UP Block Pramukh Chunav: वोटिंग और फिर काउंटिंग आज, SP या BJP… किसके हाथ लगेगी बाजी?

 
UP Block Pramukh Chunav: वोटिंग और फिर काउंटिंग आज, SP या BJP… किसके हाथ लगेगी बाजी?

NewzBox Desk: यूपी में ब्लॉक प्रमुख चुनाव (UP Block Pramukh Chunav) के लिए आज 825 सीटों में 476 के लिए मतदान जारी है। 349 ब्लॉक प्रमुख निर्विरोध निर्वाचित हो चुके हैं। इसमें से बीजेपी के 318 प्रत्याशी निर्विरोध निर्वाचित हुए हैं, सपा के 17 जबकि 15 ब्लॉक में निर्दलीय निर्विरोध चुने गए हैं। सुबह 11 बजे से दोपहर 3 बजे तक मतदान होगा और दोपहर 3 के बाद काउंटिंग शुरू हो जाएगी।

काउंटिंग के लिए मतगणना स्थलों पर सुरक्षा के कड़े इंतजाम किए गए हैं। यहां भारी संख्या में पुलिस बल के साथ पीएसी तैनात हैं। कई अधिकारियों को जिम्मेदारी सौंपी गई है और जिलों के कप्तानों को निर्देश दिए गए है। इस दौरान चुनाव (UP Block Pramukh Chunav) प्रभावित करने वालों पर कड़ी कार्रवाई की जाएगी। डीएम और एसएसपी मतगणना स्थलों पर मौजूद रहेंगे।

349 ब्लॉक प्रमुख निर्विरोध, BJP का 332 पर दावा

प्रदेश में 825 ब्लॉक के प्रमुखों (UP Block Pramukh Chunav) के लिए चल रहे चुनाव में 349 सीटों पर निर्विरोध निर्वाचन हुआ है। शुक्रवार को नाम वापसी के बाद राज्य निर्वाचन आयोग ने इसके आंकड़े जारी कर दिए हैं। शनिवार को 476 पदों पर चुनाव होंगे। वहीं बीजेपी ने दावा किया है कि उसके 334 समर्थित प्रत्याशी निर्विरोध निर्वाचित हुए हैं।

28 ब्लॉक ऐसे थे जहां पर प्रमुख पद के लिए एक से अधिक नामांकन आए थे। लेकिन, नामांकन रद होने के कारण यहां भी निर्विरोध निर्वाचन हो गया। राज्य निर्वाचन आयुक्त मनोज कुमार ने बताया कि 825 ब्लॉक प्रमुख (UP Block Pramukh Chunav) के पदों के सापेक्ष 1778 नामांकन प्राप्त हुए थे। इसमें 68 नामांकन रद हो गए। 187 उम्मीदवारों ने अपना नामांकन वापस ले लिया है।

अब कुल 1710 प्रत्याशी बचे हुए हैं। शनिवार को 11 बजे से 3 बजे तक मतदान होगा उसके बाद मतगणना कराई जाएगी। 2015 में 385 ब्लॉक प्रमुख निर्विरोध निर्वाचित हुए थे और 431 पदों पर चुनाव हुआ था।

लखनऊ में SP-BJP में कड़ी टक्कर

ब्लॉक प्रमुख के चुनाव (UP Block Pramukh Chunav) में लखनऊ के सभी ब्लॉकों में सपा और बीजेपी में सीधी टक्कर नजर आ रही है। मोहनलालगंज से निर्दल प्रत्याशी अंकुर द्विवेदी के हटने के बाद यहां भी अब दोनों पार्टियों के उम्मीदवार आमने-सामने आ गए हैं। हालांकि चिनहट ब्लॉक में निर्दल उम्मीदवार और प्रसपा उम्मीदवार ने समीकरण बदल दिए हैं। इस सीट के नतीजे चौंकाने वाले होने की उम्मीद है।

मोहनलालगंज से निर्दल उम्मीदवार के नाम वापस लेने से एक खेमे में खलबली मच गई है। दरअसल निर्दल उम्मीदवार के हटने से यहां प्रबल दावेदार माने जा रहे उम्मीदवार की सीट निकलती नजर आ रही है। बीजेपी के जिला अध्यक्ष श्रीकृष्ण लोधी की मौजूदगी में शुक्रवार को अंकुर ने खंड विकास कार्यालय पहुंचकर अपना नामांकन पत्र वापस लिया।

चिनहट सीट पर दिलचस्प मुकाबला

चर्चा है कि यूपीसीएलडीएफ के चेयरमैन वीरेंद्र कुमार तिवारी के हस्तक्षेप के बाद निर्दलीय उम्मीदवार की नाम वापसी हुई है। फिलहाल बीजेपी अब मोहनलालगंज की सीट पर अपनी जीत पक्की मान रही है। वहीं चिनहट सीट पर चार उम्मीदवारों के होने की वजह से मुकाबला दिलचस्प हो गया है।

यहां से सपा की ओर से जहां शशि यादव मैदान में हैं, वहीं बीजेपी से मंजू सिंह ने नामांकन कर दावा पेश किया है, लेकिन निर्दलीय प्रत्याशी ऊषा यादव और प्रसपा के जिलाध्यक्ष रंजीत यादव की पत्नी संतोष के नामांकन करने से यहां सपा को वोट बैंक लड़खड़ाता नजर आ रहा है।

सूत्रों की मानें तो मतों का ध्रुवीकरण देख बीजेपी इस सीट पर भी अपना दावा मजबूत मान रही है। इसके अलावा बीकेटी में सपा से रेनू यादव और बीजेपी से ऊषा सिंह, गोसाईंगंज में सपा से अनुज और बीजेपी से विनय वर्मा, सरोजनीनगर में सपा से दिलीप रावत और बीजेपी से सुनील कुमार मैदान में हैं। इन सीटों पर बीजेपी और सपा उम्मीदवारों में सीधी टक्कर मानी जा रही है।

मलिहाबाद सीट बीजेपी के लिए अहम

मलिहाबाद सीट बीजेपी हर हाल में जीतना चाहती है। इसके लिए हर जुगत लगाई जा रही है। इस सीट से बीजेपी के वरिष्ठ नेताओं की भी प्रतिष्ठा जुड़ी है। यहां से बीजेपी की ओर से निर्मल वर्मा और सपा से विद्यावती गौतम आमने-सामने हैं।

नामांकन के दौरान गुरुवार को इस सीट पर मामूली झड़प का मामला भी सामने आया था। इसीलिए प्रशासन ने इस सीट पर मतदान व मतगणना के दौरान सुरक्षा के भी विशेष इंतजाम किए हैं।

FROM AROUND THE WEB