शनिदेव के 4 प्रसिद्ध मंदिर जिनके दर्शन मात्र से दूर हो जाती हैं परेशानियां

shani temples
New Delhi: न्यायप्रिय शनिदेव (Lord Shani) सभी ग्रहों में सबसे प्रभावशाली माने जाते हैं, क्योंकि वह मनुष्‍य को उसके कर्मों के अनुसार फल देते हैं। इसी वजह से श्रद्धालु उनकी पूजा में ज्यादा सावधानी बरतते हैं।

यूं तो देशभर में शनिदेव कई लाखों मंदिर हैं स्थित हैं, लेकिन कुछ ऐसे मंदिर भी मौजूद हैं जो दुनियाभर में प्रसिद्ध हैं। तो आइए जानते हैं भगवान शनि के प्रसिद्ध मंदिरों (Famous Temples of Lord Shani) के बारे में…

यह भी पढ़े: शनिवार के दिन आप भी चढ़ाते है शनिदेव को तेल तो इन 5 बातों का जरूर रखें ध्यान

शनि शिंगणापुर

देश की आर्थिक राजधानी महाराष्ट्र में स्थित शनि शिंगणापुर मंदिर सिर्फ भारत में ही नहीं बल्कि दुनियाभर में प्रसिद्ध है। लोकमान्यताओं के अनुसार इस स्थान पर शनिदेव का जन्म हुआ था। इस पवित्र स्थल की सबसे अजीब बात यह है कि यहा यहां शनि देव हैं, लेकिन मंदिर नहीं है। घर है लेकिन दरवाजा नहीं और पेड़ है लेकिन छाया नहीं है। यहां स्थित शनिदेव की मूर्ति लगभग 5.9 फीट ऊंची व 1.6 फीट चौड़ी है।

शनि मंदिर इंदौर

भगवान शनिदेव का प्राचीन और चमत्कारिक मंदिर इंदौर जूनी में स्थित है। यह दुनिया के सबसे प्राचीन मंदिरों में से एक है। यहां की मान्यता कि जूनी इंदौर में स्थापित इस मंदिर में शनि देवत खुद प्रकट हुए थे। इस मंदिर से जुड़ी कथा के अनुसार, मंदिर के स्थान पर लगभग 300 वर्ष पूर्व एक 20 फुट ऊंचा टीला था, जहां वर्तमान पुजारी के पूर्वज पंडित गोपालदास तिवारी आकर ठहरे थे।

Lord Shani
Source: Google
शनिचरा मंदिर, मुरैना

देश का एक और सबसे प्राचीन शनि मंदिर मध्य प्रदेश में ग्वालियर के नजदीकी एंती गांव में भी स्थित है। यह मंदिर रामायणयुग का माना जाता है और यहां विराजमान शनिदेव की प्रतिमा आसमान से टूटकर गिरे एक उल्कापिंड से बना है। विशेषज्ञों की मानें तो शनि पर्वत पर निर्जन वन में स्थापित होने के कारण यह स्थान विशेष प्रभावशाली है।

महाराष्ट्र के शनि शिंगणापुर मंदिर की शिला भी इसी मंदिर से ले जाई गई है। कहा जाता है कि हनुमानजी ने शनिदेव को रावण की कैद से मुक्त कराकर उन्हें मुरैना पर्वतों पर विश्राम करने के लिए छोड़ा था। मंदिर के बाहर हनुमान जी की मूर्ति भी स्थापित है।

यह भी पढ़े: भारत का इकलौता बैंक जहां पर नहीं लगता ताला, शनिदेव के चमत्कार के आगे RBI को भी बदलने पड़े नियम

शनि तीर्थ क्षेत्र, असोला, फतेहपुर बेरी

दक्षिण दिल्ली के महरौली में स्थित शनि तीर्थ क्षेत्र अपनी भव्यता के लिए प्रसिद्ध है। यहां शनिदेव की सबसे बड़ी प्रतिमा विराजमान है जो अष्टधातुओं से निर्मित है।