मुंबई: परमबीर सिंह के सनसनीखेज आरोप के बाद उद्धव सरकार पर हमलावर हुई BJP

शनिवार को मुख्‍यमंत्री उद्धव ठाकरे (Uddhav Thackeray) को लिखे पत्र में परमबीर सिंह (Param Bir Singh) का कहना है कि इस मामले में सस्‍पेंड किए गए एनकाउंटर स्‍पेशलिस्‍ट सचिन वझे (Sachin Waze) को देशमुख ने हर महीने 100 करोड़ रुपये कलेक्‍ट करने के लिए कहा था।
 
मुंबई: परमबीर सिंह के सनसनीखेज आरोप के बाद उद्धव सरकार पर हमलावर हुई BJP
New Delhi: बिजनेसमैन मुकेश अंबानी (Mukesh Ambani Case) के घर के बाहर जिलेटिन से भरी स्‍कॉर्पियो मिलने के मामले में बड़ी तेजी से घटनाक्रम बदल रहे हैं। कुछ दिन पहले मुंबई के पुलिस कमिश्‍नर पद से हटाए गए परमबीर सिंह (Param Bir Singh) ने महाराष्‍ट्र के गृह मंत्री अनिल देशमुख (Anil Deshmukh) पर सनसनीखेज आरोप लगाए हैं।

शनिवार को मुख्‍यमंत्री उद्धव ठाकरे (Uddhav Thackeray) को लिखे पत्र में परमबीर सिंह (Param Bir Singh) का कहना है कि इस मामले में सस्‍पेंड किए गए एनकाउंटर स्‍पेशलिस्‍ट सचिन वझे (Sachin Waze) को देशमुख ने हर महीने 100 करोड़ रुपये कलेक्‍ट करने के लिए कहा था। परमबीर सिंह के इन आरोपों के बाद महाराष्‍ट्र में सियासी गर्मी बढ़ गई है। गृह मंत्री अनिल देशमुख (Anil Deshmukh) की कुर्सी पर खतरा मंडराने लगा है।

मुख्‍यमंत्री को लिखी चिट्ठी में परमबीर सिंह (Param Bir Singh) ने कहा कि गृह मंत्री अनिल देशमुख (Anil Deshmukh) ने मुकेश अंबानी (Mukesh Ambani) के घर एंटीलिया के बाहर विस्फोटक रखने के आरोपी पुलिसकर्मी सचिन वझे को हर महीने रेस्ट्रॉन्ट्स, होटल, बार आदि से 100 करोड़ उगाही करने के आदेश दिए थे।

https://twitter.com/ANI/status/1373265101961064449

'पिछले कुछ महीनों में कई बार देशमुख के आवास पर गए सचिन वझे'

अपनी चिट्ठी में परमबीर सिंह ने लिखा कि मुंबई पुलिस की अपराध शाखा के क्राइम इंटेलिजेंस यूनिट के हेड सचिन वझे को महाराष्ट्र के गृह मंत्री अनिल देशमुख ने पिछले कुछ महीनों में कई बार अपने सरकारी आवास पर बुलाया था। यहां उन्‍होंने सचिन वझे को बार-बार हर महीने 100 करोड़ रुपये कलेक्‍ट करने का निर्देश दिया।

'देशमुख ने वझे को बताया कि मुंबई में कितने बार और रेस्‍तरां'

पत्र में पूर्व पुलिस कमिश्‍नर ने लिखा है कि फरवरी में और उसके बाद अनिल देशमुख ने सचिन वझे को अपने सरकारी आवास पर बुलाया था। उस समय मौके पर गृह मंत्री के निजी सचिव समेत एक-दो कर्मचारी वहां मौजूद थे। सबके सामने गृह मंत्री ने सचिन वझे से कहा कि उनके पास हर महीने 100 करोड़ रुपये जमा करने का टारगेट है। देशमुख ने वझे को बताया कि मुंबई में करीब 1750 बीयर बार, रेस्तरां और अन्य स्‍थान हैं। यदि हर जगह से 2-3 लाख रुपये कलेक्ट किए जाएं तो हर महीने 40- 50 करोड़ मिल जाएंगे। बाकी का कलेक्शन अन्य माध्यमों से किया जा सकता है।

झूठे आरोप लगा रहे परमबीर सिंह: अनिल देशमुख

दूसरी ओर, इस पूरे मामले में गृह मंत्री अनिल देशमुख ने अपनी सफाई पेश की है। उन्‍होंने कहा कि परमबीर सिंह सचिन वझे मामले में खुद को कानूनी करवाई से बचाने के लिए झूठा आरोप लगा रहे हैं। देशमुख ने कहा कि मुकेश अंबानी सहित मनसुख हिरेन केस में भी सचिन वझे की संलिप्‍तता स्‍पष्‍ट हो रही है और जांच की आंच परमबीर सिंह तक भी पहुंच सकती है।

बीजेपी ने कहा- देशमुख को तुरंत पद से हटाए उद्धव सरकार

इस बीच, बीजेपी ने महाराष्‍ट्र सरकार पर निशाना साधा है। बीजेपी के वरिष्‍ठ नेता किरीट सौमैया ने कहा कि मुंबई के पूर्व पुलिस कमिश्‍नर ने कहा है कि मुंबई में जबरन वसूली चल रही थी और सचिन वझे गृह मंत्री के एजेंट थे। बीयर बार और अन्‍य जगहों से पैसे वसूले जा रहे थे। अनिल देशमुख को अब पद पर बने रहने का कोई अधिकार नहीं है। उन्‍हें पद से हटा देना चाहिए।

16 महीने में उद्धव सरकार ने जमा किए 1600 करोड़ रुपये: राम कदम

बीजेपी के एक अन्य नेता राम कदम ने कहा कि 16 महीने से महाराष्ट्र में उद्धव ठाकरे की सरकार है। हर महीने 100 करोड़ के हिसाब से 1600 करोड़ रुपये हो गए। कई जिले और कई शहर हैं, वहां से भी कई करोड़ रुपये के लिए कहा गया होगा। पुलिस डिपार्टमेंट एक डिपार्टमेंट है। उसी प्रकार 22 विभाग हैं तो क्या हर मंत्री ने अपने विभागों को वसूली करने के आदेश दिए हैं। सरकार जनता की रक्षा के लिए होती है, लेकिन तीन दलों की सरकार ने जनता का शोषण करने को कहा। इतना घिनौना काम कभी भी नहीं हुआ। अगर थोड़ी भी शर्म बची है तो जिम्मेदार मंत्री तुरंत इस्तीफा दे दें।

FROM AROUND THE WEB