योगी जी कड़ी मेहनत कर रहे हैं... काशी पहुंच PM मोदी ने 'कर्मठ' योगी जमकर की तारीफ

 
योगी जी कड़ी मेहनत कर रहे हैं... काशी पहुंच PM मोदी ने 'कर्मठ' योगी जमकर की तारीफ

NewzBox DesK: PM Modi Kashi Visit: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) अपने संसदीय क्षेत्र वाराणसी (PM Modi Varanasi Visit) के दौरे पर हैं। वाराणसी का उनका यह 27वां दौरा है। यहां वो 5 घंटे में काशी में रहेंगे और 1,500 करोड़ रुपये की नई सौगात देंगे। प्रधानमंत्री BHU में मातृ एवं शिशु स्वास्थ्य इकाई का उद्घाटन भी किया। 

इससे पहले, पीएम (PM Narendra Modi) का विशेष विमान जब बाबतपुर एयरपोर्ट पर उतरा तो उत्तर प्रदेश की गवर्नर आनंदीबेन पटेल (Anandiben Patel) और मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (CM Yogi Adityanath) ने उनकी अगुवानी की। आइए जानते हैं पीएम मोदी (PM Modi speech) के भाषण की बड़ी बातें...

भोजपुरी से भाषण की शुरुआत

प्रधानमंत्री ने अपने भाषण (PM Modi speech) की शुरुआत भोजपुरी भाषा से की। उन्होंने तीन पंक्तियां भोजपुरी में बोलीं। पीएम (PM Modi Kashi Visit) ने कहा, 'लंबे समय बाद आप सब लोगन से सीधा मुलाकात के अवसर मिलल हौ। काशी के सभी लोगन के प्रणाम। हम समस्त लोग के दुख हरे वाले भोलेनाथ, माता अन्नपूर्णा के चरण भी शीश झुकावत हईं।'

मोदी योगी के लिए बांधा तारीफों के पुल

मोदी ने भाषण (PM Modi speech) के शुरुआत में ही कोरोना की दूसरी लहर बात की और इस दौरान यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ (CM Yogi Adityanath) की खूब पीठ थपथपाई। उन्होंने कहा, 'बीते कुछ महीने हम सभी के लिए, पूरी मानव जाति के लिए बहुत मुश्किल भरे रहे हैं। कोरोना वायरस के बदलते हुए और खतरनाक रूप ने पूरी ताकत के साथ हमला किया था, लेकिन काशी सहित यूपी ने पूरे सामर्थ्य के साथ इतने बड़े संकट का मुकाबला किया।'

पीएम मोदी (PM Modi speech) ने आगे कहा, 'देश का सबसे बड़ा प्रदेश जिसकी आबादी दुनिया के दर्जनों बड़े-बड़े देशों से भी ज्यादा हो, वहां कोरोना की दूसरी वेव को जिस तरह संभाला, सेकंड वेव के दौरान यूपी ने जिस तरह कोरोना संक्रमण को फैलने से रोका, वो अभूतपूर्व है। वरना, यूपी के लोगों ने वो दौर भी देखा है जब दिमागी बुखार, इन्सेफलाइटिस जैसी बीमारियों का सामना करने में यहां कितनी मुश्किल आती थी।'

मोदी का संदेस- योगी के साथ खड़ा है केंद्र

प्रधानमंत्री ने मंच पर बैठे योगी अभिनंदन करते वक्त उनके नाम से पहले जिन-जिन शब्दों का इस्तेमाल किया, वो अपने-आप में बड़ा संदेश दे रहे हैं। पीएम ने योगी के लिए कहा, 'यूपी के यशस्वी, उर्जावान और कर्मठ मुख्यमंत्री श्रीमान योगी आदित्यनाथ जी।' 

अगले साल की शुरुआत में यूपी विधानसभा चुनाव से पहले योगी की तारीफ करके पीएम ने प्रदेश की जनता को साफ संदेश दे दिया है कि योगी को उनका पूरा समर्थन हासिल है। प्रधानमंत्री का यह संदेश इसलिए भी ज्यादा मायने रखता है क्योंकि कुछ दिनों पहले ही सीएम योगी को लेकर तरह-तरह की बातें की जा रही थीं। खासकर, 5 जून को योगी को जन्मदिवस की बधाई किसी केंद्रीय नेतृत्व ने नहीं दी तो इसके कई मायने निकाले जाने लगे थे। हालांकि, बाद में योगी की दिल्ली में पीएम, गृह मंत्री अमित शाह और बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा से मुलाकात हुई और अटकलों पर विराम लग गया।

