एम्स निदेशक का दावा, कोरोना की तीसरी लहर से बच्चों को नहीं है कोई खतरा

देशभर में कोरोना वायरस की तीसरी लहर (Covid Third Wave) की आशंका के बीच सरकार ने तमाम तैयारियां तेज कर दी हैं। वहीं कोरोना की तीसरी लहर की चपेट में बच्चों के आने की अटकलों को एम्स के निदेशक रणदीप गुलेरिया ने विराम लगा दिया है।
 
एम्स निदेशक का दावा, कोरोना की तीसरी लहर से बच्चों को नहीं है कोई खतरा

नई दिल्ली। देशभर में कोरोना वायरस की तीसरी लहर (Covid Third Wave) की आशंका के बीच सरकार ने तमाम तैयारियां तेज कर दी हैं। वहीं कोरोना की तीसरी लहर की चपेट में बच्चों के आने की अटकलों को एम्स के निदेशक रणदीप गुलेरिया ने विराम लगा दिया है। एम्स के निदेशक के इस बयान को बेहद महत्वपूर्ण माना जा रहा है। 

दरअसल, डॉक्टर गुलेरिया ने कहा कि कोरोना की तीसरी लहर (Covid Third Wave) से बच्चों को खतरा जैसी स्टडी सामने नहीं आई है। उन्होंने दावा किया कि न तो ग्लोबल स्टडी या भारतीय वैज्ञानिकों ने ऐसी बात कही है। हालांकि उन्होंने स्वीकार किया कोरोना की दूसरी लहर की चपेट में बच्चें भी आए। लेकिन यह बच्चें अन्य बीमारियों के चलते संक्रमित जल्दी हो गए।

बता दें कि कोरोना वायरस की दूसरी लहर (Covid Third Wave) को लेकर हेल्थ मिनिस्ट्री ने एक बयान जारी किया है। जिसमें मंत्रालय के जॉइंट सेक्रेटरी लव अग्रवाल ने कहा कि देश में रिकवरी रेट तेजी से 94.3 फीसदी पहुंच गया है। वहीं नए केसों में 33 फीसदी की गिरावट दर्ज की गई है। जबकि एक्टिव केसों में भी 65 फीसदी कमी आई है। जो सुखद संकेत है। उन्होंने दावा किया कि देश के 15 राज्यों में पॉजिटिविटी रेट 5 फीसदी से भी कम आ गया है।

FROM AROUND THE WEB