सुप्रीम कोर्ट का ऐतिहासिक आदेश, हर कोरोना मृतक के परिवार को सरकार देगी मुआवजा

कोरोना की दूसरी लहर में इस साल देश में लाखों लोग अपनी जान गंवा चुके हैं। हाल ही में सुप्रीम कोर्ट (Supreme Court order on Corona Compensation) में याचिका दायर की गई थी, जिसमें कोरोना से मरने वाले लोगों के परिजनों को 4 लाख रुपए मुआवजा देने की मांग की गई थी।
 
सुप्रीम कोर्ट का ऐतिहासिक आदेश, हर कोरोना मृतक के परिवार को सरकार देगी मुआवजा

नई दिल्ली। कोरोना की दूसरी लहर में इस साल देश में लाखों लोग अपनी जान गंवा चुके हैं। हाल ही में सुप्रीम कोर्ट (Supreme Court order on Corona Compensation) में याचिका दायर की गई थी, जिसमें कोरोना से मरने वाले लोगों के परिजनों को 4 लाख रुपए मुआवजा देने की मांग की गई थी। अब सुप्रीम कोर्ट ने इस मामले पर सभी पक्षों की दलील सुनने के बाद अपना फैसला सुना दिया है। अपने आदेश में सुप्रीम कोर्ट ने केंद्र और एनडीएमए को कोरोना के कारण जान गंवाने वाले हर शख्स के परिवार को मुआवजा देने का आदेश दिया है।

सुप्रीम कोर्ट ने अपने आदेश (Supreme Court order on Corona Compensation) में कहा है कि एनडीएमए यानि नेशनल डिजास्टर मैनेजमेंट अथॉरिटी मुआवजे की राशि तय करे और 6 महीने में इसको लेकर विस्तृत गाइडलाइन बनाए।

क्या है सुप्रीम कोर्ट का आदेश

अपने आदेश में सुप्रीम कोर्ट (Supreme Court order on Corona Compensation) ने कहा कि मुआवजे की रकम क्या होगी ये सरकार खुद ही तय करे, क्योंकि उसे कई और जरूरी खर्च भी करने हैं। साथ ही डेथ सर्टिफिकेट पाने की प्रक्रिया भी सरल की जाए। बता दें कि सुप्रीम कोर्ट मे एक याचिका दायर की गई थी और मांग की गई थी कि देश में कोरोना से जान गंवाने वाले हर शख्स के परिवार को 4 लाख रुपए का मुआवजा दिया जाए। 

इस पर केंद्र सरकार ने अपनी दलील में कहा कि लाखों परिवारों को 4-4 लाख का मुआवजा देना संभव नहीं है। इससे सरकार खजाने पर असर पर असर पड़ेगा और राज्यों के अन्य जरूरी काम रुक जाएंगे। बुधवार को न्यायमूर्ति अशोक भूषण की अध्यक्षता वाली सुप्रीम कोर्ट की तीन जजों की बेंच ने अपने फैसले (Supreme Court order on Corona Compensation) में राष्ट्रीय आपदा प्रबंधन प्राधिकरण (NDMA) को 6 सप्ताह के भीतर मुआजरा राशि तय करने का निर्देश दिया। कोर्ट ने कहा कि NDMA खुद तय करे कि कितनी राशि दी जा सकती है, लेकिन कुछ न कुछ मुआवजा तो देना जरूरी है।

FROM AROUND THE WEB