शुरू हुए मां भगवती के चैत्र नवरात्रि, घर पर ही करें माता रानी की आराधना… बरसेगी मां की कृपा

Chaitra Navratri 2020

Chaitra Navratri 2020: देश को 3 सप्ताह यानि 21 दिनों के लिए पूर्ण लाकडाउन कर दिया गया है। इस बीच 25 मार्च, बुधवार से नवरात्रि शुरू हो गए हैं। आज चैत्र नवरात्रि का पहला दिन है।

लेकिन, कोरोना के खतरे और लॉकडाउन के कारण देशभर के शक्तिपीठों के कपाट बंद हैं। इसलिए ऐसे में इस बार घर में रह कर माता रानी की अराधना करें।

पहले दिन होता है मां शैलपुत्री का पूजन

चैत्र नवरात्रि के पहले मां दुर्गा के प्रथम रूप शैलपुत्री का पूजन किया जाता है। मान्यता है कि शैलपुत्री पर्वतराज हिमालय की बेटी हैं। नवरात्रि में शैलपुत्री पूजन का विशेष महत्वर है। इस दौरान कई भक्त पूजन के अलावा नौ दिनों का व्रत भी रखते हैं।

व्रत में रखें खास ख्याल

इस बार कोरोना के खतरे को देखते हुए व्रत के दौरान कुछ न खाना आपकी सेहत के लिए लिहाज से बिल्कुल भी अच्छा नहीं है। यदि आप बीमार हैं, तो व्रत रखने का जोखिम ना उठाएं। व्रत ना रखने वाले भी मां दुर्गा को प्रसन्न कर सकते हैं। आप कुछ ऐसे अच्छे कामों कर सकते है जिससे माता रानी को प्रश्न हो जाएंगी।

कर सकते हैं दान

पौराणिक कहानियों में दान की महत्व को सबसे ऊपर रखा गया है। दान का महत्व उस वक्त और भी बढ़ जाता है जब देश में ऐसे हालात हो। अपनी जरूरत को पूरा करते हुए अगर आप किसी को अन्न, जल या कोई अन्य चीज देते हैं, तो सही मायनों में इसका तप व्रत से ज्यादा है। इंसान हो या जानवर किसी भी जीव को दान करना सबसे श्रेष्ठ कार्यों में से एक है।

जानवरों की करें मदद

प्रत्येक जीव को ईश्वर की संतान माना जाता है लेकिन जानवरों, पक्षियों पर भगवान की विशेष कृपा होती है क्योंकि वो इंसानों की तरह छल-कपट से दूर रहते हैं। ऐसे में कोरोना के बढ़ते खतरे के बीच अथवा मुश्किल की इस घड़ी में हम जानवरों की थोड़ी मदद करनी चाहिए।

वैसे तो घरों में बचे हुए खाने से ही उनका जीवन चलता है, लेकिन यदि आप प्रसाद के तौर पर खाना बनाते समय 1-2 रोटी उनके लिए निकालकर रख सकते हैं, तो इससे माता रानी प्रश्न होगी। जी हां, खाने को किसी साफ जगह पर रखकर जानवरों की मदद करें। ऐसे में संकट की इस घड़ी में छोटे-छोटे प्रयासों से मानवता का धर्म निभाएं।

अपनी गलतियों के लिए क्षमा मांगना

दुनिया में ऐसा कोई व्यक्ति नहीं है, जिससे कभी कोई गलती न हुई हो। ऐसे में अगर आपसे भी कोई ऐसी गलती हो गई है जिसे आपने सुधारा नहीं है, तो आप मां दुर्गा से क्षमा मांगकर जीवन में आगे बढ़ सकते हैं।