CM अरविंद केजरीवाल के खिलाफ चुनाव लड़ेंगे 9 रुपये वाले बाबा, 16 चुनाव लड़ चुके हैं महाराज

Delhi Election 2020
New Delhi: नई दिल्ली विधानसभा (Delhi Election 2020) सीट से मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल को चुनावी राजनीति के अनुभवी टक्कर देने की तैयारी में हैं। श्री वेंकटेश्वर महा स्वामीजी को लोग दीपक के भी नाम से जानते हैं।

उन्होंने फैसला किया है कि इस बार दिल्ली के सीएम को चुनावी मैदान (Delhi Election 2020) में टक्कर देंगे। दीपक ने अब तक कुल 16 चुनाव लड़े हैं जिनमें कर्नाटक, गोवा, महाराष्ट्र और उत्तर प्रदेश शामिल हैं।

तीन राजनीतिक पार्टियों से नामांकन

दीपक को पसंद है कि लोग उनके लिए स्वामीजी का ही प्रयोग करें। मंगलवार को मुख्यमंत्री केजरीवाल के खिलाफ याचिका दाखिल करनेवालों में स्वामीजी भी शामिल हैं। दिलचस्प बात है कि स्वामीजी ने कुल तीन नॉमिनेशन फॉर्म भरे हैं जिनमें अलग-अलग पार्टियों बीजेपी, एनसीपी और हिंदुस्तान जनता पार्टी से नामांकन भरा गया है। उन्होंने जमानत के तौर पर 10 हजार रुपये सिक्यॉरिटी भी जमा कराए हैं।

स्वीमीजी को उम्मीद, बीजेपी नेतृत्व उनसे प्रभावित होगा

स्वामीजी से जब पूछा गया कि क्या वह बीजेपी के आधिकारिक उम्मीदवार हैं तो उन्होंने कहा कि उन्हें उम्मीद है कि उन पर बीजेपी की नजर होगी। उन्होंने कहा कि भगवा पार्टी समाज में अच्छा काम कर रहे लोगों पर नजर रखती है। मुझे उम्मीद है कि समाज में किए मेरे काम से प्रभावित होकर मुझे अपना आधिकारिक उम्मीदवार बना सकते हैं।

स्वामीजी को एनसीपी से भी लगी है उम्मीद

तीन पार्टियों से नामांकन भरने पर उन्होंने कहा, ‘मैंने अब तक समाज की सेवा निस्वार्थ भाव से की है और अब मैं दिल्ली में काम करना चाहता हूं। अगर उन्हें (बीजेपी) लगता है कि मैं सही उम्मीदवार हो सकता हूं तो मुझे भरोसा है कि पार्टी मेरा समर्थन करेगी।’ इसके साथ ही उन्होंने कहा कि अगर बीजेपी मुझे टिकट नहीं देती है तब भी दो और पार्टियों में से कोई न कोई मुझे टिकट जरूर देगी।

दिल्ली में रहने का स्वामीजी के पास नहीं है ठिकाना

स्वामी जी फिलहाल द्वारका में अपने एक दोस्त के साथ रह रहे हैं। उन्होंने बताया कि दिल्ली में उनके पास रहने के लिए कोई स्थायी ठिकाना नहीं है और वह अपने एक दोस्त के साथ रह रहे हैं। उनका दोस्त कंस्ट्रक्शन मजदूर है। अपने ऐफिडेविट में उन्होंने जानकारी दी है कि उनके पास सिर्फ 9 रुपये कैश में हैं। उन्होंने किसी शरद पवार (एनसीपी नेता नहीं कोई और) नाम के दोस्त से 99,999 रुपये उधार भी ले रखा है।