बंगाल चुनाव से पहले बीजेपी को बड़ा झटका, दिग्गज नेता यशवंत सिन्हा टीएमसी में शामिल

पश्चिम बंगाल विधानसभा चुनाव से पहले दल बदलने का सिलसिला जारी है। इसी कड़ी में पूर्व विदेश मंत्री और बीजेपी के दिग्गज नेता यशवंत सिन्हा (Yashwant Sinha Join TMC) ने तृणमूल कांग्रेस का दामन थाम लिया है।
 
बंगाल चुनाव से पहले बीजेपी को बड़ा झटका, दिग्गज नेता यशवंत सिन्हा टीएमसी में शामिल

कोलकाता। पश्चिम बंगाल विधानसभा चुनाव से पहले दल बदलने का सिलसिला जारी है। इसी कड़ी में पूर्व विदेश मंत्री और बीजेपी के दिग्गज नेता यशवंत सिन्हा (Yashwant Sinha Join TMC) ने तृणमूल कांग्रेस का दामन थाम लिया है। अटल बिहारी वाजपेयी की सरकार में वित्त और विदेश मंत्री रह चुके यशवंत सिन्हा शनिवार को कोलकाता में तृणमूल कांग्रेस में शामिल हुए।

बता दें कि 2014 में नरेंद्र मोदी के प्रधानमंत्री बनने के बाद से यशवंत सिन्हा बीजेपी से नाराज चल रहे थे। इसी नाराजगी के दौरान उन्होंने पार्टी भी छोड़ दी थी। टीएमसी में शामिल होने से पहले यशवंत सिन्हा (Yashwant Sinha Join TMC) ने ममता बनर्जी से उनके आवास पर मुलाकात की। मुलाकात के बाद सिन्हा ने केंद्र की मोदी सरकार पर जमकर हमला बोला।

बीजेपी पर बोला हमला

यशवंत सिन्हा (Yashwant Sinha Join TMC) ने कहा कि देश दोराहे पर खड़ा है। हम जिन मूल्यों पर भरोसा करते हैं, वे खतरे में हैं। न्यायपालिका समेत सभी संस्थानों को कमजोर किया जा रहा है। पूर्व विदेश मंत्री सिन्हा ने कहा कि यह पूरे देश के लिए एक अहम लड़ाई है। यह कोई राजनीतिक लड़ाई नहीं है बल्कि लोकतंत्र बचाने की लड़ाई है।

यशवंत सिन्हा (Yashwant Sinha Join TMC) ने कहा कि ममता जी और मैंने साथ में मिलकर अटल जी के साथ उनकी सरकार में काम किया था। ममता जी शुरू से ही फाइटर रही हैं। मैं आपको बताना चाहता हूं कि जब इंडियन एयरलाइंस के विमान का अपहरण हो गया था और जब उसे आतंकवादी कंधार ले गए थे तो एक दिन कैबिनेट में चर्चा हो रही थी। उसी चर्चा में ममता जी ने कहा कि वो स्वयं बंधक बनकर जाएंगी वहां पर, लेकिन शर्त ये होगी जो बाकी बंधक हैं उन्हें छोड़ दिया जाए।


अटल सरकार में रेल मंत्री थीं ममता

टीएमसी ज्वाइन करते हुए यशवंत सिन्हा (Yashwant Sinha Join TMC)ने कहा कि आप सभी को आश्चर्य हो रहा होगा कि क्यों इस उम्र में आकर मैंने दलगत राजनीति से खुद को अलग कर लिया था तो फिर किसी पार्टी में शामिल होकर सक्रिय हो रहा हूं। आज के समय में देश एक अद्भुत बदलाव की स्थिति से गुजर रहा है। अभी तक जिन मूल्यों को हम महत्व देते थे और ये सोचकर चलते थे कि इस पर प्रजातंत्र में हर कोई अमल करेगा ही, वो मूल्य आज खतरे में हैं। हम सभी इस बात से परिचित हैं कि प्रजातंत्र की ताक़त प्रजातंत्र की संस्थाएं होती हैं। जो आज लगभग, हर संस्था कमजोर हो चुकी है और इस बात का बेहद अफसोस है कि इसमें न्यायपालिका भी शामिल है।

सरकार की मनमानी बर्दाश्त नहीं 

सिन्हा ने कहा कि सरकार के मनमानेपन पर अंकुश लगाने वाला कोई नहीं है। हमारे देश के लिए यह सबसे बड़ा खतरा पैदा हो गया है। प्रजातंत्र का मतलब सिर्फ 5 साल में चुनाव और वोटो से नहीं है। पूर्व केंद्रीय मंत्री (Yashwant Sinha Join TMC) ने कहा कि इसका मतलब है कि जो लोग चुनकर आए वो लोगों के लिए काम करें। किसान आज परेशान हैं लेकिन किसी को कोई चिंता नहीं। मजदूर पलायन करके कैसे गए वो हम सबने देखा। शिक्षा, स्वास्थ्य ये सब आज दुर्दिन से गुजर रहे हैं और सरकार को कोई चिंता नहीं है।

सिन्हा (Yashwant Sinha Join TMC) ने कहा कि बंगाल में चुनाव होने जा रहे हैं और इसमें कोई शक नहीं है कि टीएमसी बहुमत के साथ वापस आएगी। बंगाल से एक संदेश जाना चाहिए कि देश अब इसको बर्दाश्त नहीं करेगा। मोदी और शाह दिल्ली से जो चला रहे हैं, उसे देश अब बर्दाश्त नहीं करेगा।

FROM AROUND THE WEB