नितिन गडकरी की सरकारी अफसरों को फटकार, बोले-काम करते नहीं, तो मोटी सैलरी किस बात की?

सरकारी अफसरों की लापरवाही पर केंद्रीय सड़क परिवहन मंत्री नितिन गडकरी (Minister Nitin Gadkari) काफी नाराज दिख रहे हैं। सड़क, परिवहन विभाग के कामकाज पर गडकरी एक बार फिर भड़क गए हैं।
 
नितिन गडकरी की सरकारी अफसरों को फटकार, बोले-काम करते नहीं, तो मोटी सैलरी किस बात की?

नई दिल्ली। सरकारी अफसरों की लापरवाही पर केंद्रीय सड़क परिवहन मंत्री नितिन गडकरी (Minister Nitin Gadkari) काफी नाराज दिख रहे हैं। सड़क, परिवहन विभाग के कामकाज पर गडकरी एक बार फिर भड़क गए हैं। दरअसल, एक सरकारी कार्यक्रम के दौरान गडकरी ने अफसरों को सख्त हिदायत दे डाली। बता दें कि गडकरी अक्सर विभाग के कामकाज को लेकर अक्सर कड़ा रुख अपनाते रहे हैं। अपने सख्त अंदाज के लिए गडकरी वैसे भी पहचाने जाते हैं।

सरकारी अफसरों के रवैये और लापरवाहियों पर भड़के नितिन गडकरी (Minister Nitin Gadkari) ने यहां तक कहा कि 'आज के वक्त में अधिकारी खाया पिया कुछ नहीं और गिलास तोड़ा बारह आना की तरह हो गए हैं। गडकरी ने साथ ही सवाल उठाते हुए कहा कि सरकार उनको इतनी मोटी सैलरी क्यों दें? 

पहले भी उठा चुके हैं सवाल

ऐसा पहली बार नहीं है कि जब गडकरी ने सरकारी अफसरों के काम करने के तरीके पर सवाल उठाया हो। इससे पहले भी उन्होंने एनएचएआई के अफसरों पर सवाल उठाया था। तब नितिन गडकरी (Minister Nitin Gadkari)  ने एनएचएआई की बिल्डिंग बनने में देरी पर विभाग के अधिकारियों को जमकर फटकार लगाई थी। उन्होंने सीधे शब्दों ने कहा था कि ये विभाग भ्रष्टाचार का अड्डा बन गया है। अफसरों का तरीका काम करने के तरीके पर बड़ा असर डाल रहा है। 

अपने तीखे तेवरों में गडकरी (Minister Nitin Gadkari) ने ये भी कहा था कि एनएचएआई में निक्कमे लोग इतने पावरफुल है कि मंत्रालय के कहने के बावजूद भी वो अपने निर्णय गलत करते हैं। विभाग में विषकन्या लोग जैसे घुसे हुए हैं। 

FROM AROUND THE WEB