दूसरी शादी करना चाहता था IOCL मैनेजर, इसलिए भाड़े के हत्यारों को दे दी पत्नी और बेटे की सुपारी

IOCL manager Rohit Tiwari
New Delhi: राजस्थान में जयपुर पुलिस ने दावा किया है कि एक महिला और उसके 2 साल के बच्चे की हुई हत्या का मामला सुलझ गया है। पुलिस ने कहा कि इंडियन ऑयल कॉर्पोरेट लिमिटेड के मैनेजर रोहित तिवारी (IOCL manager Rohit Tiwari) ने अपनी पत्नी श्वेता तिवारी और बेटे श्रीयम की हत्या करवा दी, क्योंकि वह दोबारा शादी कर नई जिंदगी शुरू करना चाहता था। पुलिस ने श्रीयम का शव उसी सोसायटी के पीछे सुनसान स्थान से बरामद कर लिया, जिसमें यह परिवार रहता था।

पुलिस आयुक्त आनंद श्रीवास्तव ने कहा कि पूछताछ के बाद आरोपी रोहित ने (IOCL manager Rohit Tiwari) शुक्रवार को अपना अपराध स्वीकार किया।

श्रीवास्तव ने कहा, ‘उसने स्वीकार किया कि उसका उसकी पत्नी से झगड़ा होता रहता था और इसलिए उसने अपनी पत्नी की हत्या कराने के लिए एक भाड़े के हत्यारे से बात करने की योजना बनाई। 7 जनवरी को मां-बेटे की हत्या कर दी गई थी। मामले में पुलिस को चकमा देने के लिए बच्चे के अपहरण और फिरौती का रूप देने की कोशिश की गई। वह हत्यारा भी शुक्रवार को गिरफ्तार हो गया।’

घर से गायब मिला था बच्चा

उल्लेखनीय है कि मंगलवार को प्रतापनगर थाना क्षेत्र के यूनिक टावर अपार्टमेंट के एक घर में श्वेता तिवाड़ी (30) की हत्या कर दी थी और उसका बच्चा घर से गायब मिला। अगले दिन बुधवार को बच्चे का शव अपार्टमेंट भवन के पास मिला। इस बारे में महिला के पति रोहित तिवारी ने ही मामला दर्ज करवाया था। हत्यारा महिला का मोबाइल फोन अपने साथ ले गया और उसी मोबाइल फोन से उन्होंने मृतका के पति को फोन कर फिरौती की 30 लाख रूपये की रकम की मांग की थी।

श्रीवास्तव ने कहा कि पुलिस की जांच में यह सामने आया कि श्वेता और रोहित का वैवाहिक जीवन सुखद नहीं रहा तथा दोनों के बीच प्राय: झगड़ा होता रहता था। 5 जनवरी को भी रोहित ने श्वेता के साथ मारपीट की थी।

पुलिस के अनुसार रोहित ने पत्नी व बच्चे से छुटकारा पाकर नई जिंदगी शुरू करने के लिए अपने ही दोस्त हरि सिंह के साले सौरभ को ‘कॉन्ट्रैक्ट किलिंग’ का काम सौंपा। पुलिस को उलझाए रखने के लिए बच्चे के अपहरण व फिरौती की कहानी रची गई। रोहित ने इस काम के लिए सौरभ को कुछ पैसे भी दिए। इस मामले में पुलिस का एक दल हरि सिंह को लाने भेजा गया है और उससे भी पूछताछ की जाएगी।

IVF के जरिए हुआ था बेटे का जन्म

इस बीच श्वेता के परिजनों ने स्वीकार किया कि रोहित उनकी बेटी को शारीरिक और मानसिक तौर पर प्रताड़ित करता था। पुलिस ने बताया कि रोहित और श्वेता की शादी 2011 में हुई थी। 2017 में आईवीएफ के जरिए उनके बेटे का जन्म हुआ था। आगे की जांच जारी है।