राहुल गांधी से मिले राजनीति के चाणक्य प्रशांत किशोर, क्‍या कांग्रेस की नैया लगाएंगे पार?

 
राहुल गांधी से मिले राजनीति के चाणक्य प्रशांत किशोर, क्‍या कांग्रेस की नैया लगाएंगे पार?

NewzBox Desk: Prashant Kishor Met Rahul Gandhi: चुनावी रणनीतिकार प्रशांत किशोर (Prashant Kishor) ने मंगलवार को पूर्व कांग्रेस अध्‍यक्ष राहुल गांधी (Rahul Gandhi) से मुलाकात की। इसके बाद सियासी अटकलें तेज हो गईं। 

पंजाब, राजस्‍थान और छत्‍तीसगढ़ में कांग्रेस इकाई में आपसी कलह के बीच प्रशांत (Prashant Kishor) का राहुल (Rahul Gandhi) से मिलना अहम माना जा रहा है। इसके अलावा उत्‍तर प्रदेश, उत्‍तराखंड, पंजाब, गोवा, मणिपुर और गुजरात में अगले साल विधानसभा चुनाव होने हैं। पंजाब में कांग्रेस (Punjab Congress Govt) की सरकार है। जबकि बाकी जगह पर वह अपनी खोई जमीन पाने की कोशिश करेगी। बंगाल में ममता बनर्जी की सत्‍ता में वापसी कराने में प्रशांत किशोर की भूमिका अहम रही थी।

सूत्रों के पता चला है क‍ि प्रशांत किशोर (Prashant Kishor) की आई-पैक पंजाब में मुख्‍यमंत्री अमरिंदर सिंह के साथ काम कर रही है। राहुल की प्रशांत के साथ मीटिंग के इसलिए भी काफी मायने हैं क्‍योंकि पंजाब के साथ उत्‍तर प्रदेश में अगले साल चुनाव होने हैं। यह बैठक ऐसे समय हुई है जब प्रियंका गांधी वाड्रा ने सोमवार को यूपी कांग्रेस के नेताओं से मुलाकात की थी।

वैसे तो मीटिंग का एजेंडा साफ नहीं हुआ है, लेकिन अगले साल कई राज्‍यों में चुनावों के बीच प्रशांत किशोर का दोबारा सक्रिय होना बड़े संकेत देता है। खासतौर से तब जब पश्चिम बंगाल में ममता बनर्जी को प्रचंड बहुमत से वापसी कराने में प्रशांत की भूमिका को काफी अहम माना जाता है।

रणनीति बनाने के माहिर हैं किशोर

किशोर आईपैक के जरिये राजनीतिक रणनीति पर बारीकी से काम करते हैं। 2014 में नरेंद्र मोदी के राजनीति प्रचार-प्रसार की जिम्‍मेदारी प्रशांत ने ली थी। किसी से छुपा नहीं है कि उसके बाद क्‍या हुआ। इसके बाद उन्‍होंने बिहार चुनाव में नीतीश कुमार, पंजाब में अमरिंदर सिंह और आंध्र प्रदेश में जगन मोहन रेड्डी के लिए काम किया। बंगाल चुनाव में ममता की सफलता उनके काम का ताजा उदाहरण है।

FROM AROUND THE WEB