पेट्रोल-डीजल की बढ़ी कीमतों पर राहुल गांधी का तंज, कहा-खर्चे पर भी चर्चा करें पीएम मोदी

कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने एक बार फिर पेट्रोल-डीजल (Rahul gandhi on petrol-diesel hike) और गैस के बढ़े दामों को लेकर मोदी सरकार पर हमला बोला है।
 

नई दिल्ली। कोरोना संकट शुरू होने के बाद से आम आदमी की आर्थिक स्थिति बुरी तरह प्रभावित हुई है। रही सही कसर महंगाई ने पूरी कर दी। जनता को उम्मीद थी कि सरकार महंगाई पर लगाम लगाएगी, लेकिन अर्थव्यवस्था संभालने के चक्कर में महंगाई पर लगाम नहीं लग पा रही। कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने एक बार फिर पेट्रोल-डीजल (Rahul gandhi on petrol-diesel hike) और गैस के बढ़े दामों को लेकर मोदी सरकार पर हमला बोला है।

राहुल गांधी (Rahul gandhi on petrol-diesel hike) ने ट्विटर पर एक खबर का स्क्रीनशॉट शेयर किया है, जिसमें इस बात का जिक्र है कि पिछले 8 दिनों से अंतरराष्ट्रीय बाजार में कच्चे तेल की कीमतें कम हो रही हैं, लेकिन भारत में दाम नहीं कम हुए, बल्कि वो स्थिर हैं। इस खबर के साथ राहुल ने लिखा कि केंद्र सरकार की टैक्स वसूली के कारण गाड़ी में तेल भराना किसी इम्तहान से कम नहीं, फिर PM इस पर चर्चा क्यों नहीं करते? खर्च पे भी हो चर्चा।


कितनी हुई गिरावट

सोमवार को जारी एक रिपोर्ट के मुताबिक, अंतराष्ट्रीय बाजार में कच्चे तेल की कीमत 71 डॉलर प्रति बैरल की ऊंचाई से गिरकर 63 डॉलर प्रति बैरल पर आ गई है। इस गिरावट के पीछे ग्लोबल मार्केट में कच्चे तेल की कमजोरी है। भारत में फरवरी में पेट्रोल-डीजल की कीमतें 16 बार बढ़ी थीं, तब सरकार ने कहा था कि अंतरराष्ट्रीय बाजार में दाम बढ़ने से ऐसा हो रहा है, लेकिन अब दाम कम नहीं होने से सवाल खड़े हो रहे हैं। इस मसले पर केंद्रीय पेट्रोलियम मंत्री धर्मेंद्र प्रधान के मुताबिक आने वाले दिनों में जनता को तेल की कीमतों में राहत जरूर मिलेगी।

FROM AROUND THE WEB