मुस्लिमों के साथ अन्याय और शरीयत से छेड़छाड़ के कारण आया कोरोना और चक्रवात: सपा सांसद

समाजवादी पार्टी के मुरादाबाद से सांसद एसटी हसन (SP MP ST Hassan) ने कोरोना महामारी को लेकर बेतुका बयान दिया है, जिसपर बवाल शुरु हो गया है।
 
मुस्लिमों के साथ अन्याय और शरीयत से छेड़छाड़ के कारण आया कोरोना और चक्रवात: सपा सांसद

नई दिल्ली। समाजवादी पार्टी के मुरादाबाद से सांसद एसटी हसन (SP MP ST Hassan) ने कोरोना महामारी को लेकर बेतुका बयान दिया है, जिसपर बवाल शुरु हो गया है। दरअसल, सपा सांसद का कहना है कि भारत में हाल के चक्रवातों और कोरोना महामारी के कारण हुई तबाही देश में मुसलमानों के साथ हो रहे अन्याय और शरीयत कानून में NDA सरकार द्वारा हस्तक्षेप के खिलाफ आसमानी आफत (ईश्वरीय हस्तक्षेप) का परिणाम है।

हसन (SP MP ST Hassan) ने कहा, मुसलमानों के साथ इस तरह के अन्याय के कारण देश में तबाही हुई है, जो चक्रवात के रूप में आसमान से उतरी है और गरीब लोग महामारी में मारे गए हैं।

योगी आदित्यनाथ के नेतृत्व वाली बीजेपी सरकार पर हमला करते हुए सपा सांसद एसटी हसन (SP MP ST Hassan) ने कहा कि वह लोगों को कोरोना से मरने वालों का अंतिम संस्कार करने का अवसर प्रदान करने में विफल रही। अलौकिक सत्ता दुनिया को नियंत्रित करती है और न्याय करती है। उन्होंने कहा कि जनता के साथ किया गया अन्याय और भेदभाव किसी से छिपा नहीं है, चाहे वह नौकरी देने में या लाइसेंस देने में भेदभाव हो या शरीयत में दखलंदाजी हो।

समाचार एजेंसी आईएएनएस से बातचीत के दौरान सपा सांसद एसटी हसन (SP MP ST Hassan) ने कहा कि क्या कभी किसी ने इंसानों के शवों को छोड़े जाते और कुत्तों को उन्हें खाते हुए देखा है? दुनिया में और कहां शवों को दाह संस्कार के बजाय नदियों में फेंक दिया जाता है? श्मशान घाट अंतिम संस्कार की चिता के लिए लकड़ी की कमी का सामना कर रहे हैं? हमारी कैसी सरकार है?

योगी के मंत्री का पलटवार

सपा सांसद के बेतुके बयान पर उत्तर प्रदेश के अल्पसंख्यक मामलों के मंत्री मोहसिन रजा ने पलटवार किया है। उन्होंने एसटी हसन (SP MP ST Hassan) को उनके असंवेदनशील बयान के लिए फटकार लगाते हुए कहा कि उनका दृष्टिकोण इस्लामिक स्टेट (आईएस) आतंकवादी समूह के समान है।

मोहसिन रजा ने कहा कि हसन जैसे लोगों को देश के संविधान में विश्वास नहीं है। उन्होंने दावा किया कि समाजवादी पार्टी उत्तर प्रदेश में शरिया कानून लाना चाहती है। उनकी भाषा इस्लामिक स्टेट के समान है। ऐसे लोग केवल शरिया कानून में विश्वास करते हैं।

FROM AROUND THE WEB