कश्मीर में बीजेपी पार्षद राकेश पंडिता को आतंकियों ने मारी गोली, अंतिम संस्कार में फूटा परिजनों का गुस्सा

कश्मीर घाटी के पुलवामा का त्राल लंबे अरसे से आतंकियों का गढ़ माना जाता है। बुधवार को तीन आतंकियों ने त्राल से बीजेपी के नगर पार्षद राकेश पंडिता (Rakesh Pandita) की गोली मारकर हत्या कर दी।
 
कश्मीर में बीजेपी पार्षद राकेश पंडिता को आतंकियों ने मारी गोली, अंतिम संस्कार में फूटा परिजनों का गुस्सा

श्रीनगर। कश्मीर घाटी के पुलवामा का त्राल लंबे अरसे से आतंकियों का गढ़ माना जाता है। बुधवार को तीन आतंकियों ने त्राल से बीजेपी के नगर पार्षद राकेश पंडिता (Rakesh Pandita) की गोली मारकर हत्या कर दी। राकेश पंडिता का गुरुवार को त्राल में अंतिम संस्कार किया गया। इस दौरान उनके परिजनों में गहरा रोष देखने को मिला।

बता दें कि बुधवार को राकेश पंडिता (Rakesh Pandita) पर तब हमला किया गया जब वो अपने पड़ोसी से मिलने उसके घर गए थे और उस वक्त उनके साथ हमेशा रहने वाले उनके दो निजी सुरक्षा अधिकारी (PSO) मौजूद नहीं थे। मौका देखकर तीन आतंकियों ने उनपर हमला कर हत्या कर दी।

इस घटना के बाद कश्मीर के इंस्पेक्टर जनरल ने बताया कि बुधवार देर शाम तीन अज्ञात आतंकवादियों ने त्राल के नगर पार्षद राकेश पंडिता (Rakesh Pandita)पर गोलियां चलाईं। राकेश त्राल में रहते थे और उस दिन त्राल पाईन में अपने दोस्त से मिलने गए थे। उन्होंने बताया कि इस घटना में उसके दोस्त की बेटी गंभीर रूप से घायल हो गई। 

कुमार ने कहा,  राकेश श्रीनगर में सुरक्षित आवास में रह रहे थे और उनकी सुरक्षा के लिए दो PSO भी तैनात किए गए थे। हालांकि उस दिन त्राल की यात्रा के दौरान पार्षद PSO के साथ नहीं थे।  वहीं पुलिस और सुरक्षा बलों ने इलाके की घेराबंदी कर दी है और हमलावरों को पकड़ने के लिए बड़े पैमाने पर तलाशी अभियान शुरू कर दिया गया है। 

दूसरी तरफ आज राकेश पंडिता (Rakesh Pandita) का अंतिम संस्कार किया गया। इस दौरान उनके परिजनों में गहरा रोष देखने को मिला। उनका कहना है कि आंतकी और अलगाववादी ये नहीं चाहते कि कश्मीरी पंडित वापस घाटी में आकर बसें। इसीलिए हमें अक्सर निशाना बनाया जाता है। 

राकेश पंडिता (Rakesh Pandita) के बेटे ने कहा, पापा ही हमारे घर में कमाने वाले थे, मेरी मम्मी हाउस वाइफ हैं और चाचा विकलांग। मैं सरकार से यही चाहता हूं कि अगर ये साज़िश है तो पता किया जाए कि इसके पीछे कौन थे। 

FROM AROUND THE WEB