मोदी सरकार ने हटाई गांधी परिवार की SPG सुरक्षा, अब दी जाएगी जेड प्‍लस सुरक्षा

SPG Security
New Delhi: केंद्र सरकार (Central Government) ने सोनिया गांधी (Sonia gandhi), राहुल गांधी (Rahul gandhi) और प्रियंका गांधी (Priyanka gandhi) की एसपीजी सुरक्षा (SPG Security) हटाने का फैसला लिया है।

हालांकि, गांधी परिवार (Gandhi Family) की सुरक्षा से किसी तरह का समझौता नहीं किया जाएगा। गांधी परिवार को अभी भी जेड प्‍लस (Z Plus) सुरक्षा दी जाएगी। सरकारी सूत्रों के मुताबिक, केंद्र सरकार ने सभी एजेंसियों की ओर से मिले थ्रेट इनपुट (Threat Input) का आकलन करने के बाद यह फैसला लिया। बता दें कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM narendra Modi) के अलावा कांग्रेस की कार्यकारी अध्‍यक्ष सोनिया गांधी, पूर्व अध्‍यक्ष राहुल गांधी और महासचिव प्रियंका गांधी को एसपीजी सुरक्षा (SPG Security) दी जाती है।

खतरे का आकलन करने के बाद एसपीजी सुरक्षा हटाने का लिया फैसला

केंद्र सरकार ने खतरे का आकलन करने के बाद पाया कि गांधी परिवार को किसी तरह का सीधा खतरा नहीं है। राजीव गांधी की 1991 में हत्‍या के बाद फैसला किया गया कि पूर्व प्रधानमंत्रियों को भी एसपीजी सुरक्षा दी जाएगी।

हालांकि, पूर्व प्रधानमंत्रियों के सुरक्षा इंतजामों की समय-समय पर समीक्षा की जामी है और जरूरत के मुताबिक उसे घटाया जाता है। इसी साल अगस्‍त में पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह की एसपीजी सुरक्षा भी हटा ली गई थी। एसपीजी सुरक्षा हटाने के साथ ही प्रियंका गांधी को नोटिस भेजकर उनके बंगले को लेकर भी सवाल पूछा गया था। इस पर उन्‍होंने कहा था कि उन्‍हें बंगला छोड़ने में कोई दिक्‍कत नहीं है।

‘बीजेपी हर संवैधनिक संस्‍था और व्‍यवस्‍था को कमतर कर रही है’

गांधी परिवार कीएसपीजी सुरक्षा हटाऐ जाने को लेकर डी. राजा ने कहा कि सरकारें आती जाती रहती हैं, लेकिन लोकतंत्र को जिंदा रहना चाहिए। गृह मंत्रालय को फैसले लेते समय उसके नफा-नुकसान का ध्‍यान रखना चाहिए। बीजेपी सत्‍ता में आने के बाद हर संवैधानिक संस्‍था और व्‍यवस्‍था को कमतर करने की कोशिश कर रही है। इससे बीजेपी की राजनीतिक मंशा स्‍पष्‍ट हो रही है। बता दें कि केंद्र सरकार ने पूर्व पीएम मनमोहन सिंह की एसपीजी सुरक्षा हटाकर उन्‍हें भी जेड प्‍लस सुरक्षा उपलब्‍ध कराई है।

एसपीजी सुरक्षा और जेड प्‍लस सुरक्षा में क्‍या है अंतर

भारत में प्रधानमंत्री और गांधी परिवार को एसपीजी की सुरक्षा प्राप्त है। यह सुरक्षा का सबसे ऊंचा स्तर होता है। इसमें तैनात कमांडो के पास अत्याधुनिक हथियार और संचार उपकरण होते हैं। स्पेशल प्रोटक्शन ग्रुप (SPG) की सुरक्षा के बाद जेड प्लस भारत की सर्वोच्च सुरक्षा श्रेणी है।

इस श्रेणी में विशिष्ट व्यक्ति की सुरक्षा में 36 जवान लगे होते हैं। इसमें 10 से ज्यादा एनएसजी कमांडो के साथ दिल्ली पुलिस, आईटीबीपी या सीआरपीएफ के कमांडो और राज्य के पुलिसकर्मी शामिल होते हैं। सुरक्षा में लगे एनएसजी कमांडो के पास एमपी 5 मशीनगन के साथ आधुनिक संचार उपकरण भी होता है।