ओडिशा विधानसभा में बीजेपी विधायक ने सैनिटाइजर पीकर आत्महत्या की कोशिश की, मचा हड़कंप

ओडिशा विधानसभा (Odisha Assembly) में उस वक्त हंगामा मच गया जब बीजेपी विधायक सुभाष चंद्र पाणिग्रही (Subhash Chandra Panigrahi) ने सदन में सैनिटाइजर पीने की कोशिश की।
 
ओडिशा विधानसभा में बीजेपी विधायक ने सैनिटाइजर पीकर आत्महत्या की कोशिश की, मचा हड़कंप

भुवनेश्वर। ओडिशा विधानसभा (Odisha Assembly) में उस वक्त हंगामा मच गया जब बीजेपी के एक विधायक ने सदन के अंदर जहर खाकर आत्महत्या की कोशिश की। दरअसल, धान खरीद के मुद्दे को लेकर बीजेपी विधायक सुभाष चंद्र पाणिग्रही (Subhash Chandra Panigrahi) ने सदन में सैनिटाइजर पीने की कोशिश की। घटना के वक्त राज्य के खाद्य आपूर्ति मंत्री आर.पी. स्वैन सदन में धान खरीद पर बयान दे रहे थे।

बीजेपी विधायक के सैनिटाइजर पीने को कोशिश की, लेकिन दूसरे सदस्यों ने समय पर उन्हें रोक लिया। उनकी डॉक्टरी जांच भी की गई। फिलहाल, वह पूरी तरह सुरक्षित बताए जा रहे हैं।

क्या है पूरा मामला

ओडिशा विधानसभा (Odisha Assembly) में शुक्रवार को धान खरीद के मुद्दे पर चर्चा चल रही थी। इस दौरान सदन में विपक्ष जमकर हंगामा कर रहा था। राज्य के खाद्य आपूर्ति मंत्री जब धान खरीद पर बयान दे रहे थे। विपक्ष के हंगामें के कारण दो बार स्थगित होने के बाद जब शाम चार बजे सदन फिर से शुरू हुआ तो मंत्री ने बयान पढ़ना शुरू किया। इसी दौरान विधायक सुभाष चंद्र पाणिग्रही  (Subhash Chandra Panigrahi) अपनी सीट से खड़े हुए और सैनिटाइजर की बोतल अपनी जेब से निकाली और पीने की कोशिश की।

सैनिटाइजर पीने की कोशिश

उनके पास बैठी भाजपा विधायक कुसुम टेटे ने पहले देवगढ़ के विधायक को ऐसा करने से रोका और इसके बाद संसदीय कार्यमंत्री बीके अरुख और प्रमिला मलिक ने भी समझाने की कोशिश की। उनसे सैनिटाइजर की बोतल छीन ली। 

सुभाष चंद्र पाणिग्रही  (Subhash Chandra Panigrahi) ने कहा कि मैंने पहले ही इस मुद्दे पर आत्मदाह करने की धमकी दी थी। इसके बावजूद सरकार ने किसानों की समस्या पर ध्यान नहीं दिया, जो मंडियो में धान बेचने के लिए मुश्किलों का सामना कर रहे हैं। मेरे विधानसभा (Odisha Assembly) क्षेत्र में मुझसे पहले लोग आत्महत्या करने की धमकी दे रहे हैं, इसलिए मैंने सदन में सैनिटाइजर पीकर ऐसा करने का फैसला किया। 

मेरे पास और कोई चारा नहीं

भाजपा विधायक सुभाष चंद्र पाणिग्रही  (Subhash Chandra Panigrahi) ने कहा कि यहां तक सरकार भी किसानों के हित में काम करने के बड़े-बड़े दावे कर रही है लेकिन जमीनी सच्चाई अलग है। पाणिग्रही ने कहा कि मेरे पास ये सख्त कदम उठाने के अलावा अब कोई चारा नहीं बचा है।

इससे पहले ओडिशा विधानसभा (Odisha Assembly) के बजट सत्र का दूसरा चरण शुक्रवार को धान खरीद के मुद्दे पर हंगामे के साथ शुरू हुआ। विपक्षी भाजपा एवं कांग्रेस के सदस्यों ने धान खरीद में राज्य सरकार द्वारा कुप्रबंधन करने का आरोप लगाते हुए नारेबाजी की और हंगामा किया। 

FROM AROUND THE WEB