भारत को जल्द मिलेंगे 18 और राफेल विमान, चीन सीमा के पास होगी तैनात

भारतीय वायुसेना की नई ताकत बन चुके राफेल विमान (Rafale Fighter Jet) की गर्जना जल्द ही भारत-चीन सीमा पर सुनाई दे सकती है। दरअसल, 18 नए राफेल विमानों की खेप जल्द भारत पहुंचने वाली है।
 
भारत को जल्द मिलेंगे 18 और राफेल विमान, चीन सीमा के पास होगी तैनात

नई दिल्ली। भारतीय वायुसेना की नई ताकत बन चुके राफेल विमान (Rafale Fighter Jet) की गर्जना जल्द ही भारत-चीन सीमा पर सुनाई दे सकती है। दरअसल, 18 नए राफेल विमानों की खेप जल्द भारत पहुंचने वाली है। इन विमानों की तैनाती पश्चिम बंगाल के हासिमारा एयरबेस पर की जाएगी। बता दें कि हासिमारा एयरबेस पर इन विमानों की तैनाती से एलएसी पर भारत आसानी से निगरानी कर पाएगा, क्योंकि यह एयरबेस एलएसी के बेहद करीब है।

गौरतलब है कि भारत और फ्रांस के बीच 36 राफेल विमानों (Rafale Fighter Jet) की आपूर्ति के लिए समझौता हुआ है। फ्रेंच कंपनी डसॉल्ट एविएशन पिछले साल से इन लड़ाकू विमानों की आपूर्ति भारत को शुरू कर चुकी  है। भारत की योजना राफेल के 2 स्क्वॉड्रन से चीन और पाकिस्तान पर नजर रखने की है। राफेल के एक स्क्वाड्रन की तैनाती अंबाला एयरबेस पर की गई है, जबकि दूसरे की हासिमारा एयरबेस पर तैनात किया जाएगा। 36 राफेल विमानों के शामिल हो जाने से वायु सेना की ताकत कई गुना बढ़ जाएगी। 

अब तक भारत को मिल चुके हैं 11 राफेल

बता दें कि फ्रांस से राफेल (Rafale Fighter Jet) की पहली खेप पिछले साल जुलाई में भारत पहुंची। पहली खेप में 5 लड़ाकू विमान शामिल थे। अब तक भारत को 11 राफेल मिल चुके हैं और इन्हें वायु सेना के गोल्डन एरोज यूनिट में शामिल किया गया है। वायु सेना के एक अधिकारी ने बताया कि अगले कुछ दिनों में फ्रांस से 10 और राफेल भारत पहुंच रहे हैं। इनके आने के बाद राफेल की पहली स्क्वाड्रन तैयार हो जाएगी। फिर इसके बाद दूसरे स्क्वॉड्रन की तैयारी शुरू हो जाएगी। 

FROM AROUND THE WEB