Women’s T20 WC, IND vs AUS: भारत का विजयी आगाज, पूनम के 4 विकेटों की बदौलत ऑस्ट्रेलिया को हराया

Women's T20 WC
New Delhi: महिला टी20 वर्ल्ड कप (Women’s T20 WC) में भारतीय महिला टीम (Indian Womens Team) ने जीत के साथ आगाज किया है।

उसने मैच में (Women’s T20 WC, IND vs AUS) पहले बैटिंग करते हुए निर्धारित 20 ओवरों में 4 विकेट पर 132 रन बनाए। जवाब में ऑस्ट्रेलियाई टीम एलिसा हिली के अर्धशतक के बावजूद 19.4 ओवरों में सभी विकेट खोकर 115 रन बना सकी। इस तरह वह जीत से 15 रन दूर रह गई। भारत की जीत के हीरो रही पूनम यादव। जिन्होंने 4 ओवर में 19 रन देकर 4 अहम विकेट झटके।

ऑस्ट्रेलियाई को पहला झटका 32 रनों पर पूनम यादव ने दिया। उन्होंने बेथ मूनी को 6 रनों के निजी स्कोर पर कॉड ऐंड बोल्ड आउट किया। इसके बाद मेग लेनिंग और हिली ने मिलकर टीम को 50 रनों के पार पहुंचाया

55 रनों के टीम स्कोर मेग लेनिंग को राजश्री गायकवाड़ ने तान्या भाटिया के हाथों कैच आउट कराया। वह 5 रन बनाकर आउट हुईं। इसके बाद रिचल हानिस ने 6 रन के निजी स्कोर पर पूनम यादव का शिकार बनीं।

इस दौरान एलिसा हिली (51) ने बेजोड़ हाफ सेंचुरी पूरी की। जब तक वह मैदान पर थीं तब तक भारतीय फैन्स के चेहरे पर निरासा थी, लेकिन पूनम यादव ने उन्हें अपनी गेंद पर कॉट ऐंड बोल्ट आउट करते ही टीम की वापसी करा दी।

इसके बाद एलिसा पेरी (0), जेस जोनासन (2), सदरलैंड (2) और डेलिसा (4) के विकेट जल्दी गिर गए और मेजबान टीम अच्छी शुरुआत के बावजूद जीत नहीं सकी।

भारत की पारी का रोमांच

इससे पहले ऑस्ट्रेलिया ने टॉस जीतकर पहले गेंदबाजी का फैसला किया। भारत की ओर से शेफाली वर्मा और स्मृति मंधाना ने तेज शुरुआत की। दोनों ने चार ओवर में 40 रनों की साझेदारी की। भारत की ओपनिंग जोड़ी ने मैच के पहले 4 ओवर में 40 रन बना लिए लेकिन 5वां ओवर फेंकने आईं जेस जोनासन ने अपनी पहली ही गेंद पर स्मृति मंधाना को एलबीडब्ल्यू आउट कर दिया। कुछ देर बाद तेजी से रन बना रहीं युवा बल्लेबाज शैफाली वर्मा (29) एलिस पेरी की गेंद पर कैच आउट हो गईं। शेफाली ने 15 गेंद में 5 चौके और 1 छक्के की मदद से 29 रन बनाए।

ऑस्ट्रेलिया ने टॉस जीतकर पहले गेंदबाजी का फैसला किया। भारत की ओर से शेफाली वर्मा और स्मृति मंधाना ने तेज शुरुआत की। दोनों ने चार ओवर में 40 रनों की साझेदारी की।

भारतीय टीम को इसके बाद लगातार झटके लगे और टीम का स्कोर तीन विकेट पर 47 रन हो गया। इसके बाद जैमिमा रोडरिक्स और दीप्ति शर्मा ने मिलकर भारतीय पारी को संवारने का काम किया। दोनों ने चौथे विकेट के लिए 53 रन जोड़े। रोडरिक्स 26 रन बनाकर डेलिसा किमिन्स की गेंद पर LBW हुईं। जब वह आउट हुईं तो भारत का स्कोर 16 ओवर में 100 रन था।

शर्मा ने बनाए नाबाद 49 रन

दूसरे छोर पर दीप्ति ने रनगति बनाए रखने का प्रयास किया। उन्होंने 46 गेंद पर तीन चौकों की मदद से 49 रन बनाए। वहीं वेदा कृष्णामूर्ति ने 11 गेंद पर नाबाद नौ रन बनाए। ऑस्ट्रेलिया के लिए जेस जोनासन ने दो और डेलिसा व एलिसे पैरी ने एक-एक विकेट लिया।

जल्दी-जल्दी दो विकेट गंवाने के बाद टीम इंडिया को जरूरत थी कि वह यहां टिक कर रन बनाए। लेकिन कप्तान हरमनप्रीत कौर शायद यह समझ नहीं पाईं और उन्होंने अपनी 5वीं ही गेंद पर क्रीज से बाहर निकलकर शॉट खेलना चाहा। जोनासन की इस गेंद पर विकेटकीपर हीली ने हरमन की गिल्लियां उड़ाने में देर नहीं लगाई और 7 रन के भीतर यह टीम इंडिया को तीसरा झटका था। 4 ओवर में बिना विकेट गंवाए 40 रन बनाने वाली टीम इंडिया अब दबाव में आ चुकी थी।

अब जेमिमा रोड्रिग्स और कप्तान हरमनप्रीत कौर क्रीज पर हैं। इस वर्ल्ड कप की मेजबानी कर रहा ऑस्ट्रेलिया इस टूर्नमेंट में अपने खिताब को बचाने के लिए उतरा है, जबकि टीम इंडिया को अभी भी अपने पहले आईसीसी खिताब का इंतजार है। हरमनप्रीत कौर की कप्तानी में इस टर्नमेंट में उतरने वाली टीम इंडिया युवा खिलाड़ियों से सजी है और इस बार इतिहास रचने की पुरजोर कोशिश करेगी।

टॉस के बाद कप्तान हरमनप्रीत कौर ने कहा, ‘हम भी यहां पहले बोलिंग करना चाहते थे लेकिन टॉस आपके हाथ में नहीं होता। हम बस अच्छी क्रिकेट खेलना चाहते हैं। हम यहां तीन स्पिनर्स के साथ उतरे हैं। हमें भारत के सभी सपॉर्टर्स से पुरजोर समर्थन मिल रहा है।’

ऑस्ट्रेलिया की कप्तान मेग लेनिंग ने टॉस जीतकर कहा, ‘हमें नहीं मालूम की कंडिशंस कैसी होंगी इसलिए हम पहले बोलिंग करना चाहेंगे। मोली स्टर्नो को सीधे टीम में शामिल किया गया है तो उम्मीद करती हूं कि वह अच्छा कर सकें। मौसम को लेकर भी कुछ हलचल है लेकिन यह ज्यादा बड़ी बात नहीं है।’

इस टूर्नमेंट में भारतीय खिलाड़ियों की औसत उम्र 23 वर्ष है। उसके पास जेमिमा रोड्रिगेज, शेफाली वर्मा, ऋचा घोष और राधा यादव के रूप में ऐसी खिलाड़ी हैं, जिनकी उम्र 19 वर्ष या इससे कम हैं। भारतीय टीम की टी20 रैंकिंग नंबर 4 है और इससे पहले वह टी20 टूर्नमेंट में तीन बार (2009, 2010 और 2018 में) सेमीफाइनल तक पहुंची है। लेकिन अब तक टीम इंडिया क्रिकेट के इस सबसे छोटे फॉर्मेट में फाइनल में कदम नहीं रखा है।