राकेश टिकैत ने किया संसद घेराव का ऐलान, कहा-वहीं लगेगी मंडी, बेचेंगे अपनी फसल

कृषि कानूनों को लेकर दिल्ली के गाजीपुर बॉर्डर पर किसान आंदोलन की अगुवाई कर रहे किसान नेता राकेश टिकैत (Rakesh Tikait Jaipur) ने एक बार फिर संसद घेराव की धमकी दी है।
 

नई दिल्ली। कृषि कानूनों को लेकर दिल्ली के गाजीपुर बॉर्डर पर किसान आंदोलन की अगुवाई कर रहे किसान नेता राकेश टिकैत (Rakesh Tikait Jaipur) ने एक बार फिर संसद घेराव की धमकी दी है। उन्होंने किसानों से कहा कि आपको जब भी दिल्ली जाने को कहा जाए तो बैरिकेड्स तोड़ने के लिए तैयार रहना होगा। टिकैत ने यह बातें मंगलवार को जयपुर में आयोजित किसान महापंचायत के दौरान कहीं।

भारतीय किसान यूनियन के प्रवक्ता राकेश टिकैत (Rakesh Tikait Jaipur) ने कहा कि प्रधानमंत्री कहते हैं कि आप अपनी फसल कहीं भी बेच सकते हैं और अब हम सब इसे साबित करके दिखाएंगे। उन्होंने कहा कि विधानसभाओं, कलेक्ट्रेट दफ्तर और संसद में भी अब अपनी फसल बेचेंगे। संसद से बढ़िया कोई और मंडी नहीं है। 

बंटने वाला नहीं किसान 

टिकैत (Rakesh Tikait Jaipur) ने कृषि कानूनों को लेकर केन्द्र पर निशाना साधते हुए कहा कि सरकार लोगों को जाति-धर्म में बांटा, लेकिन अब अन्नदाता बंटने वाले नहीं हैं। उन्होंने कहा कि किसानों से जब कहा जाए उन्हें तभी दिल्ली की तरफ चलना होगा। दिल्ली के बैरिकेड फिर तोड़ने पड़ेंगे।

उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री ने कहा कि किसान अपनी फसल को कहीं भी बेच सकता है। हम कहीं पर भी अपनी फसल बेच कर दिखायेंगे। मंडी के बाहर बेच कर दिखायेंगे, जो भारत सरकार का रेट है उस पर बेच कर दिखायेंगे और संसद में भी अपनी फसल बेच कर दिखायेंगे।

पूरे देश में आंदोलन हुआ शुरू

कृषि कानूनों के विरोध में जारी आंदोलन की ओर इशारा करते हुए राकेश टिकैत (Rakesh Tikait Jaipur) ने कहा कि पूरे देश में आंदोलन शुरू हो चुके हैं। किसानों को जागना पड़ेगा खासकर युवा साथियों की बड़ी जिम्मेदारी है कि आप चलो.. बढ़ो... जागो... उठो और लड़ो। उन्होंने कहा कि इस देश में ‘जय श्री राम’ और ‘जय भीम’ के नारे इकठ्ठे लगेंगे तभी देश बचेगा वरना देश लुट गया।

FROM AROUND THE WEB