6 राज्यों के मुख्यमंत्री से बोले PM मोदी- हम तीसरी लहर के मुहाने पर खड़े, दिया '4T' मंत्र

 
6 राज्यों के मुख्यमंत्री से बोले PM मोदी- हम तीसरी लहर के मुहाने पर खड़े, दिया '4T' मंत्र

NewzBox Desk: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) ने शुक्रवार को छह राज्यों के मुख्यमंत्रियों से उनके राज्यों में कोविड-19 की ताजा स्थिति पर चर्चा (PM Modi Meeting Chief Ministers Of Six States) की। पीएम मोदी ने कहा कि हम कोरोना की तीसरी लहर (Third Wave) के मुहाने पर खड़े हैं ऐसे में कोरोना के खिलाफ प्रभावी कदम उठाया जाना बहुत आवश्यक है। 

पीएम (PM Modi Meeting Chief Ministers Of Six States) ने कहा कि इस मामले में रणनीति बनी है जिसे आप लोग (राज्यों के सीएम) अपना रहे हैं। पीएम मोदी ने कहा कि महाराष्ट्र, केरल और कर्नाटक से अधिक मामले सामने आ रहे हैं। इन राज्यों को तीसरी लहर की आशंका को रोकना होगा।

पीएम मोदी का 4T मंत्र

पीएम मोदी (PM Modi Meeting Chief Ministers Of Six States) ने कोरोना की तीसरी लहर से मुकाबला करने के लिए 4T मंत्र बताया। पीएम मोदी ने कहा कि टेस्ट, ट्रैक यानी संक्रमितों का पता लगाना, ट्रीट यानी इलाज और अब टीका। पीएम ने कहा कि यह जांच किया हुआ, साबित हो चुका तरीका है।


छह राज्यों के मुख्यमंत्री हुए शामिल

इस बैठक में तमिलनाडु के मुख्यमंत्री एम के स्टालिन, आंध्र प्रदेश के मुख्यमंत्री वाई एस जगनमोहन रेड्डी, कर्नाटक के मुख्यमंत्री बी एस येद्दियुरप्पा, ओड़िशा के मुख्यमंत्री नवीन पटनायक, महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे और केरल के मुख्यमंत्री पिनराई विजयन वीडियो कान्फ्रेंस के माध्यम से शामिल हुए।

पीएम मोदी के भाषण की खास बातें..

  • जिस राज्यों से अधिक मामले आ रहे हैं वहां अधिक फोकस होना चाहिए
  • माइक्रो कन्टेनमेंट जोन पर फोकस करने की जरूरत
  • टेस्टिंग में ऐसे जिले पर विशेष ध्यान, प्रदेश में टेस्टिंग को बढाया जाना चाहिए
  • अधिक संक्रमण वाले जिलों में अधिक वैक्सीन स्ट्रैटेजिक टूल के रूप में प्रयोग
  • राज्यों को आरटी-पीसीआर टेस्टिंग बढ़ाने की कोशिश सराहनीय कदम
  • अधिक से अधिक टेस्टिंग वायरस को रोकने में प्रभावी होगी
  • देश के सभी राज्यों को नए आईसीयू बेड बढ़ाने, टेस्टिंग क्षमता बढ़ाने के लिए फंड उपलब्ध कराया जा रहा है
  • 23 हजार करोड़ रुपये से ज्यादा का इमरजेंसी कोविड रिस्पॉन्स फंड जारी किया है।
  • इस बजट का प्रयोग हेल्थ इंफ्रास्ट्रक्चर को बढ़ाने के लिए किया जाए।

केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह, रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह और केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री मनसुख भाई मांडविया भी इस बैठक में उपस्थित थे। कोरोना की तीसरी लहर की आशंका के मद्देनजर प्रधानमंत्री ने मुख्यमंत्रियों के साथ संवाद का सिलसिला आरंभ किया है। इस कड़ी में पिछले दिनों उन्होंने पूर्वोत्तर के सभी राज्यों के मुख्यमंत्रियों से संवाद किया था।

FROM AROUND THE WEB