हिंदू महिला के शव दफनाने जा रहा था ईसाई परिवार, गिरिराज ने हाथ जोड़कर की दाह संस्‍कार की विनती

Giriraj Singh
New Delhi: केंद्रीय मंत्री और बेगूसराय से बीजेपी सांसद गिरिराज सिंह (Giriraj Singh) ने अपने संसदीय क्षेत्र में हिंदू से ईसाई बने परिवार की महिला का अंतिम संस्‍कार (Hindu Women Funeral) हिंदू रीति-रिवाज से कराकर एक विवाद का शांतिपूर्ण तरीके से समाधान कराया।

इस दौरान गिर‍िराज सिंह (Giriraj Singh) ने हाथ जोड़कर महिला के परिवार से अपील की कि वे हिंदू रही महिला का दाह संस्‍कार (Hindu Women Funeral) करें। केंद्रीय मंत्री की अपील को परिवार ने मान लिया और महिला का सिमरिया घाट पर दाह संस्‍कार किया गया।

इस मौके पर मंत्री गिरिराज सिंह ने कहा कि कोई लोभ देकर धर्म का परिवर्तन न करे। उन्‍होंने कहा, ‘कोई लोभ देकर किसी का धर्म परिवर्तन न करे। मैं हाथ जोड़कर विनती करता हूं कि धर्म से बड़ा कोई चीज नहीं होता है। किसी धर्म में चचेरे भाई-बहन में शादी होता है। हमारे धर्म में नहीं होता है… यही मेरा धर्म है। आदमी हम भी और वे भी हैं। हम अपने धर्म की रक्षा करें। मैं आप लोगों से अपील करता हूं कि धर्म से बड़ा कुछ नहीं है।’

दरअसल, एक हिंदू महिला के शव को उसके परिवार वाले ईसाई धर्म के रीति रिवाज मुताबिक दफनाने ले जा रहे थे। इसकी खबर बजरंग दल के कार्यकर्ताओं को लग गई। बजरंग दल के कार्यकर्ता मौके पर पहुंच गए और महिला को दफनाने का विरोध किया। बजरंग दल के कार्यकर्ता महिला के परिवार वालों को गिर‍िराज सिंह के पास ले गए।

परिवार वालों से हाथ जोड़कर विनती

गिरिराज सिंह ने महिला के परिवार वालों से हाथ जोड़कर विनती की कि वे हिंदू धर्म के अनुसार शव को सिमरिया गंगा घाट पर दाह संस्कार करें। बताया जा रहा है कि गिरिराज सिंह ने पीड़ित परिवार वालों को दाह संस्कार के लिए आर्थिक मदद भी की। गिर‍िराज सिंह के समझाने पर महिला के परिवार वाले मान गए और शव का दाह संस्‍कार किया गया।

गिरिराज सिंह ने कहा कि कुछ ऐसे लोग हैं जो हिंदुओं को बरगला कर उनका धर्म परिवर्तन करवाते हैं। उन्‍होंने कहा कि कोई लोभ देकर किसी का धर्म परिवर्तन न करे। बताया जा रहा है कि महिला हिंदू थी लेकिन उसके बेटे ने धर्म परिवर्तन करके ईसाई धर्म अपना लिया है। पूरी घटना के दौरान बड़ी संख्‍या में लोग वहां पर जुट गए।