बंगाल बीजेपी अध्यक्ष दिलीप घोष का ऐलान, नहीं लडूंगा पश्चिम बंगाल विधानसभा चुनाव

पश्चिम बंगाल विधानसभा चुनाव (Bengal Assembly elections 2021) से पहले बीजेपी बंगाल प्रमुख दिलीप घोष (Bengal BJP Chief Dilip Ghosh) ने चुनाव नहीं लड़ने का ऐलान किया है।
 

कोलकाता। पश्चिम बंगाल विधानसभा चुनाव (Bengal Assembly elections 2021) से पहले बीजेपी बंगाल प्रमुख दिलीप घोष (Bengal BJP Chief Dilip Ghosh) ने चुनाव नहीं लड़ने का ऐलान किया है। कोलकाता के न्यू टाउन में एक कार्यक्रम के दौरान उन्होंने ये ऐलान किया। दिलीप घोष (Bengal BJP Chief Dilip Ghosh) ने कहा कि चुनाव लड़ने वाले उम्मीदवारों की सूची में मेरा नाम नहीं होगा। राज्य प्रमुख होने के नाते पार्टी ने फैसला किया है कि राज्य में चुनाव अभियान मेरी निगरानी में किए जाएंगे।

भाजपा की केंद्रीय चुनाव समिति ने बुधवार को पश्चिम बंगाल विधानसभा चुनाव (Bengal Assembly elections 2021) के अंतिम चार चरणों में मतदान के लिए जाने वाले निर्वाचन क्षेत्रों के अधिकांश उम्मीदवारों को अंतिम रूप दिया।

जल्द होगी उम्मीदवारों के नामों की घोषणा

दूसरी तरफ प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, भाजपा प्रमुख जेपी नड्डा, केंद्रीय मंत्री अमित शाह, राजनाथ सिंह, और नितिन गडकरी और अन्य सीईसी सदस्यों ने दिल्ली में पार्टी के राष्ट्रीय मुख्यालय में बैठक की। केंद्रीय मंत्री और टॉलीगंज विधानसभा सीट से उम्मीदवार बाबुल सुप्रियो ने बताया कि अधिकांश सीटों के लिए नामों को अंतिम रूप दिया गया और जल्द ही घोषणा की जाएगी।

पार्टी ने पश्चिम बंगाल विधानसभा चुनाव (Bengal Assembly elections 2021) के पहले चार चरणों के लिए अब तक 112 उम्मीदवारों के नाम जारी किए हैं। बाबुल सुप्रियो, लॉकेट चटर्जी, स्वपन दासगुप्ता और निसिथ प्रमाणिक सहित चार सांसद चुनाव लड़ेंगे। वहीं अर्थशास्त्री अशोक लाहिड़ी, अभिनेता यश दास गुप्ता, तनुश्री चक्रवर्ती, पायल सरकार, अंजना बसु और हीरा चटर्जी को भी भाजपा ने टिकट दिया है।

बता दें कि 27 मार्च से शुरू होने वाले पश्चिम बंगाल विधानसभा चुनाव (Bengal Assembly elections 2021) के लिए आठ चरणों में मतदान होगा। मतदान का अंतिम दौर 29 अप्रैल को होगा और मतों की गिनती 2 मई को होगी। इधर बीजेपी पहले ही 200 से अधिक सीटें जीतकर राज्य में तृणमूल कांग्रेस (टीएमसी) से सत्ता हासिल करने का दावा कर रही है। दूसरी ओर टीएमसी ने भविष्यवाणी की है कि भाजपा 294 सदस्यीय पश्चिम बंगाल विधानसभा में 99 से ज्यादा सीट नहीं जीत पाएगी।

FROM AROUND THE WEB