क्वाड देशों की बैठक में बोले पीएम मोदी, कोरोना से जंग में बड़ी भूमिका निभाएंगे चारों देश

भारत, ऑस्ट्रेलिया और जापान के नवगठित क्वाड समूह (Quad Group) की पहले सम्मेलन का आयोजन किया गया। सम्मेलन को संबोधित करते हुए पीएम मोदी ने कहा कि कोरोना से जंग में दुनिया के लिए चारों देश मिलकर बड़ी भूमिका निभाएंगे।
 

नई दिल्ली। अमेरिका, भारत, ऑस्ट्रेलिया और जापान के नवगठित क्वाड समूह (Quad Group) की पहले सम्मेलन का आयोजन किया गया। सम्मेलन को संबोधित करते हुए पीएम मोदी ने कहा कि कोरोना से जंग में दुनिया के लिए चारों देश मिलकर बड़ी भूमिका निभाएंगे। बैठक में ये भी फैसला हुआ है कि हिन्द-प्रशांत क्षेत्र को कोरोना वैक्सीन उपलब्ध कराने के लिए भारत में उत्पादन क्षमता बढ़ाने के लिए भारी निवेश किया जाएगा। इस कदम को वैक्सीन आपूर्ति के क्षेत्र में चीन के बढते प्रभाव से मुकाबले के प्रयास के तौर पर देखा जा रहा है।

सम्मेलन (Quad Group) में प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के अलावा ऑस्ट्रेलिया के प्रधानमंत्री स्कॉट मॉरिसन, जापान के प्रधानमंत्री योशिहिदे सुगा और अमेरिका के राष्ट्रपति जो बाइडन मौजूद थे। क्वाड समूह (Quad Group) के नेताओं के इस पहले ऑनलाइन शिखर सम्मेलन में  हिन्द-प्रशांत क्षेत्र में उभरती स्थिति पर भी चर्चा की गई। साथ ही क्षेत्र में शांति एवं स्थिरता के लिये मिलकर काम करने का फैसला किया गया।

क्या बोले पीएम मोदी

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी (PM Narendra Modi) ने क्वाड समूह (Quad Group) के पहले सम्मेलन में कहा कि गठबंधन विकसित हो चुका है और टीका, जलवायु परिवर्तन, उभरती प्रौद्योगिकी जैसे क्षेत्रों के इसके एजेंडे में शामिल होने से यह वैश्विक भलाई की ताकत बनेगा। उन्होंने कहा कि कोरोना के खिलाफ लड़ाई में हम एकजुट हैं, हमने सुरक्षित कोविड-19 टीकों की पहुंच सुनिश्चित करने के लिए महत्वपूर्ण क्वाड भागीदारी शुरू की है। 

उन्होंने कहा कि हिंद-प्रशांत क्षेत्र के देशों की मदद के लिए भारत की टीका उत्पादन क्षमता को जापान, अमेरिका और ऑस्ट्रेलिया के सहयोग से विस्तारित किया जाएगा। सम्मेलन के दौरान अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडन ने कहा कि हिंद-प्रशांत क्षेत्र में सहयोग के लिए 'क्वाड' महत्वपूर्ण मंच बनने जा रहा है और एक खुला एवं मुक्त हिन्द-प्रशांत क्षेत्र हमारे भविष्य के लिये अहम है।

'क्वाड' नेताओं ने इस बात पर दिया जोर

'स्पिरिट ऑफ क्वाड' (Quad Group) नाम से एक संयुक्त बयान में चारों नेताओं ने कहा कि उन्होंने अपने समय की चुनौतियों पर सहयोग मजबूत करने का संकल्प लिया और वे पूर्वी और दक्षिण चीन सागर में नियम-कायदा आधारित व्यवस्था के सामने चुनौतियों से मुकाबले के लिए समुद्री सुरक्षा पर तालमेल बढ़ाएंगे। 

म्यांमार में तख्तापलट के बाद की स्थिति का हवाला देते हुए 'क्वाड' (Quad Group) नेताओं ने जोर दिया कि जल्द लोकतंत्र बहाल करने और लोकतांत्रिक प्रतिबद्धता को मजबूत करने की प्राथमिकता पर जोर दिए जाने की जरूरत है। सम्मेलन में नेताओं ने सुरक्षित और प्रभावी टीका वितरण के लिए एक टीका विशेषज्ञ कार्य समूह बनाने का फैसला किया।

FROM AROUND THE WEB