नांदेड़ गुरुद्वारा हिंसा के बाद अब तक 18 लोग गिरफ्तार, 410 लोगों के खिलाफ केस दर्ज

नांदेड़ (Nanded Gurudwara) में कोरोना वायरस महामारी के कारण प्रशासन ने जुलूस निकालने की इजाजत नहीं दी थी, जिसके बाद तलवारों से लैस सिखों की भीड़ ने पुलिस कर्मियों पर हमला कर दिया था
 
नांदेड़ गुरुद्वारा हिंसा के बाद अब तक 18 लोग गिरफ्तार, 410 लोगों के खिलाफ केस दर्ज

मुंबई। महाराष्ट्र के नांदेड़ के एक गुरुद्वारा में हुई हिंसा के बाद पुलिस ने अब तक 18 लोगों को गिरफ्तार किया है। इस मामले में 410 लोगों के खिलाफ केस दर्ज किया गया है। बता दें कि नांदेड़ (Nanded Gurudwara) में कोरोना वायरस महामारी के कारण प्रशासन ने जुलूस निकालने की इजाजत नहीं दी थी, जिसके बाद तलवारों से लैस सिखों की भीड़ ने पुलिस कर्मियों पर हमला कर दिया था। इस हमले में चार पुलिसकर्मी जख्मी हो गए थे।

हिंसा का वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल

इस बीच नांदेड़ हिंसा (Nanded Gurudwara) का एक वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है। इस वीडियो में तलवारें लिए लोगों की भीड़ गुरुद्वारे से बाहर निकलती दिख रही है। भीड़ आगे बढ़ते हुए पुलिस की तरफ से लगाए गए बैरिकेड तोड़ देती है। इस दौरान भीड़ ने पुलिसकर्मियों पर हमला भी किया। इस हिंसा में कई वाहनों को भी नुकसान पहुंचा है।

नांदेड़ रेंज के डीआईजी निसार तंबोली ने बताया कि महामारी के चलते होला मोहल्ला (Nanded Gurudwara) का जुलूस निकालने की इजाजत नहीं दी गई। गुरुद्वारा कमेटी को इस बारे में जानकारी दी गई थी और उन्होंने हमें आश्वस्त किया था कि वे हमारे निर्देशों का पालन करेंगे और कार्यक्रम गुरुद्वारे परिसर के अंदर करेंगे। उन्होंने बताया,हालांकि जब निशान साहिब को शाम 4 बजे द्वार पर लाया गया तो कई लोगों ने बहस शुरू कर दी और 300 से अधिक युवा दरवाजे से बाहर आ गए, बैरिकेड तोड़ दिए और पुलिसकर्मी पर हमला करना शुरू कर दिया।

एक कांस्टेबल की हालत गंभीर

तंबोली ने कहा कि चार में से एक कांस्टेबल की हालत गंभीर है। उन्होंने बताया कि भीड़ ने पुलिस के छह वाहनों में भी तोड़फोड़ (Nanded Gurudwara) की है। डीआईजी ने कहा कि कम से कम 410 लोगों के खिलाफ भारतीय दंड संहिता की धारा 307, 324, 188, 269 के तहत मामला दर्ज किया गया है, जबकि हिंसा में शामिल 18 लोगों को गिरफ्तार किया गया है।

FROM AROUND THE WEB