IND vs SL 1st ODI: शॉ, ईशान के बाद धवन की तूफानी पारी, भारत की 'B-टीम' ने किया 'लंका' दहन

 
IND vs SL 1st ODI: शॉ, ईशान के बाद धवन की तूफानी पारी, भारत की 'B-टीम' ने किया 'लंका' दहन

NewzBox Desk: IND vs SL 1st ODI: पूर्व कप्तान अर्जुन रणतुंगा की नजर में भारत (Team India) की 'बी-टीम' ने श्रीलंका (India Beat Sri Lanka) की इंटरनैशनल टीम को रविवार को 3 मैचों की वनडे सीरीज (India Tour of Sri Lanka) के पहले मुकाबले में एकतरफा पानी पिला दिया। 

कोलंबो के प्रेमदासा स्टेडियम (Premdasa Stadium) में पहले भारतीय गेंदबाजों ने श्रीलंकाई बल्लेबाजों (IND vs SL 1st ODI) की जमकर खबर ली और 262 रनों पर रोक लिया। इसके बाद पृथ्वी साव (24 गेंदों में 9 चौके की मदद से 43 रन), डेब्यू स्टार ईशान किशन (42 गेंदों में 8 चौके और 2 छक्के की मदद से 59 रन) के बाद कप्तान शिखर धवन (95 गेंदों में 6 चौके और एक छक्का की मदद से नाबाद 86 रन) ने मेजबान टीम के गेंदबाजों की धज्जियां उड़ा दी। भारत ने यह मैच 36.4 ओवरों में अपने नाम कर लिया। इसके साथ ही उसने सीरीज मेंं 1-0 की बढ़त भी बना ली है।

धवन के 6000 रन पूरे

धवन इस पारी के दौरान एक दिवसीय क्रिकेट में छह हजार रन पूरे करने वाले 10वें भारतीय बल्लेबाज भी बने। लक्ष्य का पीछा करने उतरे भारत को पृथ्वी ने तूफानी शुरुआत दिलाई। पृथ्वी ने दुष्मंता चमीरा के पहले ओवर में लगातार दो चौकों से खाता खोलने के बाद इसुरू उदाना पर भी दो चौके मारे। धवन ने भी चमीरा पर चौके से खाता खोला जबकि पृथ्वी ने चौथे ओवर में उदाना पर लगातार तीन चौके जड़े।

बेजोड़ शुरुआत, 5 ओवर में बने 57 रन

भारत ने पांच ओवर में बिना विकेट खोए 57 रन बनाए जो एक दिवसीय क्रिकेट में इतने ओवरों के बाद उसका सर्वाधिक स्कोर है। इससे पहले 2020 में भारत ने ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ सिडनी में बिना विकेट खोए 53 रन बनाए थे। पृथ्वी हालांकि छठे ओवर में धनंजय डि सिल्वा की गेंद पर लॉन्ग ऑन पर फर्नांडो को कैच दे बैठे। 

उन्होंने 24 गेंद का सामना करते हुए नौ चौके मारे। ईशान ने एक दिवसीय अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट की अपनी पहली दो गेंदों पर छक्का और चौका जड़ा और फिर डिसिल्वा के अगले ओवर में लगातार तीन चौके मारे। भारत ने पावर प्ले में एक विकेट पर 91 रन बनाए।

ईशान की धांसू फिफ्टी

ईशान ने 13वें ओवर में चरिथ असालांका पर चौके के साथ टीम का स्कोर 100 रन के पार पहुंचाया। वह हालांकि इसी ओवर में भाग्यशाली रहे जब इस स्पिनर की गेंद पर बड़ा शॉट खेलने की कोशिश की और गेंद लॉन्ग ऑन बाउंड्री पर खड़े चमीरा के हाथों से टकराकर छह रन के लिए चली गई। 

ईशान ने असालांका की गेंद पर लगातार दो चौकों के साथ सिर्फ 33 गेंद में अर्धशतक पूरा किया। वह हालांकि लक्षण संदाकन की गेंद पर विकेटकीपर मिनोद भानुका को कैच देकर पवेलियन लौटे। बाएं हाथ के इस बल्लेबाज ने 42 गेंद का सामना करते हुए आठ चौके और दो छक्के मारे।

फिर छाए शिखर धवन

वानिंदु हसारंगा के अगले ओवर में धवन को मैदानी अंपायर कुमार धर्मसेना ने पगबाधा आउट दिया लेकिन डीआरएस लेने पर उन्हें अपना फैसला बदलना पड़ा। धवन ने करुणरत्ने पर लगातार दो चौके और हसारंगा की गेंद पर एक रन के साथ कप्तान के रूप में अपने पहले ही मैच में 61 गेंद में अर्धशतक पूरा किया। 

