धोनी की यही खासियत उन्हें बनाती है महान, सेना में जाने के लिए लिया क्रिकेट से ब्रेक

dhoni indian army
New Delhi: क्रिकेट टीम के विकेटकीपर महेंद्र सिंह धोनी (Mahendra Singh Dhoni) को भारतीय सेना (Indian Army) में टेरिटोरियल आर्मी की ट्रेनिंग की इजाजत मिल गई है।

आर्मी चीफ बिपिन रावत ने धोनी को इसकी इजाजत दे दी है। अब धोनी (Mahendra Singh Dhoni) पैराशूट रेजिमेंट में दो महीने की ट्रेनिंग लेंगे। यह ट्रेनिंग कश्मीर में हो सकती है लेकिन धोनी को किसी भी ऑपरेशन का हिस्सा नहीं बनाया जाएगा।

यह भी पढ़ें : धोनी फैंस के लिए बड़ी खुशखबरी, धोनी अभी नहीं लेंगे संन्यास, मैनेजर पांडे ने किया कन्फर्म

भारतीय क्रिकेट टीम के पूर्व कप्तान और अनुभवी विकेटकीपर बल्लेबाज महेंद्र सिंह धोनी (Mahendra Singh Dhoni) ने आगामी वेस्टइंडीज दौरे से खुद को अनुपलब्ध बताते हुए दो महीने का ब्रेक लेने का फैसला किया है। धोनी ने BCCI को अपने फैसले के बारे में बता दिया है और कहा है कि अब वे आर्मी (Indian Army) में पैराशूट रेजिमेंट से जुड़ने जा रहे हैं।

यह भी पढ़ें : सियाचिन में देश की रक्षा करेंगे धोनी, संन्यास की खबरों के बीच आर्मी यूनिट में जा सकते हैं माही

सेना सूत्रों के मुताबिक, धोनी की ट्रेनिंग का ज्यादातर हिस्सा जम्मू कश्मीर में होगा। हालांकि, आर्मी अभी धोनी को किसी ऐक्टिव ऑपरेशन का हिस्सा नहीं बनाएगी। 38 वर्षीय धोनी ने पहले ही बीसीसीआई को बता दिया था कि वह टीम इंडिया के वेस्ट इंडीज दौरे के लिए उपलब्ध नहीं रहेंगे। तब भी खबरें आई थीं कि वह करीब 2 महीने रेजिमेंट के साथ रहेंगे। धोनी की जगह ऋषभ पंत को विकेटकीपर के तौर पर टीम इंडिया का हिस्सा बनाया गया है।

सेना का हिस्सा हैं धोनी

महेंद्र सिंह धोनी प्रादेशिक आर्मी (टेरिटोरियल आर्मी) का हिस्सा हैं। 2011 में उन्हें इस उपाधि से नवाजते हुए लेफ्टिनेंट कर्नल (पैराशूट रेजिमेंट) बनाया गया था। बाद में धोनी ने इसके लिए पैरा ट्रेनिंग भी ली थी। बता दें कि पैरा आर्मी के अंतर्गत फिलहाल 9 स्पेशल फोर्स, दो टेरिटोरियल आर्मी और एक राष्ट्रीय राइफल्स की बटालियन आती है।

यह भी पढ़ें : ‘बदलाव के दौर’ में टीम इंडिया को धोनी की जरुरत, ऋषभ पंत को करेंगे तैयार

आर्मी के लिए माही का प्यार किसी से छिपा नहीं है। आर्मी बैग का लिए धोनी का लगाव सभी ने देखा है। वर्ल्ड कप में आर्मी के खास लोगो ‘बलिदान बैज’ वाला धोनी के ग्लव्स भला कौन भूल सकता है, जिसपर इतना विवाद भी हुआ था।