गाजियाबाद में खौफनाक मंजर देख पुलिस के भी रोंगटे खड़े! बेड पर लाशें, दीवार पर 500 के नोट

Indirapuram Suicide Case
New Delhi: गाजियाबाद के इंदिरापुरम (Indirapuram Suicide Case) में कृष्णा अप्रा सफायर सोसायटी। फ्लैट नंबर A-806। कल तक इस फ्लैट में सबकुछ सामान्य था, लेकिन मंगलवार सुबह फ्लैट के अंदर दिल कंपाने वाला सीन था। बिस्तर पर 18 साल की बेटी और 13 साल का बेटा मृत पड़े थे। दीवार पर चिपके 500 के नोट हैरानी पैदा कर रहे थे।

इंदिरापुरम (Indirapuram Suicide Case) में यह वही फ्लैट है, जहां मंगलवार तड़के एक कपल और एक अन्य महिला ने खुदकुशी की। सबसे चौंकाने वाली बात यह थी कि फ्लैट में परिवार का पालतू खरगोश भी मृत पड़ा था। पुलिस इस मर्डर और सूइसाइड केस से हैरान है।

घर की दीवारों पर चिपकाए बाउंस चेक

पुलिस जब फ्लैट में घुसी तो हैरान रह गई। फ्लैट की दीवारों पर सूइसाइड नोट के साथ ही 500 रुपये के नोट भी चिपकाए गए थे। इसके साथ भी दीवारों पर कुछ बाउंस चेक भी चिपके हुए मिले। घर के पालतू खरगोश की भी हत्या की गई। पुलिस के मुताबिक सूइसाइड नोट में दंपती ने राकेश वर्मा नाम के एक शख्स पर आरोप लगाया है। बताया जा रहा है कि राकेश वर्मा पत्नी की बहन का पति है। पुलिस फिलहाल सबूतों की जांच कर रही है।

मृतक के भाई का आरोप, 2 करोड़ के लेनदेन के कारण खुदकुशी

मृतक गुलशन के भाई का आरोप है कि 2 करोड़ के लेनदेन में हुई गड़बड़ी के कारण उनके भाई ने परिवार के साथ खुदकुशी। साइसाइड नोट में मौत का जिम्मेदार किसी राकेश वर्मा नाम के शख्स को बताया गया है। सूइसाइड नोट में लिखा है कि परिवार के पांचों सदस्यों का अंतिम संस्कार एक ही जगह पर किया जाना चाहिए। जांच के लिए पहुंचे एसएसपी सुधीर कुमार सिंह ने बताया कि घर से सूइसाइड नोट बरामद हुआ है और फिलहाल परिवार को सूचना दी गई है। हम अभी जांच कर रहे हैं। मृतक बेटी कृतिका की उम्र 18 साल है और बेटे की उम्र 13 साल बताई जा रही है।

दीवार पर लिखा- ये हमारी अंतिम क्रिया के पैसे

फ्लैट से मिला सूइसाइड नोट सबको सकते में डाल देनेवाला था। इसमें लिखा था कि जो 500 रुपये नोट के साथ हैं वह उन सब के अंतिम क्रिया-कर्म के हैं। आगे लिखा है कि उन सब का अंतिम संस्कार एक साथ किया जाए यह उनकी अंतिम इच्छा है। सूइसाइड नोट में राकेश वर्मा नाम के शख्स पर आरोप लगाए गए हैं। यह उनका रिश्तेदार है।

पहले बेटे का गला घोंटा फिर चाकू से गला रेता

जानकारी के मुताबिक, आत्महत्या से पहले दंपती ने अपने सोते हुए 14 साल के बेटे का गला घोंटा और फिर उसका गला चाकू से रेत दिया। इसके बाद बेटी कृतिका की भी हत्या कर दी गई। बेटा रितिक डीएवी स्कूल में 9वीं क्लास में पढ़ता था। वहीं लड़की कृतिका (18 साल) फैशल डिजाइनिंग का कोर्स कर रही थी। कृतिका के दोस्तों ने बताया कि रात में उसका और उनकी मां का फोन बंद था। सुबह पुलिस ने फोन उठाया तो घटना की जानकारी मिली। यह भी पता लगा है कि गुलशन ने रविवार को ही परिवार के साथ अपार्टमेंट के सभी सिक्यॉरिटी गार्ड्स (करीब 25) को कंबल बांटे थे।

आर्थिक तंगी के कारण उठाया यह कदम

मृतक का नाम गुलशन है और मरनेवाली दोनों महिलाओं का नाम गुलशन परवीन और संजना है। दोनों को ही गुलशन की पत्नियां बताया जा रहा है। मरने वाले दोनों बच्चों के नाम कृतिका और रितिक हैं। माना जा रहा है कि इन लोगों ने यह कदम आर्थिक तंगी की वजह से उठाया है।