चक्रवाती तूफान यास का दिखने लगा असर, ओडिशा और बंगाल में भारी बारिश शुरू

बंगाल की खाड़ी से उठे बहुत भीषण चक्रवाती तूफान यास (Yass Cyclone Live Update) का असर दिखना शुरू हो गया है। चक्रवाती तूफान के पहुंचने से पहले ओडिशा और पश्चिम बंगाल में तेज हवाओं के साथ भारी बारिश हो रही है।
 
चक्रवाती तूफान यास का दिखने लगा असर, ओडिशा और बंगाल में भारी बारिश शुरू

नई दिल्ली। बंगाल की खाड़ी से उठे बहुत भीषण चक्रवाती तूफान यास (Yass Cyclone Live Update) का असर दिखना शुरू हो गया है। चक्रवाती तूफान के पहुंचने से पहले ओडिशा और पश्चिम बंगाल में तेज हवाओं के साथ भारी बारिश हो रही है। चक्रवात यास की आहट के साथ ही ओडिशा के भुवनेश्वर और बंगाल के दीघा में तेज बारिश हो रही है। इसके अलावा भी अन्य हिस्सों में चक्रवात का असर दिख रहा है। 

तीव्र चक्रवाती तूफान यास (Yass Cyclone Live Update) की वर्तमान स्थिति पूर्व मध्य पश्चिम मध्य बंगाल की खाड़ी में है। मौसम विभाग ने ओडिशा के कई जिलों में रेड अलर्ट जारी कर दिया है। 180 की स्पीड से हवाएं चलने की संभावना है।

भारतीय मौसम विभाग ने ओडिशा के केंद्रपाड़ा, भद्रक, जगतसिंहपुर, बालासोर में आज कल के लिए भारी बारिश की चेतावनी जारी की गई है रेड अलर्ट जारी किया गया है। मयूरभंज, जाजपुर, कटक, खोरदा पुरी में आज भारी से बहुत भारी बारिश की संभावना है। इनके लिए ऑरेंज अलर्ट जारी किया गया है।

मौसम विभाग ने कल जगतसिंहपुर, केंद्रपाड़ा, भद्रक बालासोर में 150-160 किमी प्रति घंटे की रफ्तार से लेकर 180 किमी प्रति घंटे की रफ्तार तक हवा चलने की संभावनाएं जताई हैं। जिनके दोपहर तक लैंडफॉल होने की संभावना है। इसके अलावा धामरा पारादीप बंदरगाहों के लिए सबसे ज्यादा खतरे की चेतावनी जारी की गई है।

मौसम विभाग भुवनेश्वर के वरिष्ठ वैज्ञानिक उमाशंकर दास ने बताया है कि चक्रवात यास (Yass Cyclone Live Update) पाराद्वीप के दक्षिण दक्षिण पू्र्वी दिशा में 320 किलोमीटर बालासोर के दक्षिण, दक्षिण पूर्व में 430 किलोमीटर है। कल दोपहर इसके पाराद्वीप सागर द्वीप चांदबाली धामरा के बीच लैंडफॉल होने की संभावना है। मौसम वैज्ञानिक ने बताया कि अभी यह तूफान पूर्व मध्य पश्चिम मध्य बंगाल की खाड़ी में है, जो उत्तर पश्चिम दिशा की तरफ 10 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से आगे बढ़ रहा है।

ओडिशा के बालासोर जिले के चांदीपुर में जिला प्रशासन मरीन पुलिस के साथ मिलकर मछुआरों के गांवों को खाली करा रहा है लोगों को सुरक्षित स्थान पर भेज रहा है। ओडिशा के मुख्यमंत्री नवीन पटनायक ने बालासोर तट पर चक्रवात यास (Yass Cyclone Live Update) के मद्देनजर राज्य के गृह मंत्री को आज बालासोर पहुंचने वहीं रहकर स्थिति की निगरानी के लिए निर्देश दिया है।

चक्रवात यास (Yass Cyclone Live Update) के मद्देनजर पश्चिम बंगाल में एनडीआरएफ की 10 टीमें तैनात की गईं। एनडीआरएफ के डीजी एसएन प्रधान ने बताया कि राज्य में कुल 45 टीमें तैनात हैं। मौसम विभाग के अनुसार, चक्रवाती तूफान यास के बहुत तीव्र चक्रवाती तूफान की तरह 26 मई की दोपहर उत्तर ओडिशा-पश्चिम बंगाल तटों को बालासोर के आसपास पारादीप सागर द्वीप के बीच पार करने की बहुत संभावना है।

FROM AROUND THE WEB