किसानों पर राजद्रोह: आज बड़ा प्रदर्शन करेंगे किसान, छावनी में तब्दील हुआ सिरसा

 
किसानों पर राजद्रोह: आज बड़ा प्रदर्शन करेंगे किसान, छावनी में तब्दील हुआ सिरसा

NewzBox Desk: हरियाणा विधानसभा (Haryana Vidhansabha) के उपाध्यक्ष रणबीर गंगवा (Ranbir Singh Gangwa) की गाड़ी पर पथराव मामले में 5 किसानों (Farmer) पर राजद्रोह की धाराओं में केस (Case) दर्ज करने मामला गर्माता जा रहा है। मामले में बीते शुक्रवार को किसान संगठन (Farmers Union) और प्रशासन के बीच हुई बैठक में कोई नतीजा नहीं निकल सका। 

किसान संगठन (Farmers Union) गिरफ्तार पांचों किसानों की रिहाई की मांग पर अड़े रहे, लेकिन प्रशासन इस पर तैयार नहीं हुआ। इसके बाद किसानों ने शनिवार यानी आज एसपी कार्यालय (SP Office) का घेराव करने का ऐलान कर दिया है। इसके चलते प्रशासन ने सतर्कता बढ़ा दी है और सिरसा को छावनी में तब्दील कर दिया गया। यहां बड़ी संख्या में पुलिस बल को तैनता किया गया है। साथ ही पुलिसवालों की छुट्टियां भी रद्द कर दी गई हैं।

बता दें कि शुक्रवार को लघु सचिवालय में उपायुक्त अनीश यादव, पुलिस अधीक्षक अर्पित जैन, एडीसी उत्तम सिंह ने लघु सचिवालय में किसान लखविंद्र सिंह औलख, मैक्स साहुवाला, हैप्पी रानियां, गुरप्रेम देसूजोधा, बलवंत सिंह के साथ बैठक की। 

किसानों ने कहा कि पुलिस ने 11 जुलाई के दिन उनके किसान नेताओं को गिरफ्तार किया, जबकि वे शांतिमय तरीके से रोष प्रदर्शन कर रहे थे। किसानों ने कहा कि पुलिस ने उनके खिलाफ राजद्रोह की धारा किस आधार पर लगाई। हमने क्या अपने ही देश के खिलाफ विद्रोह किया। इस पर पुलिस अधिकारी कोई संतोषजनक जवाब नहीं दे पाए।

प्रदर्शन स्थल बदलने कहा

बताया जा रहा है कि बैठक में प्रशासन द्वारा किसानों से कहा गया कि वे शहीद भगत सिंह स्टेडियम की बजाय दशहरा ग्राउंड और ग्लोबल सिटी स्पेस में प्रदर्शन करें। 

शहीद भगत सिंह स्टेडियम में भीड़ इकट्ठा करने पर अनियंत्रित हो सकती है। इसके जवाब में बैठक में शामिल किसान नेताओं ने कहा कि संयुक्त किसान मोर्चा के निर्देश पर यह फैसला लिया गया है। वहीं उन्होंने स्पष्ट कहा कि उन्होंने शहीद भगत सिंह स्टेडियम में ही किसानों को इकट्ठा करने की कॉल की है, किसान अपने वाहन तो दशहरा ग्राउंड में खड़े कर सकते हैं। मगर एसपी कार्यालय का घेराव हर हाल में किया जाएगा।

पुलिस छावनी बना सिरसा

किसानों के प्रदर्शन के मद्देनजर लघु सचिवालय के मुख्यद्वार समेत आसपास के इलाके को सील कर दिया गया। सिरसा पुलिस ने प्रदर्शन को देखते हुए पुलिस की पांच कंपनियां, आर्म्ड पुलिस की चार कंपनियां, आईआरबी की चार कंपनियां समेत रैपिड एक्शन फोर्स की 10 कंपनियां मांगी है। 

बीते शुक्रवार शाम तक रैपिड एक्शन फोर्स की चार व महिला पुलिस की तीन कंपनियां सिरसा पहुंच भी गई। ड्रोन से भी प्रदर्शन पर नजर रखी जाएगी। किसान नेता लखविंद्र सिंह औलख ने बयान जारी कर कहा कि पांचों किसानों की रिहाई के लिए एसपी कार्यालय का घेराव किया जाएगा। यह घेराव अनिश्चितकालीन होगा।

FROM AROUND THE WEB