संजय राउत का बड़ा बयान- 'PM मोदी का मुकाबला करने के लिए विपक्ष के पास नहीं कोई चेहरा'

 
संजय राउत का बड़ा बयान- 'PM मोदी का मुकाबला करने के लिए विपक्ष के पास नहीं कोई चेहरा'

NewzBox Desk: कुछ समय पहले महाराष्‍ट्र के मुख्‍यमंत्री उद्धव ठाकरे (Maharashtra CM Uddhav Thackeray) ने नई दिल्‍ली में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) से मुलाकात की थी। इसके बाद से शिवसेना प्रवक्‍ता संयज राउत (Sanjay raut) कई मौकों पर पीएम मोदी की तारीफ कर चुके हैं। 

एक बार फिर उन्‍होंने (Sanjay raut) कहा है कि अगले लोकसभा चुनावों में नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) का मुकाबला करने के लिए विपक्ष के पास कोई चेहरा नहीं है। जब तक विपक्ष के पास कोई चेहरा नहीं आता है, तब तक उसके जीतने का चांस नहीं है।

इन दिनों चर्चा है कि चुनावी रणनीतिकार प्रशांत किशोर (Prashant Kishor) विपक्ष के बड़े नेताओं से मुलाकात कर किसी बड़ी योजना पर काम कर रहे हैं। वह अब तक शरद पवार (Sharad Pawar), राहुल गांधी (Rahul Gandhi) और प्रियंका वाड्रा (Priyanka Gandhi Vadra) से मुलाकात कर चुके हैं। कहा यह भी जा रहा है कि वह 2024 में होने वाले आम चुनावों से पहले बीजेपी के खिलाफ मजबूत विपक्ष खड़ा करने की तैयारी में हैं। ऐसे में संजय राउत (Sanjay raut) का यह बयान काफी महत्‍वपूर्ण है।

'शरद पवार कर सकते हैं मोदी का मुकाबला'

हालांकि, संजय राउत (Sanjay raut) ने यह भी कहा है कि एनसीपी चीफ शरद पवार (Sharad Pawar) पीएम नरेंद्र मोदी से मुकाबला करने के लिए सही उम्‍मीदवार हैं। 2024 चुनाव में बिना किसी बड़े चेहरे के नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) को हराना मुश्किल होगा। ऐसे में शरद पवार उचित विकल्‍प हैं। राउत ने कहा कि राहुल गांधी कांग्रेस के बड़े नेता हैं, लेकिन उनसे भी बड़े नेता अभी मौजूद हैं। कांग्रेस में भी लीडरशिप को लेकर संकट है, इसीलिए अभी तक वहां पार्टी अध्‍यक्ष नहीं चुना जा सका है।

'देश के विपक्ष को साथ ला सकते हैं पीके'

शिवसेना सांसद संजय राउत (Sanjay raut) ने प्रशांत किशोर (Prashant Kishor) पर भी अपने विचार व्‍यक्‍त किए हैं। उन्‍होंने कहा कि पीके ने हालिया बंगाल चुनावों में अच्‍छा काम किया है, ऐसा तृणमूल कांग्रेस का कहना है। पीके ने महाराष्‍ट्र में हमारे साथ भी कुछ काम किया था। राउत ने कहा कि उन्‍हें नहीं मालूम कि पीके क्‍या करना चाहते हैं पर वह देश के विपक्ष को साथ लाने में बड़ा योगदान कर सकते हैं। अगर कोई गैर राजनीतिक नेता ऐसा काम करे तो उसको सब लोग मान्‍यता देते हैं।

FROM AROUND THE WEB