कोरोना के चलते यूपी में अंतर्राज्यीय बसों के चलने पर 15 जून तक बढ़ाई गई रोक

कोरोना संक्रमण के चलते उत्तर प्रदेश में 15 जून तक अंतर्राज्यीय बसों (Interstate Bus Transport UP) की आवाजाही पर रोक बढ़ा दी गई है।
 
कोरोना के चलते यूपी में अंतर्राज्यीय बसों के चलने पर 15 जून तक बढ़ाई गई रोक

लखनऊ। कोरोना संक्रमण के चलते उत्तर प्रदेश में 15 जून तक अंतर्राज्यीय बसों (Interstate Bus Transport UP) की आवाजाही पर रोक बढ़ा दी गई है। दरअसल प्रदेश के लखनऊ सहित कई जिलों से दिल्ली, उत्तराखंड, राजस्थान, बिहार, हिमाचल प्रदेश, मध्य प्रदेश, चंडीगढ़ के मध्य 700 बसों का संचालन होता है। इन बसों से रोज करीब 15 हजार से अधिक यात्री सफर करते हैं।

बता दें इससे पहले इंटर स्टेट बस सेवाओं (Interstate Bus Transport UP) पर रोक 5 जून तक थी, जिसे अब 10 दिन और बढ़ा दिया गया है। इस संबंध में उत्तर प्रदेश रोडवेज प्रशासन की तरफ से निर्देश अधिकारियों को जारी कर दिए गए हैं

परिवहन निगम को भारी नुकसान

यूपी परिवहन निगम (Interstate Bus Transport UP) के एमडी डीबी सिंह ने बताया कि यूपी से दिल्ली, उत्तराखंड, राजस्थान, बिहार, हिमाचल प्रदेश, मध्य प्रदेश, चंडीगढ़ के बीच एसी जनरथ, एसी स्लीपर, एसी शताब्दी व वाल्वो की करीब 700 बसों का संचालन होता था। इनसे रोजाना 15000 से ज्यादा यात्री सफर करते थे। लेकिन कोरोना के चलते रोक लगाई गई, जिसके कारण परिवहन निगम की आय को खासा नुकसान हो रहा है।

केवल राज्य के अंदर ही बसों का हो रहा संचालन

यूपी में कोरोना संक्रमण को देखते हुए सीएम योगी आदित्यनाथ ने दूसरे राज्यों को जाने वाली बस सेवा पर रोक लगा दी थी। सीएम ने कहा था कि आवागमन कम से कम हो, इसके लिए अंतरराज्यीय बस सेवा (Interstate Bus Transport UP) को तत्काल स्थगित किया जाए। फिलहाल उत्तर प्रदेश राज्य सड़क परिवहन निगम की बसों का संचालन केवल प्रदेश के अंदर ही हो रहा है।

FROM AROUND THE WEB