहिए। जानिये क्यों…

हर घर में साधारण पूजा कक्ष होता है। लेकिन घर में मूर्तियों की लंबाई 4 इंच से अधिक नहीं होनी चाहिए। इससे लंबी मूर्तियों के लिये विधिवत प्राण प्रतिष्ठा का विधान है जो मंदिरों में ही संभव है। चूंकि भगवान शिव के शरीर में पार गर्म ऊर्जा का भंडार है इसलिये उनका निवास स्थान हिमालय है। जो सबसे अधिक ठण्डा है।

शिवलिंग (Shivaling) भगवान शंकर का एक अभिन्न अंग है, जो अति गर्म है, जिस कारण शिवलिंग पर जल चढ़ाने की प्रथा प्रचलित है। मन्दिरों में शिवलिंग के उपर एक घड़ा रखा होता है जिसमें से पानी की एक-2 बूंद शिवलिंग पर गिरा करती है जिससे शिवलिंग की गर्मी धीरे-धीरे शान्त होकर उसमें से सकारात्मतक उर्जा प्रवाहित होने लगती है। जो भक्तगणों के कष्टों को दूर करती है।

घर में शिवलिंग रखने से इस प्रकार की व्यवस्था न हो पाने के कारण उसमें से निकलने वाली गर्म उर्जा परिवार के लोगों को नुकसान पहुंचाती है। जैसे- सिर दर्द, स्त्री रोग, जोडो में दर्द, मन अशान्त, घरेलू झगड़े, आर्थिक अस्थिरिता आदि प्रकार की समस्यायें घर में बनी रहती है।

FROM AROUND THE WEB