CAA और NRC पर बोलीं साइना नेहवाल ‘देश के लिए उपयोगी मुद्दे.. लोग जल्द समझेंगे’

Saina Nehwal
New Delhi: नागरिकता संशोधन अधिनियम (CAA), नागरिकों के राष्ट्रीय रजिस्टर (NRC) और नैशनल पॉपुलेशन रजिस्टर (NRP) को लेकर लंबे समय से एक बड़ा वर्ग विरोध में है। इसी वर्ष जनवरी के आखिरी सप्ताह में बीजेपी जॉइन करने वाली स्टार बैडमिंटन खिलाड़ी साइना नेहवाल (Saina Nehwal) का मानना है कि CAA और NRC देश के लिए उपयोगी मुद्दे हैं।

ओलिंपिक ब्रॉन्ज मेडलिस्ट साइन नेहवाल (Saina Nehwal) ने पॉलिटिक्स जॉइन करने के बाद ‘नवभारत टाइम्स’ को दिए इंटरव्यू में खेल, राजनीति, सीएए और एनआरसी सहित तमाम मुद्दों पर खुलकर अपनी बात रखी। आइए जानें किन मुद्दों पर क्या बोलीं साइना…

CAA और NRC जरूरी है.. लोग जल्द समझेंगे

पूर्व वर्ल्ड नंबर वन बैडमिंटन खिलाड़ी ने CAA, NRC और NRP को देश के लिए जरूरी बताया। साथ ही उन्होंने उम्मीद जताई की लोग इस बात को जल्द समझ जाएंगे। उन्होंने कहा, ‘ये देश के लिए जरूरी मुद्दे हैं। लोग इस बात को जल्द समझ जाएंगे।’

जब तक फिट हूं खेलती रहूंगी

राजनीति में आने के बाद खेल छोड़ने के सवाल पर उन्होंने कहा, ‘मैं खिलाड़ी हूं। खेल में मैं अपना शत-प्रतिशत प्रदर्शन कर रही हूं। राजनीति मेरे लिए नई है और जब तक मैं फिट रहूंगी खेलती रहूंगा। राजनीति का फिलहाल मुझपर कोई दबाव नहीं है।’

पीएम मोदी की वजह से राजनीति में आईं

उन्होंने खेल में ऐक्टिव होते हुए राजनीति में आने की वजह पीएम नरेंद्र मोदी को बताया। उन्होंने कहा, ‘मैं माननीय पीएम को पसंद करती हूं। उनकी वजह से ही मैंने राजनीति में आने का फैसला किया।

पूरा देश मेरा घर

हरियाणा, उत्तर प्रदेश या दिल्ली की राजनीति में आने को उन्होंने कहा, ‘पूरा देश मेरा घर है। मैं हरियाणा में पैदा हुई। यहां तेलंगाना में खेल को ऊंचाई मिली और यहां मेरी ससुराल भी है।’ बता दें कि साइना के पिता मूलरूप से उत्तर प्रदेश के बागपत जिले के बड़ौत के रहने वाले हैं। वह हिसार में नौकरी करते थे और फिर बाद में हैदराबाद शिफ्ट हो गए।

शादी के बाद क्या बदला

शादी से पहले और उसके बाद की जिंदगी पर बाद करते हुए उन्होंने बताया, ‘बहुत अधिक बदलाव नहीं हुआ, खासकर मेरी लाइफ लगभग वैसी ही है। इसकी वजह यह है कि हम दोनों एक ही अकादमी में खेलते रहे। शादी से पहले भी हम खेल की तमाम बातों पर चर्चा करते थे और अब भी करते हैं।’ बता दें कि साइना नेहवाल के पति पारुपल्ली कश्यप भी बैडमिंटन खिलाड़ी हैं और भारत के लिए कई इंटरनैशनल मेडल जीत चुके हैं। यह कपल 14 दिसंबर, 2018 को विवाह बंधन में बंधा था।

साइना के बारे में कुछ महत्वपूर्ण बातें

बैडमिंटन करियर की बात करें तो साइना ने 22 सुपर सीरीज और ग्रैंड प्रिक्स खिताब जीते हैं। इसके अलावा उन्होंने 2012 के लंदन ओलिंपिक में ब्रॉन्ज मेडल जीता था और ऐसा करने वाली देश की पहली महिला शटलर बनी थीं। इसके अलावा साइना वर्ल्ड नंबर वन भी रह चुकी हैं। वह महिला सिंगल्स रैंकिंग में 23 मई 2015 को वर्ल्ड नंबर वन बनी थीं। वह इस मुकाम तक पहुंचने वाली पहली पहली भारतीय महिला बैडमिंटन खिलाड़ी हैं।