विदेश यात्रा के लिए करना होगा इंतजार, 31 जुलाई तक जारी रहेगी इंटरनेशनल फ्लाइट्स पर पाबंदी

 कोरोना महामारी के चलते अंतरराष्ट्रीय उड़ाने (International Flights update) अभी तक प्रतिबंधित है। इस बीच नागरिक उड्डयन महानिदेशालय (DGCA) ने भारत में शेड्यूल अंतरराष्ट्रीय वाणिज्यिक उड़ानों की आवाजाही पर बैन एक महीना और यानि 31 जुलाई 2021 तक बढ़ा दिया है।
 
विदेश यात्रा के लिए करना होगा इंतजार, 31 जुलाई तक जारी रहेगी इंटरनेशनल फ्लाइट्स पर पाबंदी

नई दिल्ली। कोरोना महामारी के चलते अंतरराष्ट्रीय उड़ाने (International Flights update) अभी तक प्रतिबंधित है। इस बीच नागरिक उड्डयन महानिदेशालय (DGCA) ने भारत में शेड्यूल अंतरराष्ट्रीय वाणिज्यिक उड़ानों की आवाजाही पर बैन एक महीना और यानि 31 जुलाई 2021 तक बढ़ा दिया है। 

हालांकि यह प्रतिबंध अंतरराष्ट्रीय ऑल-कार्गो संचालन और स्पेशल फ्लाइट्स (International Flights update) पर लागू नहीं होगा। चुनिंदा देशों के साथ द्विपक्षीय एयर बबल समझौतों के तहत चलने वाली उड़ानें जारी रहेंगी।

बता दें कि देशभर में 23 मार्च 2020 से लॉकडाउन लागू होने के बाद से इंटरनेशनल फ्लाइट्स (International Flights update) निलंबित हैं। लेकिन मई 2020 से स्पेशल इंटरनेशनल फ्लाइट्स वंदे भारत मिशन के तहत उड़ रही हैं। विदेश में फंसे यात्रियों को वापस लाने के लिए वंदे भारत मिशन चलाया गया और कई देशों के साथ एयर बबल करार भी किया गया।

विमानन उद्योग पर कोरोना की मार

भारतीय विमानन उद्योग (International Flights update) अभी भी पिछले साल में लगे देशव्यापी लॉकडाउन के कारण हुए नुकसान से उबर रहा है। अप्रैल में महामारी की दूसरी लहर ने देश को बड़ा झटका दिया, जिसके कारण पूरे देश में हवाई यातायात में गिरावट आई, खासकर तब जब दूसरे देशों द्वारा भारत की उड़ानों पर प्रतिबंध लगाया गया।

नियमों का उल्लंघन करने वालों पर लगेगा जुर्माना

हाल ही में नागर विमानन महानिदेशालय (डीजीसीए) ने कहा था कि सभी एयरपोर्ट्स (International Flights update) के परिचालकों को यह सुनिश्चित करना होगा कि हवाई अड्डे पर और यात्रा के दौरान लोगों ने मास्क सही तरीके से पहना है या नहीं। साथ ही हवाई अड्डे के परिसर में सुरक्षित शारीरिक दूरी भी बनाए रखनी होगी। 

डीजीसीए ने एयरलाइंस (International Flights update) को अचानक जांच करने का निर्देश भी दिया। अगर एयरलाइंस विमान के अंदर नियमों का पालन सुनिश्चित नहीं करा पाती हैं, तो उन पर जुर्माना भी लगाया जा सकता है। साथ ही, यदि कोई व्यक्ति बार-बार चेतावनी के बावजूद नहीं मानता है तो उसके साथ 'अनियंत्रित यात्री' जैसा व्यवहार किया जाएगा।

FROM AROUND THE WEB