पांडे ने भी संदाकन की लगातार गेंदों पर छक्का और चौका जड़कर तेवर दिखाए। भारत के रनों का दोहरा शतक 28वें ओवर में पूरा हुआ। भारत को अंतिम 20 ओवर में जीत के लिए 53 रन की दरकार थी। डिसिल्वा ने पांडे को शनाका के हाथों कैच कराया लेकिन धवन ने सूर्यकुमार यादव (20 गेंद में नाबाद 31) के साथ मिलकर भारत को लक्ष्य तक पहुंचा दिया।

श्रीलंकाई पारी का रोमांच

इससे पहले दीपक चाहर के अलावा कुलदीप यादव और युजवेंद्र चहल की स्पिन जोड़ी के उम्दा प्रदर्शन से भारत ने श्रीलंका को नौ विकेट पर 262 रन के स्कोर पर रोक दिया। चाहर ने 37 रन देकर दो विकेट हासिल किए जबकि कुलदीप (48 रन पर दो विकेट) और चहल (52 रन पर दो विकेट) ने भी दो-दो विकेट चटकाए। क्रुणाल पंड्या ने किफायती गेंदबाजी करते हुए 10 ओवर में सिर्फ 26 रन देकर एक विकेट चटकाया।

निरंतर अंतराल पर गिरे श्रीलंका के विकेट

भारत की सटीक गेंदबाजी के सामने श्रीलंका ने नियमित अंतराल पर विकेट गंवाए और पहले छह बल्लेबाजों के दोहरे अंक में पहुंचने के बावजूद कोई अर्धशतक नहीं बना। आठवें नंबर पर बल्लेबाजी करने उतरे चमिका करुणरत्ने नाबाद 43 रन बनाकर शीर्ष स्कोरर रहे जबकि कप्तान दासुन शनाका (39), चरथ असालांका (38) और अविष्का फर्नांडो (32) ने भी उपयोगी पारियां खेली।

अच्छी शुरुआत के बाद भटके बल्लेबाज

श्रीलंका के कप्तान दासुन शनाका ने टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी करने का फैसला किया जिसके बाद फर्नांडो और मिनोद भानुका (27) ने पहले विकेट के लिए 9.1 ओवर में 49 रन जोड़कर टीम को प्रभावी शुरुआत दिलाई। फर्नांडो ने पारी के दूसरे ओवर में चाहर पर लगातार दो चौके जड़े जबकि इसी तेज गेंदबाज पर स्क्वायर लेग के ऊपर से पारी का पहला छक्का जड़ा। चाहर और भुवनेश्वर दोनों गेंद को स्विंग कराने में सफल रहे लेकिन विकेट हासिल नहीं कर सके।

चहल और कुलदीप ने दिलाई शुरुआती सफलता

कप्तान शिखर धवन ने 10वें ओवर में पहली बार स्पिन आजमाने का फैसला किया और चहल ने पहली ही गेंद पर फर्नांडो को एक्सट्रा कवर पर मनीष पांडे के हाथों कैच करा दिया। उन्होंने 35 गेंद की अपनी पारी में दो चौके और एक छक्का मारा। भानुका राजपक्षे (24) ने चहल के इसी ओवर में छक्के से खाता खोला। 

उन्होंने चहल के अगले ओवर में एक और छक्का जड़ा लेकिन 17वें ओवर में कुलदीप की गेंद पर धवन ने मिड ऑन पर पीछे की ओर दौड़ते हुए उनका कैच शानदार पकड़ा। कुलदीप के इसी ओवर में मिनोद भी स्लिप में पृथ्वी साव को आसान कैच दे बैठे। उन्होंने 44 गेंद की अपनी पारी में तीन चौके मारे।

आखिरी 10 ओवरों में बने 76 रन

श्रीलंका के 200 रन 43वें ओवर में पूरे हुए लेकिन चहल के अगले ओवर में बड़ा शॉट खेलने की कोशिश में शनाका ने लॉन्ग ऑन पर हार्दिक को आसान कैच थमा दिया। उन्होंने 50 गेंद में दो चौकों और एक छक्के की मदद से 39 रन बनाए। 

हार्दिक ने इसके बाद इसुरू उदाना (08) को पवेलियन भेजा। दुष्मंता चमीरा (13) ने 49वें ओवर में हार्दिक की लगातार गेंदों पर चौका और छक्का जड़ा जबकि करुणरत्ने ने अंतिम ओवर में भुवनेश्वर पर दो छक्के और एक चौके के साथ टीम का स्कोर 250 रन के पार पहुंचाया। श्रीलंका ने अंतिम 10 ओवर में 76 रन जोड़े।

FROM AROUND THE WEB