कोरोना संक्रमण कम होने पर ओवैसी ने मोदी सरकार पर उठाए सवाल, लगाया आंकड़े छुपाने का आरोप

ऑल इंडिया मजलिस-ए-इत्तेहादुल मुस्लिमीन के प्रमुख असदुद्दीन ओवैसी (Asaduddin Owaisi slam Govt on Covid) ने बुधवार को केंद्र सरकार पर कोरोना संक्रमणों की संख्याओं को कम करके बताने का आरोप लगाया है।
 
कोरोना संक्रमण कम होने पर ओवैसी ने मोदी सरकार पर उठाए सवाल, लगाया आंकड़े छुपाने का आरोप

नई दिल्ली। ऑल इंडिया मजलिस-ए-इत्तेहादुल मुस्लिमीन के प्रमुख असदुद्दीन ओवैसी (Asaduddin Owaisi slam Govt on Covid) ने बुधवार को केंद्र सरकार पर कोरोना संक्रमणों की संख्याओं को कम करके बताने का आरोप लगाया है। ओवैसी ने कहा कि सरकार की संख्या का कोई मतलब नहीं है, क्योंकि हजारों मामलों की गिनती नहीं हो रही है।

बता दें कि ओवैसी (Asaduddin Owaisi slam Govt on Covid) की टिप्पणी एक दिन बाद आई, जब केंद्र ने दावा किया कि भारत में कुल आबादी के 2 प्रतिशत से भी कम लोग अब तक कोरोना से प्रभावित हैं। हालांकि 98 प्रतिशत आबादी अभी भी घातक संक्रमण की चपेट से बची हुई है और उन्हें हर वक्त इसका खतरा है।

ओवैसी (Asaduddin Owaisi slam Govt on Covid) ने ट्विटर पर कहा, कल भारत सरकार ने कोरोना के प्रसार को रोकने के लिए खुद को बधाई देते हुए कहा कि केवल 1.8% आबादी प्रभावित हुई थी। दिसंबर-जनवरी में सरकार के स्वयं के सीरो-सर्वेक्षण में सर्वेक्षण में शामिल 21.4 प्रतिशत वयस्कों में कोरोना एंटीबॉडीज पाए गए। यह दूसरी लहर से पहले था, संख्या अधिक होने की संभावना है।


सरकार ने कहा कि भारत की कुल आबादी में अब तक केवल 1.8 फीसदी ही संक्रमित हुए हैं। स्वास्थ्य मंत्रालय के संयुक्त सचिव लव अग्रवाल ने मंगलवार को कहा, अब तक दर्ज किए गए मामलों की सबसे ज्यादा संख्या के बावजूद हम 2 प्रतिशत से कम आबादी में प्रसार को रोकने में सक्षम हैं।

ओवैसी (Asaduddin Owaisi slam Govt on Covid) ने इस पर नाराजगी जताई और कहा कि पीएम मोदी के नेतृत्व वाली केंद्र सरकार संख्याओं को कम बताकर खुद को बधाई दे रही है। हैदराबाद के सांसद ने दावा किया, सरकार की संख्या का कोई मतलब नहीं है, क्योंकि ऐसे हजारों मामले हैं जिनकी गिनती नहीं की जा रही है या उनका परीक्षण भी नहीं किया जाता है। असदुद्दीन ओवैसी (Asaduddin Owaisi slam Govt on Covid) ने कहा कि खासकर ग्रामीण इलाकों में जहां स्वास्थ्य सुविधाओं का बुनियादी ढांचा लगभग नदारद है। यह सरकार सिर्फ खुद को बधाई दे रही है कि इसने अपने नंबरों को कितनी अच्छी तरह से भुनाया है।

स्वास्थ्य मंत्रालय ने आगे कहा कि देश में पिछले 15 दिनों में सक्रिय मामलों में लगातार गिरावट देखी गई है। अग्रवाल ने कहा, 3 मई को रिपोर्ट किए गए कुल केसलोड के 17.13 प्रतिशत से यह घटकर 13.3 प्रतिशत हो गया है। भारत के आठ राज्यों में 1 लाख से अधिक सक्रिय मामले हैं, जबकि 22 राज्यों में सकारात्मकता दर 15 प्रतिशत से अधिक है।

FROM AROUND THE WEB