बड़ी खबर! लद्दाख में घुसे चीनी सैनिक, दलाई लामा के जन्‍मदिन समारोह के विरोध में दिखाए झंडे-बैनर

 
बड़ी खबर! लद्दाख में घुसे चीनी सैनिक, दलाई लामा के जन्‍मदिन समारोह के विरोध में दिखाए झंडे-बैनर

NewzBox Desk: भारत में बौद्ध‍ गुरु दलाई लामा (Dalai Lama) का जन्‍मदिन मनाया जाना चीन को काफी अखरा। चीन के सैनिकों (Chinese Army) ने कुछ नागरिकों के साथ देमचुक क्षेत्र में वास्तविक नियंत्रण रेखा (LAC) के पास सिंधु नदी (Sindhu River) के पार से झंडे और बैनर दिखाए। दरअसल, पूर्वी लद्दाख (Eastern Ladakh) के देमचुक में कुछ ग्रामीण भारतीय दलाई लामा का जन्मदिन मना रहे थे। घटना 6 जुलाई की है।

स्‍थानीय लोगों ने बताया कि कच्‍ची सड़क पर चीनी सैनिक (Chinese Army) और वहां के कुछ नागरिक पांच वाहनों में आए। जहां दलाई लामा (Dalai Lama) का बर्थडे सेलिब्रेट किया जा रहा था, वहां से करीब 200 मीटर की दूरी से उन्‍होंने बैनर दिखाए। घटना डोला तामगो में कोयुल गांव की है। यहां सुबह करीब 11 बजे बौद्ध गुरु का जन्‍मदिन मनाया जा रहा था।

लोगों ने बताया कि उनकी यह हिमाकत समझ के परे थी। कारण है कि जिस जगह से खड़े होकर उन्‍होंने बैनर दिखाए वह भारत में आती है। तकरीबन आधा घंटे हमारी भूमि पर खड़े होकर उन्‍होंने हमें आंखें दिखाईं। इन लोगों ने हाथ में चीन का झंडा उठाया हुआ था। इनके हाथ में लंबा सा बैनर था जिस पर लाल शब्‍दों से लिखा गया था।

प्रशानमंत्री ने किया था दलाई लामा को विश

दलाई लामा (Dalai Lama) के 86वें जन्‍मदिन पर पिछले मंगलवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने उन्‍हें फोन पर बधाई दी थी। 2014 में प्रधानमंत्री बनने के बाद पहली बार मोदी ने सार्वजनिक तौर पर दलाई लामा से बात करने की पुष्टि की थी। इसके जरिये मोदी ने चीन को संदेश दिया था कि अगर वह संवेदनशील मुद्दों पर भारत को ठेस पहुंचा सकता है तो भारत भी ठीक वैसा ही कर सकता है।

पीएम मोदी ने पिछले शनिवार को भी दिया झटका

इसी कड़ी में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शनिवार को चीन को फिर झटका दिया था। उन्‍होंने वियतनाम के पूर्व सुरक्षा अधिकारी और वहां की कम्युनिस्ट पार्टी के नेता फाम मिन्ह चीन्ह को प्रधानमंत्री बनने पर बधाई दी थी। साथ ही वियतनाम कम्युनिस्ट पार्टी की सालगिरह की भी शुभकामनाएं दी थी। उन्‍होंने फाम को भारत आने का न्‍यौता भी दिया। वहीं, इसके करीब एक हफ्ते पहले सीपीसी (कम्‍युनिस्‍ट पार्टी ऑफ चाइना) की स्‍थापना के शताब्‍दी समारोह पर उन्‍होंने न तो कोई ट्वीट किया था। न कोई संदेश दिया था।

भारत-चीन संबंधों में खटास

भारत और चीन के संबंधों में पिछले कुछ समय से खटास बनी हुई है। चीन ने पिछले साल लद्दाख सीमा में घुसपैठ की कोशिश की थी। इस दौरान भारत और चीन के सैनिकों में तीखी झड़प हुई थी। इसमें भारत के कई सैनिक शहीद हुए थे। तभी से दोनों देशों में लगातार तकरार रही है।

FROM AROUND THE WEB