शुक्रवार के दिन नहीं करने चाहिए ये 4 काम, देवी लक्ष्मी के प्रकोप से हो जाओगे कंगाल

आज हम आपको कुछ ऐसे काम बताने जा रहे हैं जिन्हें शुक्रवार के दिन करने से लक्ष्मीजी नाराज होकर घर से चली जाती हैं। जिसकी वजह से धन की हानि हो सकती हैं।

 
शुक्रवार के दिन नहीं करने चाहिए ये 4 काम, देवी लक्ष्मी के प्रकोप से हो जाओगे कंगाल
New Delhi: हिंदू धर्म (Hinduism) में शुक्रवार का दिन देवी लक्ष्मीजी (Goddess Lakshmi) को समर्पित है और देवी लक्ष्मी को धन, वैभव और सौभाग्य की देवी माना जाता है। इसलिए शुक्रवार के दिन लक्ष्मीजी के विशेष पूजन का प्रावधान है।

पौराणिक मान्यताओं के अनुसार, जिस घर में लक्ष्मी (Goddess Lakshmi) का वास होता हैं वहां कभी धन की कमी नहीं होती हैं। यही वजह है कि हर कोई लक्ष्मीजी को प्रसन्न करने में लगा रहता है। इस दिन कुछ नियमों का परहेज भी बताया गया है। ऐसे में शुक्रवार के दिन ऐसा कोई काम नहीं करना चाहिए जिसकी वजह से लक्ष्मी आपके घर से चली जाए।

आज हम आपको कुछ ऐसे काम बताने जा रहे हैं जिन्हें शुक्रवार के दिन करने से लक्ष्मीजी नाराज होकर घर से चली जाती हैं। जिसकी वजह से धन की हानि हो सकती हैं।

सुबह जल्दी उठना और शाम में न सोना

सुबह और शाम का समय पूजा-पाठ का होता है। इस समय घर में सकारात्मक ऊर्जा का बना होना बहुत जरूरी है। ऐसे में जब घर का कोई व्यक्ति सुबह देर तक सोता है या शाम के समय सोता तो घर में नकारात्मक ऊर्जा फैलने लगती हैं। जिसकी वजह से घर के दूसरे सदस्यों में भी आलस फैलता है। इस आलस भरे नकारात्मक माहौल में लक्ष्मीजी रहना पसंद नहीं करती और घर से जाना ही बेहतर समझती हैं। फिर चाहे उनकी कितनी भी पूजा की जाए वो प्रसन्न नहीं होती हैं।

घर में गंदगी रखना

वैसे साफ-सफाई एक दैनिक क्रिया है, लेकिन शुक्रवार के दिन घर को जितना हो सके स्वच्छ रखिए। ये सेहत के लिए तो अच्छा है ही साथ ही साफ़-सुथरे घर में लक्ष्मीजी जल्दी प्रवेश करती हैं। जिस घर में धुल मिट्टी जमी रहती हैं, दीवारों पर मकड़ी और बाकी चीजे भी व्यवस्थित नहीं रहती हैं वहां लक्ष्मी आने से कतराती हैं।

स्त्री का अपमान

सनातन धर्म में घर की बहू-बेटी को लक्ष्मी का ही रूप माना जाता है। ऐसे में इनका मान-सम्मान करना चाहिए और किसी भी हाल में इनकी बेज्जती या अपमान नहीं करना चाहिए। जिस घर में महिलाओं का सम्मान नहीं होता या उनके साथ घरेलु हिंसा होती हैं वहां लक्ष्मीजी कभी वास नहीं करती। सिर्फ शुक्रवार ही नहीं बल्कि सप्ताह के हर दिन घर की महिलाओं का सम्मान करना चाहिए।

जीव की ह’त्या

शुक्रवार के दिन किसी भी जानवर को नुकसान नहीं पहुँचाना चाहिए। इसका सीधा मतलब यह है कि इस दिन मास-मछ्ली का सेवन नहीं भी ना करना चाहिए। इसके अलावा मदिरा से भी दूरी ब्ननी चाहिए।

FROM AROUND THE WEB