मुख्मंत्रियों संग कोरोना पर बैठक में बोले पीएम मोदी-महामारी को रोकना जरूरी

कोरोना को लेकर आगे की रणनीति पर चर्चा के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Modi meeting with cm's) ने आज सभी राज्यों के मुख्यमंत्रियों के साथ एक बैठक की। इस बैठक में कोरोना को लेकर किए गए उपायों पर चर्चा की गई।
 

नई दिल्ली। भारत में कोरोना के लगातार बढ़ते मामलों ने केंद्र और राज्य सरकारों की नींद उड़ा दी है। कोरोना को लेकर आगे की रणनीति पर चर्चा के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Modi meeting with cm's) ने आज सभी राज्यों के मुख्यमंत्रियों के साथ एक बैठक की। इस बैठक में कोरोना को लेकर किए गए उपायों पर चर्चा की गई। पीएम मोदी वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिये मुख्यमंत्रियों के साथ बातचीत कर रहे हैं। हालांकि, इस बैठक में पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी और झारखंड के सीएम भूपेश बघेल नदारद रहे।

बैठक (PM Modi meeting with cm's) के दौरान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि हमें कोरोना के बढ़ते मामलों को तुरंत रोकना होगा। हम इस उभरते सेकेंड पीक को बढ़ने नहीं दे सकते हैं। इसके लिए जरूरी है कि आवश्यक कदम उठाये जायें, सख्ती की जाये, लेकिन इस बात का ध्यान भी रखना होगा कि जनता को पैनिक मोड में नहीं लाना है और उन्हें इस परेशानी से बचाना होगा।

लापरवाही में ना बदले आत्मविश्वास

पीएम मोदी (PM Modi meeting with cm's) ने कहा कि कोरोना की लड़ाई में हम आज जहां तक पहुंचे हैं, उससे आया आत्मविश्वास, लापरवाही में नहीं बदलना चाहिए। पीएम मोदी ने कहा कि हमें 'टेस्ट, ट्रैक और ट्रीट' को लेकर भी हमें उतनी ही गंभीरता की जरूरत है जैसे कि हम पिछले एक साल से करते आ रहे हैं। उन्होंने कहा कि हर संक्रमित व्यक्ति के कॉन्टेक्ट को कम से कम समय में ट्रैक करना और RT-PCR टेस्ट रेट 70 प्रतिशत से ऊपर रखना बहुत जरूरी है।

कोरोना वैक्सीन को लेकर प्रधानमंत्री (PM Modi meeting with cm's) ने कहा कि हमें यह ध्यान रखना होगा कि जो वैक्सीन पहले बनी है उसका इस्तेमाल पहले हो। एक्सपायरी डेट का ध्यान हमें खासकर रखना होगा। साथ ही हमें यह कोशिश करनी होगी कि जिन इलाकों में टीकाकरण कम हुआ है वहां इसे बढ़ाया जाये, ताकि कोरोना वायरस पर लगाम कसी जा सके।


संक्रमण नहीं रुका तो फिर स्थिति होगी खराब

पीएम नरेंद्र मोदी (PM Modi meeting with cm's) ने कहा कि कई जिलों में कोरोना का संक्रमण बढ़ा है, जो अब तक सेफ जोन थे। बीते कुछ सप्ताह में 70 जिलों में कोरोना के केसों में 150 फीसदी का इजाफा हुआ है। यदि हम कोरोना संक्रमण को यहां नहीं रोक पाए तो देश भर में फिर से स्थिति खराब हो सकती है और कोरोना केसों में इजाफा हो सकता है।


बता दें कि देश के कुछ राज्यों में कोरोना वायरस के मामलों में लगातार बढ़ोत्तरी हो रही है। महाराष्ट्र, पंजाब, कर्नाटक, गुजरात और तमिलनाडु में बढ़ते संक्रमण ने एक बार फिर चिंता बढ़ा दी है। इसके मद्देनजर महाराष्ट्र, गुजरात और मध्य प्रदेश के कई शहरों में नाइट कर्फ्यू लगाया गया है। महाराष्ट्र सरकार ने संक्रमण को देखते हुए पुणे, नागपुर और औरंगाबाद ने नाइट कर्फ्यू लगाया गया है। गुजरात सरकार ने भी अहमदाबाद, वडोदरा, सूरत और राजकोट में नाइट कर्फ्यू की घोषणा की है। वहीं, मध्य प्रदेश की शिवराज सरकार ने भोपाल और इंदौर शहर में नाइट कर्फ्यू लागू किया है।

FROM AROUND THE WEB