कलयुग में कामयाबी दिलाते हैं हनुमानजी के 7 चमत्कारी मंत्र, राशि के अनुसार करें जाप

Lord Hanuman Mantra
New Delhi: सनातन परंपरा में हनुमत (Lord Hanuman) भक्ति के बारे में मान्यता है कि जो कोई व्यक्ति पूरी श्रद्धा भाव से हनुमत स्तवन करता है, देवाधिदेव श्री बजरंगबली उसे अपनी उपस्थिति का अहसास जरूर कराते हैं।

श्री हनुमानजी (Lord Hanuman) की सच्चे मन से साधना-आराधना करने वाले को बड़े से बड़े कष्ट से मुक्ति मिल जाती है। यदि आप राम भक्त और भगवान शिव के 11वें रुद्रावतार का मंत्र अपनी राशि अनुसार जपते हैं तो आपकी सभी मनोकामनाएं पूरी हो जाएंगी और तमाम तरह के ग्रह दोष से मुक्त हो जाएंगे। शनि, राहु-केतु आदि ग्रहों का दुष्प्रभाव आप पर नहीं पड़ेगा।

यह भी पढ़ें : पाकिस्तान में स्थित हैं ये 4 पौराणिक मंदिर, जहां मुस्लिम भी रखते हैं आस्था

मेष एवं वृश्चिक

मेष और वृश्चिक राशि के स्वामी मंगल हैं। जीवन को मंगलमय बनाने इस राशि के जातक ‘ॐ अं अंगारकाय नमः’ मंत्र का जाप करें। साथ ही साथ हनुमान जी का दिव्य मंत्र ‘मनोजवं मारुततुल्यवेगं, जितेन्द्रियं बुद्धिमतां वरिष्ठ। वातात्मजं वानरयूथमुख्यं, श्रीरामदूतं शरणं प्रपद्ये॥‘ जप करें। सुख-समृद्धि और सेहत से जुड़ी आपकी मनोकामना अवश्य पूरी होगी।

वृष और तुला

वृष और तुला राशि के स्वामी शुक्र हैं। इस राशि से जुड़े जातकों को मारुतिनंदन का आशीर्वाद पाने के लिए ‘ॐ हं हनुमते नम:।‘ मंत्र का जप करें। श्रद्धापूर्वक इस मंत्र का जप करने से निश्चित रूप से आपकी मनोकामना पूर्ण होगी।

मिथुन और कन्या

मिथुन और कन्या राशि के स्वामी बुध हैं। इस राशि के जातकों को संकटों से मुक्ति और सफलता के लिए हनुमान जी को शीघ्र प्रसन्न करने वाला सुंदरकांड का पाठ करना चाहिए। यदि प्रतिदिन पाठ न संभव हो तो ”अतुलितबलधामं हेमशैलाभदेहं दनुजवनकृशानुं ज्ञानिनामग्रगण्यम्। सकलगुणनिधानं वानराणामधीशं रघुपतिप्रियभक्तं वातजातं नमामि॥” मंत्र का नित्य जाप करें।

कर्क

कर्क राशि के स्वामी चन्द्रमा हैं। इस राशि के जातक को अपने मनोबल में वृद्धि और आत्मविश्वास को कायम रखने के लिए नित्य श्रद्धापूर्वक हनुमान गायत्री मंत्र ‘ॐ अंजनिसुताय विद्महे वायुपुत्राय धीमहि तन्नो मारुति प्रचोदयात्।‘ का जाप करना चाहिए। साथ ही साथ श्री हनुमान जी को सिंदूर का चोला चढ़ाने से भी शुभ फल प्राप्त होंगे।

सिंह

सिंह राशि के स्वामी सूर्य हैं। इस राशि के जातक को ‘ॐ हं हनुमते रुद्रात्मकाय हुं फट।‘ मंत्र का जप करना चाहिए। इस मंत्र का जाप करने से श’त्रुओं का ना’श और और सं’कटों से बचाव होता है।

यह भी पढ़ें : सभी हनुमान भक्तों को जरूर जाननी चाहिए ‘हनुमान चालीसा’ की 5 खास बातें

धनु एवं मीन

धनु और मीन राशि के स्वामी गुरु हैं। इस राशि के जातकों को परेशानियों से बचने और कार्य में सिद्धि के लिए के लिए नित्य बजरंगबाण का पाठ करना चाहिए। साथ ही साथ ‘ॐ हं हनुमते नमः।‘ दिव्य मंत्र का जप करें।

मकर और कुंभ

मकर और कुंभ राशि के जातकों के स्वामी शनि महाराज हैं। शनिदेव की कृपा पाने और जीवन में सुख-समृद्धि-सफलता पाने के लिए ‘ॐ नमो हनुमते रूद्रावताराय सर्वशत्रुसंहारणाय सर्वरोग हराय सर्ववशीकरणाय रामदूताय स्वाहा। ‘मंत्र का जप करें।

नोट: हमारा उद्देश्य किसी तरह के अंधविश्वास को बढ़ावा देना नहीं है। यह लेख लोक मान्यताओं और पाठकों की रुचि को ध्यान में रखकर लिखा गया है।