बड़ी खबर: भारतीय वायुसेना का मिग-21 विमान क्रैशन, ग्रुप कैप्टन शहीद

कॉम्बैट ट्रेनिंग मिशन के दौरान बुधवार को भारतीय वायुसेना का एक मिग-21 बाइसन (Mig-21 Bison Crash) लड़ाकू विमान हादसे का शिकार हो गया है।
 
बड़ी खबर: भारतीय वायुसेना का मिग-21 विमान क्रैशन, ग्रुप कैप्टन शहीद

नई दिल्ली। कॉम्बैट ट्रेनिंग मिशन के दौरान बुधवार को भारतीय वायुसेना का एक मिग-21 बाइसन (Mig-21 Bison Crash) लड़ाकू विमान हादसे का शिकार हो गया है। यह हादसा उस वक्त हुआ जब विमान टेक ऑफ कर रहा था। हादसे में जेट उड़ा रहे ग्रुप कैप्टन ए. गुप्ता शहीद हो गए। भारतीय वायुसेना ने हादसे की पुष्टि की है। घटना के बाद जांच के आदेश दे दिए गए हैं। 

भारतीय वायुसेना ने ट्विटर पर इस विमान हादसे (Mig-21 Bison Crash) की पुष्टि की है। IAF के ऑफिशियल ट्विटर हैंडल से एक ट्वीट किया गया जिसमें लिखा है - इस दुखद दुर्घटना में इंडियन एयरफोर्स ने अपने ग्रुप कैप्टन ए. गुप्ता को खो दिया। भारतीय वायुसेना गहरी संवेदना व्यक्त करता है और दुख की इस घड़ी में परिवार के सदस्यों के साथ मजबूती से खड़ा है। दुर्घटना के कारणों का पता लगाने के लिए कोर्ट ऑफ इन्क्वायरी का आदेश दिया गया है।


गौरतलब है कि इससे पहले 5 जनवरी को भी भारतीय वायु सेना का लड़ाकू विमान मिग-21 (Mig-21 Bison Crash) राजस्थान के सूरतगढ़ में हादसे का शिकार हो गया था। मिग-21 (Mig-21 Bison Crash) फाइटर जेट में तकनीकी खराबी के बाद सूरतगढ़ के पास में दुर्घटनाग्रस्त हो गया। हालांकि, हादसे में पायलट सुरक्षित था।

लंबे समय तक भारतीय वायुसेना की ताकत रहा है मिग-21

दरअसल, भारतीय वायुसेना ने 1961 में मिकोयान-गुरेबिच डिजाइन ब्यूरो निर्मित मिग-21 (Mig-21 Bison Crash) विमान को हासिल किया था। इसमें एक इंजन और एक सीट है। यह विभिन्न भूमिका निभाने वाला लड़ाकू विमान है, जो जमीन पर मार करने में सक्षम है। यह विमान लंबे समय तक भारतीय वायुसेना की रीढ़ रही है। इसकी अधिकतम गति 2230 किलोमीटर प्रति घंटा है और यह 23 मिलीमीटर के दो बैरल वाले तोप के साथ चार आर-60 लड़ाकू मिसाइल ले जा सकता है।

FROM AROUND THE WEB