IPL 2021: मैच टाइमिंग को लेकर BCCI सख्त, 90 मिनट में खत्म करनी होगी पारी

टीमों को भेजे गए मेल में BCCI ने कहा है, 'मैच की टाइमिंग को नियंत्रित करने के लिए हर पारी का 20वां ओवर 90 मिनट में समाप्त होना चाहिए पहले 20वां ओवर 90वें मिनट में शुरू होना चाहिए था।'

 
IPL 2021: मैच टाइमिंग को लेकर BCCI सख्त, 90 मिनट में खत्म करनी होगी पारी

New Delhi: भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (BCCI) इंडियन प्रीमियर लीग (IPL 2021) में वक्त की पाबंदी को लेकर काफी सख्त होने जा रहा है। नई प्लेइंग कंडीशन, जो फ्रैंचाइजी के साथ साझा की गई हैं, में BCCI ने साफ किया है कि 20वां ओवर 90 मिनट में खत्म हो जाना चाहिए। पहले 20वां ओवर 90वें मिनट में शुरू होना जरूरी था।

टीमों को भेजे गए मेल में BCCI ने कहा है, 'मैच की टाइमिंग को नियंत्रित करने के लिए हर पारी का 20वां ओवर 90 मिनट में समाप्त होना चाहिए पहले 20वां ओवर 90वें मिनट में शुरू होना चाहिए था।'

इस पॉइंट को स्पष्ट करते हुए BCCI ने कहा, 'IPL मैचों में हर घंटे में औसतन 14.11 ओवर फेंकने होंगे (इसमें टाइम-आउट शामिल नहीं होगा)। बिना किसी रुकावट के होने वाले मैच की एक पारी 90 मिनट में खत्म होनी चाहिए (यानी 85 मिनट खेल के और 5 मिनट टाइम-आउट के लिए) देरी या रुकावट वाले मैचों, जहां निर्धारित समय में 20 ओवर न हो पाएं इसमें हर ओवर के लिए 4 मिनट 15 सेकंड अतिरिक्त हो सकते हैं।'

BCCI ने टाइमिंग को लेकर एक कदम और आगे बढ़कर चौथे अंपायर को अधिक ताकत दी है। यह चौथे अंपायर की जिम्मेदारी होगी कि अगर बल्लेबाजी वाली टीम जानबूझकर वक्त बर्बाद करे तो वह उन्हें चेतावनी दे। 

चौथे अंपायर को यह अधिकार दिया गया है कि अगर बल्लेबाजी टीम की वजह से गेंदबाजी करने वाली टीम निर्धारित समय में 20 ओवर ने फेंक पाए तो बल्लेबाजी करने वाली टीम के समय में कटौती की जाए। चौथे अंपायर की जिम्मेदारी होगी कि बल्लेबाजी करने वाली टीम का कप्तान (अगर वह क्रीज पर नहीं है तो) और टीम मैनेजर, दोनों को इन चेतावनियों के बारे में पता हो।

FROM AROUND THE WEB