UP चुनाव: अखिलेश यादव से मिले संजय सिंह, गठबंधन को लेकर अटकलें तेज

 
UP चुनाव: अखिलेश यादव से मिले संजय सिंह, गठबंधन को लेकर अटकलें तेज

नई दिल्ली। आम आदमी पार्टी के सांसद संजय सिंह (Akhilesh Yadav Sanjay Singh Meeting) ने शनिवार को समाजवादी पार्टी के प्रमुख अखिलेश यादव से मुलाकात की। संजय सिंह अचानक आज लखनऊ स्थित सपा दफ्तर पहुंचे, जिससे प्रदेश की सियासत में हलचल पैदा हो गई। थोड़ी ही देर बाद अखिलेश और संजय सिंह की मुलाकात की खबरें सामने आ गई। 

इस खबर के बाद से अटकलों का दौर शुरू हो गया है। कयास लगा जा रहे हैं कि क्या आगामी विधानसभा चुनाव के लिए आप और सपा के बीच गठबंधन हो सकता है।

क्या बोले संजय सिंह

संजय सिंह ने अखिलेश से मुलाकात (Akhilesh Yadav Sanjay Singh Meeting) की बात स्वीकार करते हुए कहा कि उन्होंने सपा अध्यक्ष को जन्मदिन की बधाई दी और प्रदेश के मौजूदा राजनीतिक हालात पर चर्चा की। दोनों नेताओं के बीच यह मुलाकात लखनऊ स्थित सपा के प्रदेश मुख्यालय में हुई। राज्य में विधानसभा चुनावों में चंद महीने बाकी रह गए हैं, ऐसे में आम आदमी पार्टी (आप) के प्रदेश प्रभारी की अखिलेश से मुलाकात के राजनीतिक मायने निकाले जा रहे हैं। हालांकि इस बारे में पूछे जाने पर संजय सिंह ने कुछ भी कहने से इनकार कर दिया।

क्या आगामी विधानसभा चुनाव में समाजवादी पार्टी और आम आदमी पार्टी का गठबंधन हो सकता है? इस सवाल पर संजय सिंह (Akhilesh Yadav Sanjay Singh Meeting) ने कहा कि हम अभी इस बारे में कुछ भी नहीं कह सकते। गौरतलब है कि उत्तर प्रदेश में अगले साल की शुरुआत में विधानसभा चुनाव होने हैं। आम आदमी पार्टी राज्य के सियासी मैदान में अपने कदम जमाने की कोशिश कर रही है और विभिन्न मुद्दों पर राज्य की भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) नीत सरकार को घेर रही है।

बता दें कि बीते दिन बहुजन समाज पार्टी (बीएसपी) अध्यक्ष मायावती ने कहा था कि समाजवादी पार्टी (Akhilesh Yadav Sanjay Singh Meeting) की यह लाचारी है कि वह उत्तर प्रदेश में आगामी विधानसभा चुनाव छोटी पार्टियों के साथ मिलकर लड़ेगी। उन्होंने कहा कि समाजवादी पार्टी ऐसा इसलिए करने पर मजबूर हैं क्योंकि देश की अधिकतर बड़ी व प्रमुख पार्टियां चुनाव में इनसे किनारा करना ही ज्यादा बेहतर समझती हैं।

दरअसल, समाजवादी पार्टी प्रमुख अखिलेश यादव (Akhilesh Yadav Sanjay Singh Meeting) साल 2022 में होने वाले विधानसभा चुनाव में किसी भी बड़े राजनीतिक दल से गठबंधन से साफ इंकार कर चुके हैं। उन्होंने कुछ समय पहले कहा था कि समाजवादी पार्टी छोटी पार्टियों के साथ मिलकर चुनाव मैदान में उतरेगी।

FROM AROUND THE WEB