लाल किले पर कब्जा कर नया धरना स्थल बनाना चाहते थे किसान, दिल्ली पुलिस का चार्जशीट में दावा

पिछले 6 महीनों से नए कृषि कानूनों के खिलाफ किसान संगठनों का आंदोलन जारी है। इस बीच गणतंत्र दिवस हिंसा (Delhi Police chargsheet on Lal Quila Violence) के मामले में दिल्ली पुलिस ने कोर्ट में अपनी चार्जशीट दाखिल कर दी है।
 
लाल किले पर कब्जा कर नया धरना स्थल बनाना चाहते थे किसान, दिल्ली पुलिस का चार्जशीट में दावा

नई दिल्ली। पिछले 6 महीनों से नए कृषि कानूनों के खिलाफ किसान संगठनों का आंदोलन जारी है। इस बीच गणतंत्र दिवस हिंसा (Delhi Police chargsheet on Lal Quila Violence) के मामले में दिल्ली पुलिस ने कोर्ट में अपनी चार्जशीट दाखिल कर दी है। दिल्ली पुलिस ने चार्जशीट में कई नए दावे किए गए हैं। साथ ही किसानों नेताओं के उस बयान को भी खारिज कर दिया गया, जिसमें उन्होंने कहा था कि हिंसा सुनियोजित नहीं थी।

न्यूज एजेंसी ANI ने सूत्रों के हवाले ने चार्जशीट से जुड़ी कई जानकारियां दी हैं। दिल्ली पुलिस ने चार्जशीट (Delhi Police chargsheet on Lal Quila Violence) में बताया कि योजना के अनुसार, गणतंत्र दिवस पर किसान बड़ी संख्या में लाल किले में दाखिल हुए और घंटों परिसर में रहे। उस दौरान किसानों का मकसद लाल किले पर कब्जा करने का था, ताकी वो उसे नया विरोध स्थल बनाकर दुनियाभर में मोदी सरकार को बदनाम कर सकें।

चार्जशीट (Delhi Police chargsheet on Lal Quila Violence) में आगे कहा गया कि किसान संगठनों ने ये हिंसा अचानक नहीं की, इसके लिए नवंबर-दिसंबर से योजना बनाई जा रही थी। साथ ही हरियाणा और पंजाब में बड़ी संख्या में ट्रैक्टर भी खरीदे गए। इस संबंध में जो डेटा पुलिस को मिला था, वो चार्जशीट में अटैच किया गया है।

FROM AROUND THE WEB