लाल किला हिंसा: झंडा फहराने के मामले में फरार एक लाख का इनामी गुरजोत गिरफ्तार

26 जनवरी के दिन ट्रैक्टर रैली के दौरान लाल किले पर हुई हिंसा (Lal Quila Violence) और झंडा फहराने के मामले में एक लाख का इमानी आरोपी पकड़ा गया है।
 
लाल किले हिंसा: झंडा फहराने के मामले में फरार एक लाख का इनामी गुरजोत गिरफ्तार

नई दिल्ली। 26 जनवरी के दिन ट्रैक्टर रैली के दौरान लाल किले पर हुई हिंसा (Lal Quila Violence) और झंडा फहराने के मामले में एक लाख का इमानी आरोपी पकड़ा गया है। इस वॉन्टेड आरोपी को दिल्ली पुलिस के स्पेशल सेल ने पंजाब से गिरफ्तार किया है। आरोपी का नाम गुरजोत सिंह है। 

इस पर एक लाख रुपये का इनाम घोषित किया गया था। स्पेशल सेल ने इसे पंजाब के अमृतसर से गिरफ्तार किया है। पुलिस इस आरोपी को अब दिल्ली लेकर आ रही है।

बता दें कि किसान ट्रैक्टर रैली की आड़ में 26 जनवरी को दिल्ली के लाल किले पर हुई हिंसा (Lal Quila Violence) मामले में पुलिस ने अपनी जो चार्जशीट दायर की है उसमें पुलिस ने दावा किया है कि लाल किले पर कब्जा करके वहां पर नया धरना स्थल बनाने की साजिश रची गई थी। लाल किले पर हुई हिंसा पूर्वनियोजित थी। ये अचानक से नहीं हुई थी। इस चार्जशीट पर 28 मई को सुनवाई होगी।

13 आरोपी जमानत पर

अभिनेता दीप सिद्धू समेत कुल 16 लोगों को इस आरोपपत्र में आरोपी बनाया गया है। पुलिस से मिली जानकारी के अनुसार दीप सिद्ध, इकबाल सिंह और मोहिंदर सिंह खालसा समेत 16 में से 13 आरोपी जमानत पर हैं। वहीं तीन आरोपी मनिंदर सिंह, खेमप्रीत सिंह और जबरजंग सिंह अभी न्यायिक हिरासत में है।

अचानक नहीं हुई थी हिंसा

पुलिस ने कहा है कि 26 जनवरी को हुई हिंसा (Lal Quila Violence) कोई अचानक से हुई हिंसा नहीं थी। इसकी तैयारी पहले से ही हो चुकी थी। दंगाई हाथों में हथियार लिए लाल किले पर पहुंचे थे। उनके पास, हॉकी, तलवार, लाठी डंडे थे। करीब 300 उपद्रवी हाथों में तलवार लेकर वहां पहुचे थे। किसानों ने पुलिस से शांतिपूर्ण रैली करने की अनुमति मांगी थी, लेकिन उन्होंने रैली की आड़ में हिंसा को अंजाम दिया।

FROM AROUND THE WEB