बुर्के पर बैन लगाने की तैयारी में ये पड़ोसी देश, हजार से ज्यादा इस्लामिक स्कूलों पर भी लगेगा ताला

यूरोप के कई देशों में बुर्के पर बैन (Ban on Burqa) की खबरों के बीच भारत के पड़ोसी देश ने भी बुर्के पर प्रतिबंध लगाने की तैयारी कर दी है।
 
बुर्के पर बैन लगाने की तैयारी में ये पड़ोसी देश, हजार से ज्यादा इस्लामिक स्कूलों पर भी लगेगा ताला

नई दिल्ली। यूरोप के कई देशों में बुर्के पर बैन (Ban on Burqa) की खबरों के बीच भारत के पड़ोसी देश ने भी बुर्के पर प्रतिबंध लगाने की तैयारी कर दी है। दरअसल, श्रीलंका की महिंदा राजपक्षे सरकार के एक मंत्री ने शनिवार को इसका ऐलान किया।

राजपक्षे सरकार के मंत्री ने कहा कि श्रीलंका जल्द ही बुर्के पर बैन (Ban on Burqa) लगाने जा रहा है। इसके अलावा देश में कम से कम 1 हजार इस्लामिक स्कूलों को भी बंद कर दिया जाएगा। बता दें कि श्रीलंका से पहले दुनिया के कई देश बुर्के पर प्रतिबंध लगा चुके हैं। कुछ दिन पहले ही स्विट्जरलैंड ने भी जनमत संग्रह कर बुर्के पर बैन (Ban on Burqa) लगाया था। 

बुर्के पर बैन को लेकर बिल पेश

श्रीलंका के सार्वजनिक सुरक्षा मंत्री सरथ वेरासेकेरा ने कहा कि उन्होंने कैबिनेट की मंजूरी के लिए एक बिल पर साइन किया है। इस बिल में राष्ट्रीय सुरक्षा के आधार पर मुस्लिम महिलाओं के बुर्के पर बैन (Ban on Burqa) की मांग की गई है। अगर यह बिल कैबिनेट से पारित हो जाता है तो श्रीलंका की संसद इस पर कानून बना सकती है।

मदरसों पर भी प्रतिबंध लगाने की तैयारी

वेरासेकेरा ने कहा कि सरकार ने एक हजार से अधिक मदरसा इस्लामिक स्कूलों पर प्रतिबंध लगाने की योजना बनाई है। उन्होंने यह भी कहा कि ये मदरसे श्रीलंका के राष्ट्रीय शिक्षा नीति की धज्जियां उड़ा रहे हैं। उन्होंने सख्त लहजे में कहा कि कोई भी स्कूल नहीं खोल सकता है बच्चों को आप जो भी चाहते हैं वह सिखा नहीं सकते हैं।

पहले भी बुर्के पर प्रतिबंध लगा चुका है श्रीलंका

बौद्ध बहुसंख्यक श्रीलंका में साल 2019 में इस्लामी आतंकवादियों के चर्चों होटलों में किए गए हमले के बाद भी कुछ समय के लिए बुर्का पहनने पर प्रतिबंध (Ban on Burqa) लगा दिया गया था। इस हमले में 250 से ज्यादा लोगों की मौत हुई थी। जिसके बार श्रीलंका ने कई आरोपियों को गिरफ्तार भी किया था।

इन देशों में पहले से है प्रतिबंध

यूरोप के कई देशों ने बुर्के पर आंशिक या पूर्ण रूप से प्रतिबंध (Ban on Burqa) लगाया हुआ है। इसमें नीदरलैंड, फ्रांस, ऑस्ट्रिया, बेल्जियम, जर्मनी, स्विट्जरलैंड डेनमार्क शामिल हैं। हाल के दिनों में जर्मनी, फ्रांस डेनमार्क ने कट्टरपंथ को देखते हुए भी कई तरह के नए प्रतिबंधों को लगाने का ऐलान किया हुआ है।

FROM AROUND THE WEB