मुश्किल वक्त में साथ आया अमेरिका, भारत को भेजेगा टीके; वैक्सीन बनाने के कच्चा माल से रोक हटी

कोरोना वैक्सीन की मैन्युफैक्चरिंग (Covid Vaccine Manufacturing) के लिए जरूरी कच्चे माल के निर्यात से अमेरिका ने आखिरकार रोक हटा ली है। इसके अलावा अपने पड़ोसी और साझीदार देशों की उस लिस्ट में भारत को भी अहम स्थान दिया है, जिन्हें वह कोरोना वैक्सीन की सप्लाई करने वाला है।
 
मुश्किल वक्त में साथ आया अमेरिका, भारत को भेजेगा टीके; वैक्सीन बनाने के कच्चा माल से रोक हटी

नई दिल्ली। कोरोना वैक्सीन की मैन्युफैक्चरिंग (Covid Vaccine Manufacturing) के लिए जरूरी कच्चे माल के निर्यात से अमेरिका ने आखिरकार रोक हटा ली है। इसके अलावा अपने पड़ोसी और साझीदार देशों की उस लिस्ट में भारत को भी अहम स्थान दिया है, जिन्हें वह कोरोना वैक्सीन की सप्लाई करने वाला है। अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडेन ने ग्लोबल एलोकेशन प्लान लॉन्च किया है। 

बता दें कि इस अभियान के तहत अमेरिका की ओर से दुनिया कई देशों को कोरोना टीकों की 25 मिलियन डोज की सप्लाई की जानी है। इसका बड़ा हिस्सा भारत को भी मिलने वाला है। 

अमेरिका में भारत के राजदूत तरनजीत सिंह संधू ने मीडिया से बात करते हुए बताया कि अमेरिका ने इससे पहले डिफेंस प्रोडक्शन एक्ट लागू कर दिया था, जिसके चलते किसी भी अहम चीज की सप्लाई (Covid Vaccine Manufacturing) में अमेरिका को प्राथमिकता देना जरूरी था। बता दें कि भारत ने अमेरिका से इस रोक को हटाने की अपील भी की थी। इसके बाद अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडेन ने कहा था कि भारत हमारे साथ मुश्किल वक्त में खड़ा था, जो हमें याद है और हम भी उसके साथ खड़े रहेंगे। यह रोक हटाए जाने के बाद वैक्सीन निर्माताओं के लिए कच्चे माल की उपलब्धता आसान हो जाएगी। अमेरिका के इस कदम के बाद वैक्सीन सप्लाई सुगम हो जाएगी। 

तरनजीत संधू ने बताया है कि अमेरिका के वैश्विक आवंटन प्लान से भारत को फायदा होगा। अमेरिका के इस प्लान के तहत भारत को बड़ी संख्या में वैक्सीन (Covid Vaccine Manufacturing) मिल सकती है। अमेरिका भारत सहित महामारी से प्रभावित सबसे कमजोर देशों की जरूरतों को पूरा करने के लिए वैश्विक स्तर पर 2.5 करोड़ वैक्सीन डोज की पहली किस्त बांटने के लिए तैयार है।

समाचार एजेंसी एएनआई के दिए एक इंटरव्यू में संधू ने कहा, राष्ट्रपति बाइडेन ने आज 2.5 करोड़ टीकों के वैश्विक आवंटन योजना की घोषणा की है। अमेरिका द्वारा पहले घोषणा किए गए 8 करोड़ टीकों (Covid Vaccine Manufacturing) में से दी जा रही यह पहली किश्त है। टीकों का बंटवारा दो श्रेणियों में किया जाएगा- पहला- कोवैक्स पहल के जरिए और दूसरा- सीधे पड़ोसी और सहयोगी देशों को।

FROM AROUND THE WEB