पूरी काशी में दिखेगी गंगा की लाइव आरती

पीएम ने गंगा आरती के लाइव प्रसारण के लिए एलईडी स्क्रीन्स लगाने का ऐलान किया। उन्होंने कहा, 'पूरी काशी में दिखेगी गंगा की लाइव आरती, LED स्क्रीन लगाई जाएंगी। बड़ी स्क्रीन्स के माध्यम से गंगा जी के घाट पर और काशी विश्वनाथ मंदिर में होने वाली आरती का प्रसारण पूरे शहर में संभव हो पाएगा। शहर में जगह-जगह लग रही बड़ी-बड़ी LED स्क्रीन्स और घाटों पर लग रहे टेक्नॉलॉजी से लैस इन्फॉर्मेशन बोर्ड, ये काशी आने वालों की बहुत मदद करेंगे।'

यूपी में अब भाई-भतीजावाद नहीं, विकासवाद

पीएम मोदी ने प्रदेश की पुरानी सरकारों पर भी निशाना साधा और मौजूदा सरकार की तारीफ की। उन्होंने कहा, 'यूपी में सरकार आज भ्रष्टाचार और भाई-भतीजावाद से नहीं विकासवाद से चल रही है। इसीलिए, आज यूपी में जनता की योजनाओं का लाभ सीधा जनता को मिल रहा है। इसीलिए, आज यूपी में नए-नए उद्योगों का निवेश हो रहा है, रोजगार के अवसर बढ़ रहे हैं। आज यूपी में कानून का राज है। माफियाराज और आतंकवाद, जो कभी बेकाबू हो रहे थे, उन पर अब कानून का शिकंजा है। बहनों-बेटियों की सुरक्षा को लेकर माँ-बाप हमेशा जिस तरह डर और आशंकाओं में जीते थे, वो स्थिति भी बदली है।' पीएम ने कहा, 'आज योगी जी खुद कड़ी मेहनत कर रहे हैं।'

सड़कों के चौड़ीकरण और निर्माण का जिक्र

पीएम ने वाराणसी और आसपास के इलाकों में परिचालन व्यवस्था में सुधार की दिशा में उठाए गए कदमों का भी जिक्र किया। उन्होंने अपने भाषण में कहा, 'पंचकोशी मार्ग का चौड़ीकरण पूरा होने से श्रद्धालुओं को भी सुविधा होगी और इस मार्ग पर पड़ने वाले दर्जनों गांवों का जीवन भी आसान बनेगा। वाराणसी-गाजीपुर मार्ग पर जो सेतु है, उस के खुलने से प्रयागराज, गाजीपुर, बलिया, गोरखपुर और बिहार आने-जानेवालों को भी बहुत आसानी होगी। गदौलिया में मल्टि लेवल टू विलर पार्किंग बनने से कितनी किच-किच कम होगी, ये बनारस के लोगों को भलीभांति पता है। वहीं, लहरतारा से चौका घाटा फ्लाइओवर के नीचे भी पार्किंग से लेकर दूसरी जनसुविधाओं का निर्माण भी जल्द पूरा हो जाएगा।'

क्या है रुद्राक्ष सेंटर, पीएम ने दी जानकारीप

पीएम मोदी वाराणसी में रुद्राक्ष सेंटर का उद्घाटन भी करेंगे। उन्होंने इसके बारे में बताते हुए कहा, 'मैं इसके बाद थोड़ी देर में रुद्राक्ष के रूप में इंटरनैशनल कन्वेंशन सेंटर को भी काशीवासियों को सौंपने जा रहा हूं। काशी से विश्वस्तरीय साहित्यकार, संगीतकार और अन्य कलाओं के कलाकारों ने विश्वस्तर पर धूम मचाई है, लेकिन काशी में ही उनके कलाओं के प्रदर्शन के लिए कोई विश्वस्तरीय सुविधा नहीं थी। आज मुझे खुशी हो रही है कि काशी के कलाकारों को अपनी विद्या दिखाने के लिए, अपनी कला दिखाने के लिए एक मंच मिल रहा है।'

आधुनिक ज्ञान-विज्ञान का केंद्र बनेगी काशी

पीएम मोदी ने सीपैट सेंटर की भी आधारशिला रखी है। उन्होंने कहा, 'काशी के पुरातन वैभव की समृद्धि ज्ञान के गंगा से भी जुड़ी हुई है। ऐसे में काशी का आधुनिक ज्ञान और विज्ञान के केंद्र के रूप में भी निरंतर विकास जरूरी है। योगी जी की सरकार आने के बाद इस दिशा में जो प्रयास हो रहे थे, उनमें और तेजी आई है। आज भी मॉडल स्कूल, आईटीआई, पॉलिटेक्निक जैसे अनेक संस्थान और नई सुविधाएं काशी को मिली हैं। आज सीपैट के सेंटर फॉर स्कीलिंग और टेक्निकल सपॉर्ट की जो आधारशिला रखी गई है, वो काशी ही नहीं बल्कि पूर्वांचल के औद्योगिक विकास को भी उर्जा देगा। ऐसे संस्थान आत्मनिर्भर भारत के निर्माण के लिए कुशल युवाओं के प्रशिक्षण में काशी की भूमिका को और मजबूत करेंगे।'

FROM AROUND THE WEB